बुधवार, 11 अगस्त 2010

टीम इंडिया में सचिन होना चाहिए था

फॉर्म में चल रहे खिलाडियों को
बाहर बिठा कर हारना ठीक नही ....!!
- अरविन्द सीसोदिया  
एक हार का मतलव सीरिज हारना नही होता , क्रिकेट में अनिश्चितता  ही तो लोकप्रियता का मुख्यकारण है. मगर हम प्रयोग का काम या परखने का काम दूसरे देश से मैच खेलते वक्त ही क्यों करते हैं यह समझ से बाहर की बात है . इस टीम में सबसे  कम समय अब  सचिन के पास है , उसे आखिर रिटायर होना ही होगा  , वह बहुत ही अच्छा खेल रहा है ,उपयोगी ही नही बहुत ही उपयोगी खेल रहे हैं ,  उसे टीम से बाहर रखना ठीक नही था . वह तीन चार मैच के बाद विश्व का सबसे ज्यादा वन डे खेलने वाला खिलाड़ी बन जाता , मगर आपने जान बुझ कर , उसे इस उपलब्धि से अभी दूर किया यह ठीक नही था ,
   सचिन ने आईपीएल-3 में सर्वाधिक 618 रन बनाए और किंग्स इलेवन पंजाब के मार्श का 2008 के पहले आईपीएल में 616 रन बनाने के पिछले रिकार्ड को ध्वस्त कर दिया। इसके बाद वन डे में पहला दोहरा शतक बनाया . हाल में श्री लंका में दोहरे शतक सहित भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाये और आपने उसे बाहर बिठा दिया ...? टीम इंडिया  में सचिन होना चाहिए था , फॉर्म में चल रहे खिलाडियों को बाहर बिठा कर हारना ठीक नही ....!!    
  दाम्बुला के मैदान पर एशिया कप जीतने और हाल में श्रीलंका से टेस्ट सीरीज ड्रा कराकर सातवें आसमान पर उड़ रहे महेंद्र सिंह धोनी के धुरंधरों को न्यूजीलैंड ने अपने आलराउंड खेल से त्रिकोणीय एकदिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट के पहले मैच में 200 रन के विशाल अंतर से पराजित कर जमीन सूंघा दी। भारत को 29.3 ओवर में 88 रन पर समेट कर शर्मनाक हार झेलने के लिए मजबूर कर दिया।

  न्यूजीलैंड के हाथों 200 रन की करारी हार का खामियाजा टीम इंडिया को आईसीसी वनडे टीम रैंकिंग में नुकसान के साथ भरना पड़ा। भारत ताजा जारी रैंकिंग में तीसरे स्थान पर फिसल गया। साथ ही न्यूजीलैंड भारत को पछाड़कर दूसरे स्थान पर आ गया।
   भारत की अपने वनडे इतिहास में रनों के लिहाज से यह चौथी सबसे बड़ी पराजय है। भारत इससे पहले अक्टूबर 2000 में श्रीलंका से 245 रन, फरवरी 2004 में ऑस्ट्रेलिया से 208 रन और जून 1975 में इंग्लैंड में 202 रन से पराजय झेल चुका है।


उसका वनडे पांचवां सबसे कम स्कोर है। भारत इससे पहले श्रीलंका के खिलाफ 54 रन पर, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 63 रन पर, श्रीलंका के खिलाफ 78 रन पर और पाकिस्तान के खिलाफ 71रन पर लुढ़क चुका है।
  देश के नाम की दुर्गति करने का किसी को अधिकार नही है . बुरा  ना मानें प्रयोग बंद  करें ,फॉर्म में चल रहे खिलाडियों को ही मोका दें.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें