गुरुवार, 29 अप्रैल 2010

विदेशमंत्री को तो इस्तीफा देना चाहिए

नेता बिकाऊ , दल बिकाऊ और अफसर बिकाऊ।

इस्लामाबाद में भारत की उच्चायुक्त माधुरी गुप्ता को पाकिस्तान के लिए जासूसी करते हुए पाया गया , सरकार ने ग्रिफ्तार कर पूझताझ कर रही हे । वह आई ऍफ़ एस राजनयिक थी । देस के लिए ये गंभीर बात हे । मगर इससे बड़े बड़े कारनामे तो देस में रोज रोज हो रहे हें । उन्हें देस के नेता और राजनेतिक दल कर रहे हें । बड़े स्तर पर देस से सरेआम धोका जिस शासन व्यवस्था में हो वह अपने नीचे ईमानदारी केसे रख सकती हे । सरे कुए में ही भ्रस्टाचार घुला हुआ हे । नेतिकता के नाते तो , कम से कम विदेश मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए । यह घटना सामन्य नही हे , बहुत गंभीर हे , शत्रु रास्ट्र को सारी जानकारी देना बहुत बड़ा गुनाह हे । यह बहुत बड़ा नेट वर्क हे , कई बड़ी बड़ी हस्तिया कमा रहीं हें ।

हमारे देस में तो संसद तक में विदेसी जा सकते हें , संसद , मंत्री और सर्वेसर्वा बन सकते हें । जो दुनिया में नही हो सकता वह हमारे यहं संभव हे । जिस सावचेतना की जरूरत संविधान को रखनी चाहिए थी वह उनने भी नही रखी । अभी भी जरूरी बदलाव नही हें ।

जासूसी के कारन न जाने किन किन की जानें गई होंगी , कितना बड़ा नुकशान हुआ होगा । सम्पत्ति जब्त हो , कठोर दंड दिया जाए ।

अरविन्द सीसोदिया

राधा क्रिशन मंदिर रोड ,

ददवारा , वार्ड ५९ ,

कोटा २ , राजस्थान ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें