बुधवार, 4 अगस्त 2010

टेस्ट क्रिकेट के नए शिखर पर भारत


देश का गोरव सचिन
- अरविन्द सिसोदिया
   रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बना कर देश का नाम रोशन कर रहे,कीर्तिमानों के बेताज बादशाह सचिन तेंदुलकर तीन अगस्त 2010 को पी सारा ओवल में श्रीलंका के खिलाफ तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट में उतरने के साथ ही एक नया विश्वरिकॉर्ड बना दिया है, लगभग 133 साल पहले ऑस्ट्रेलिया के जैक ब्लैकहम सहित 22 क्रिकेटरों ने शुरुआती टेस्ट मैच में उतरकर सर्वाधिक टेस्ट खेलने के जिस रिकॉर्ड की शुरुआत की थी। सचिन तेंदुलकर ने मंगलवार को कोलंबो में श्रीलंका के खिलाफ तीसरे मैच में उसे 169 टेस्ट के नए मुकाम तक पहुंचा दिया। रिकॉर्डो के बादशाह तेंदुलकर अब सबसे अधिक टेस्ट मैच खेलने वाले क्रिकेटर बन गए हैं। सचिन से पहले दस क्रिकेटरों के नाम पर यह रिकॉर्ड दर्ज रहा है, जिनमें एक अन्य भारतीय सुनील गावस्कर भी शामिल हैं। विभिन्न खिलाडि़यों के नाम पर रहे इस रिकॉर्ड की कहानी भी बड़ी रोचक है, क्योंकि एक जमाने में टेस्ट मैच बहुत कम हुआ करते थे और किसी को उम्मीद नहीं थी कि कभी कोई क्रिकेटर 169 मैच भी खेल पाएगा
     अनुभवी बल्लेबाज सचिन ने  अपने जीवन में 150 से ज्यादा की  19वीं पारी खेलकर सर डॉन ब्रैडमैन के 18 बार यह कारनामा करने को पीछे छोड़ दिया  और वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा के विश्वरिकॉर्ड की बराबरी की  हुई है . आगे निकलने के लिए सिर्फ एक बार १५० प्लस करना है .
    अपने हर मैच के साथ लगभग कोई न कोई रिकॉर्ड बनाते जा रहे सचिन के लिए पी सारा ओवल का मैच भी काफी मायने है .  भारत के 1932 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट खेलना शुरू करने के 78 वर्ष बाद जाकर सर्वाधिक टेस्ट खेलने का विश्व रिकॉर्ड अब सचिन नाम आ जाएगा। वह अभी अपने सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में हैं। ऎसा लगता है कि क्रिकेट का यह जीनियस 50 साल की उम्र तक खेल सकता है। वॉ टेस्ट मैचो से संन्यास ले चुके है और उसके बाद आस्ट्रेलिया के एलन बार्डर (156) इस क्रम में तीसरे स्थान पर है। मौजूदा खिलाडियों में आस्ट्रेलियाई  टीम के कप्तान रिकी पोटिंग 145 टेस्ट मैचों के साथ इस सूची में चौथे स्थान पर है जबकि भारत के राहुल द्रविड 140 टेस्ट मैचों के साथ पांचवे क्रम पर है।   फिलहाल पोंटिंग, बाउचर और कैलिस काफी टेस्ट क्रिकेट खेल रहे हैं। यह तीनों ही उसके करीब जा सकते हैं, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की चयन समिती का यह दायित्व होगा कि वह धोनी की ना नुकुर को परे रख कर , सचिन को आब हर मैच में हिस्सा दिलाना सुनिश्चित करें . अगले साल वर्ल्ड कप की मेजबानी भारत, श्रीलंका, बांग्लादेश संयुक्त रूप से कर रहे है। तेंदुलकर  वह वर्ल्ड कप के फाइनल में खेलें और रिटायरमेंट से पहले वह अपनी टीम के लिए वर्ल्ड कप जीतें।
- राधाकृष्ण मन्दिर रोड , डडवाडा , कोटा २ , राजस्थान  .

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें