रविवार, 19 दिसंबर 2010

सचिन तेंदुलकर की ५०वीं सेंचुरी के महाशतक पर बधाई

 
- अरविन्द सीसोदिया 
सचिन तेंदुलकर की ५०वीं सेंचुरी के महा शतक पर देश वासियों को बधाई एवं सचिन को कोटि कोटि धन्यवाद जिन्होंने देश को एक महान उपलब्धि देकर गर्व से सिर उंच करने का मौका दिया ! एक कठिन  परिस्थिति में देश कि टीम है और उसे सचिन की जरुरत थी ! सचिन ने  यूं तो पहली पारी में भी सबसे ज्यादा रन बनाये थे |
 यहाँ मेरा एक आरोप; देश के क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पर भी है जिसनें सचिन को एक दिवसीय क्रिकेट में ५० सेंचुरी के रिकार्ड बनाने से से रोक कर देश को एक एतिहासिक उपलब्धि से रोका ...! लगातार सचिन को  एक दिवसीय क्रिकेट बहार रखा गया , जबकी वे वहां ४६ सटक बना चुके हैं ! उन्हें मौका दिया जाना चाहिए था ! प्रयोग के लिए मुख्य टीम नहीं होती है ! हम यह मैच हार भी इस लिए रहे हैं की इसके ठीक पहले हम इन्ही खिलाडियों को टीम से बाहर किये हुए थे !
मेरी मान्यता है कि समय बार बार वापस नहीं आता है , सचिन को बिना हटाये कुछ आयाम देश के नाम बन जाने दो , उससे देश ही गोरवान्वित होता रहेगा !

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें