गुरुवार, 2 दिसंबर 2010

राजीव दीक्षित :ह्रदय के अन्तमः तल से हार्दिक श्रधान्जली...!

ह्रदय के अन्तमः तल से हार्दिक श्रधान्जली ...! 
- अरविन्द सीसोदिया
राजीव दीक्षित जी, का हमारे बीच से जाना एक अपूर्णीय क्षति हैं. एक व्यक्ति जिसने पूरा जीवन देश सेवा में लगा दिया बिना किसी निजी स्वार्थ के. चाहे वो भारत स्वाभिमान आन्दोलन हो या आज़ादी बचाओ आन्दोलन हो. सहसा कानो को विश्वास ही नहीं हुआ... ईश्वर अच्छे, सच्चे लोगो का जीवन इतना लघु और कठोर क्यूँ बनाता हैं. मेरी आत्मा दुखी हैं इस घटना से .....!
     मुझे आश्चर्य इस बात पर है कि मीडिया ने इतने  अच्छे राष्ट्रवादी चरित्र के निधन की बात को कम महत्व दिया..! मेंने उनका सानिध्य प्राप्त किया है ... वे आज के युग में पश्चिमी पाखंड को सर्वाधिक समझने वाले थे ..! 
भारत स्वाभिमान के राष्ट्रीय प्रबक्ता एवं सचिव श्री राजीव दीक्षित जी ने भारत स्वाभिमान यात्रा के दौरान माँ भारती की सेवा करते हुए सर्वोच्च बलिदान दे दिया

8 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सारी बाते अन्‍य पोस्‍टों पर कह चुकी हूँ बस राजीव जी को विनम्र श्रद्धांजलि।

    उत्तर देंहटाएं
  2. मैंने कुछ दिनों पहले ही इनकी आवाज़ सुनी थी जिसमें नेहरु परिवार की सच्चाई बताने की कोशिश की थी.. मैं तो बहुत ही प्रभावित हुआ...
    कुछ भी पता नहीं चला इनके निधन के बारे में..

    अफ़सोस कि मीडिया ने भी इस बारे में कुछ भी नहीं लिखा, कहा..

    उत्तर देंहटाएं
  3. arvind ji bhayi kyaa kmaaml ka likha he mubark ho bhayai kbhi to mil liyaa kro kotaa se or ktaa valaon se khaaskr apne purane logon se naraz ho kyaa . akhtar khan akela kota rasjthan

    उत्तर देंहटाएं
  4. Rajiv Dixit was only one parsanilty who was find and study true and actual condition of our COUNTRY BHARAT VARSH.

    उत्तर देंहटाएं
  5. mere jindgi ki sabse kali subha wahi thi jab mujhe pata chala ki rajive dixit ji ab is duniya main nahi rahe. abhi to unko bahut kam karne the wo aise kiyo hum sabhi ko bina bataye alvida kahe bina chle gai.

    उत्तर देंहटाएं
  6. भारतीय मीडिया चोर लालची दोगली है जैसे आज लोगों का विश्वास नेताओं से उठ चूका है वैसे ही अब मीडिया से भी उठ जायेगा लोग उसी बात को गलत मानेंगे जिसे भारतीय मीडिया सही बोलेगा

    उत्तर देंहटाएं
  7. वे एक सचे स्वदेशी राष्ट्रभक्त थे उनकी कमी हमेशा महसूस होगी .....विनम्र श्रधान्जली

    उत्तर देंहटाएं