मंगलवार, 26 अप्रैल 2011

सुनील जोशी हत्याकाड की साजिश में दिग्विजय सिंह की भूमिका है-साध्वी प्रज्ञा



खुद को बेकसूर बताया साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर नें 
26 अप्रेल 2011  
इंदौर। मालेगांव बम धमाके और पूर्व संघ प्रचारक सुनील जोशी हत्याकांड में संगीन आरोपों का सामना कर रही मंगलवार को और दावा किया कि उन्हें विधर्मियों ने साजिश के तहत फंसाया है।
साध्वी ने कथित साजिश के संबंध में काग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पार्टी महासचिव दिग्विजय सिंह, मुंबई आतंकी हमले में शहीद एटीएस प्रमुख हेमंत करकरे और केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार का नाम लिया। प्रज्ञा को जोशी हत्याकाड में पेशी के लिए सोमवार को मुंबई से देवास लाया गया था। पीठ दर्द के चलते उन्हें सोमवार को इंदौर के महाराजा यशवंतराव अस्पताल भेज दिया गया। उन्हें मंगलवार सुबह अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।
38 वर्षीय साध्वी ने मालेगाव बम विस्फोट और जोशी हत्याकाड में उनकी कथित संलिप्तता पर कहा कि यह विधर्मियों की चाल है और इसमें हमारे तथाकथित सत्ताधारी शामिल हैंउन्होंने कहा कि मैं संन्यासिन हूं और मैंने कोई साजिश नहीं की। मैं राष्ट्रप्रेमी और राष्ट्रभक्त हूं, देश के लिए जीना और मरना जानती हूं। । इस बात के जिक्र पर कि मध्यप्रदेश पुलिस ने सुनील जोशी हत्याकाड में उन पर साजिश रचने समेत विभिन्न आरोप लगाए हैं, उन्होंने कहा कि यह इनकी [पुलिस की] नादानी है और यहा की [प्रदेश] सरकार का निकम्मापन है। वह सच्चाई पता नहीं कर सकी और सीधे-सादे साधु-संतों को पकड़ लिया गया। वर्ष 2008 के मालेगाव धमाके में उनकी कथित भूमिका के बारे में पूछे जाने पर प्रज्ञा ने कहा कि यह सवाल आप सोनिया गाधी, शरद पवार और महाराष्ट्र सरकार से पूछिए।
साध्वी ने आरोप लगाया कि मुझे षड़यंत्रपूर्वक फंसाया गया, जिसमें सोनिया गाधी, दिग्विजय सिंह, हेमंत करकरे और शरद पवार का हाथ है। इन लोगों पर 120 बी [आपराधिक साजिश से संबंध आईपीसी धारा] लगाकर इन्हें अंदर [गिरफ्तार] किया जाना चाहिए। उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि सुनील जोशी हत्याकाड की साजिश में दिग्विजय सिंह की भूमिका है। हालाकि, कुछ देर बाद जब साध्वी से इस संबंध में सवाल किया गया तो उन्होंने काग्रेस महासचिव को 'डरपोक' बताते हुए चुप्पी साध ली।

Pressnote
------------------------------------
 हंगामा 
 

इंदौर। देवास न्यायालय में पेशी के बाद स्वास्थ्य परीक्षण के लिए साध्वी प्रज्ञा सिंह सोमवार दोपहर 3.45 बजे इंदौर के एमवायएच पहुंची। यहां अलग-अलग समय पर पहुंचे 10 डॉक्टरों की टीम ने परीक्षण किया। जांच के बाद डॉक्टरों के दल ने उन्हें मंुबई जाने के लिए फिट पाया। इस बीच साध्वी ने हंगामा शुरू कर दिया। उन्होंने यहां तक कहा कि यदि मुझे यहां से ले जाएंगे तो मैं आत्महत्या कर लूंगी। हंगामे के कारण रात 8.15 बजे की फ्लाइट चूक गई।
पुलिस का कहना है कि साध्वी को मंगलवार को अवंतिका एक्सप्रेस से ले जाएंगे।एमवायएच पहुंचने के बाद साध्वी को केजुअल्टी के आईसीयू में शिफ्ट किया गया।
यहां उन्हें सीएमओ डॉ. हेमंत द्विवेदी ने प्रारंभिक तौर पर देखा। डॉ. द्विवेदी से साध्वी ने कमर और रीढ़ की हड्डी में तेज दर्द होने की बात कही। डॉक्टरों की टीम ने सबसे पहले ब्लड प्रेशर का परीक्षण और ईसीजी किया। इसके बाद रक्त परीक्षण के तहत सीवीसी, आरएफटी और हिमोग्लोबीन की जांच की गई। दोपहर 3.45 से शाम 7 बजे तक सभी परीक्षण के बाद डॉक्टरों की टीम ने उन्हें मुंबई जाने के लिए फिट पाया। इसके बाद उन्हें 8.15 बजे की फ्लाइट से मुंबई ले जाने के लिए 5 टिकट बुक कराए थे। यहां से उन्हें उपचार के लिए मुंबई के जेजे अस्पताल ले जाया जाना था। यह सुनते ही साध्वी ने आईसीयू में ही हंगामा मचाना शुरू कर दिया। हंगामा एक घंटे से अधिक देर तक चला। महिला पुलिस से भी वे नियंत्रित नहीं हो पा रही थीं। उन्होंने डॉक्टरों पर पुलिस के दबाव में रिपोर्ट तैयार करने का आरोप लगाने के साथ दोबारा स्वास्थ्य परीक्षण की मांग कर रही थी। साध्वी ने यहां से शिफ्ट करने की स्थिति मे आत्महत्या करने की धमकी भी दी।
"बैठने का कह खींच लेते हैं कुर्सी"
देवास. साध्वी के साथ देवास पहुंचे उनके बहनोई भगवान झा ने महाराष्ट्र पुलिस एवं एटीएस पर प्रज्ञा के साथ बर्बरता का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि एटीएस पूछताछ के दौरान प्रज्ञा को कुर्सी पर बैठने के लिए कहती है, उसके बाद कुर्सी पीछे से खींच ली जाती है।
-----------------------------------


सोनिया , दिग्विजय,करकरे ने रची थी माले गाँव की साजिश  : साध्वी प्रज्ञा  
२६ अप्रैल २०११ 
भोपाल। 2006 में हुए मालेगांव बम धमाके और 2007 में हुए सुनील जोशी हत्याकांड में मुख्य आरोपी साध्वी प्रज्ञा ने खुद पर लगे आरोपों से पल्ला झाड़ते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सेनिया गांधी, कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह, केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार और मुंबई आतंकी हमले में मारे गए एटीएस के चीफ हेमंत करकरे पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहाकि इन दोनों मामलों मे इस सभी लोगों का हाथ है।

साध्वी ने कहा इन सब लोगों ने मिलकर इन दोनों मामलों की साजिश रची थी। साध्वी प्रज्ञा को मुंबई से इंदौर लाया गया है और मेडिकल चेकअप के लिए यहां अस्पताल में भर्ती किया गया है। सोमवार को उन्हें सुनील जोशी हत्यकांड से संबंधित मामले के लिए देवास ले जाया गया था। साध्वी प्रज्ञा की तबियत खराब होने की शिकायत पर मामले की सुनवाई एम्बुलेंस में ही की गई।

साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि इन सभी को जेल भेजा जाना चाहिए। प्रज्ञा ने कहा सुनील जोशी हत्याकांड मामले में दिग्विजय सिंह मुख्य आरोपी हैं। साध्वी ने मांग की इन दोनों मामलों में शरद पवार और दिग्विजय सिंह की जांच होनी चाहिए।

Oneindia hindi
-------------------------








--- http://visfot.com/home/index.php/permalink/3836.html

----http://hindurashtraa.blogspot.com/2011_01_02_archive.html



साध्वी प्रज्ञा 

के भाई ने जांच एजेंसियों पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए खुदकुशी की कोशिश की

मालेगांव विस्फोट में फंसाई गईं साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के भाई ने जांच एजेंसियों पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए जहर खाकर खुदकुशी की कोशिश की है। पुलिस सूत्रों ने कहा कि अनंत ब्रह्मचारी जहर खाने के बाद दक्षिण दिल्ली के जंगपुरा इलाके में अचेत अवस्था मिले। 

बताया जा रहा है कि अनंत को एनआईए ने पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया था। उसी के बाद उन्होंने जहर खाकर खुदकुशी की कोशिश की। ब्रह्मचारी अनंत के परिजन ने बताया कि एनआईए ने ब्रह्मचारी अनंत को पूछताछ के लिए बुलाया था और उन्हें प्रताड़ित किया। अनंत ने आत्महत्या का प्रयास इसी प्रताड़ना के बाद किया। 

पुलिस ने कहा कि उन्हें एम्स पहुंचाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है। सूत्रों ने कहा कि उसके पास से एक नोट मिला है जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि बहन साध्वी प्रज्ञा सिंह पर आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के आरोपों की जांच कर एजेंसियों की पूछताछ से वह डिप्रेशन में आ गए थे।


2 टिप्‍पणियां:

  1. कोई आवाज़ नही सुनेगा प्रज्ञा सिंह का | कसब और अफजल के बारे में सोच सोच कर मरे जा रहे है भादवे सेक्युलर कि ऐसे सकब और अफजल को बचाया जाय |

    उत्तर देंहटाएं
  2. desh drohi digvijay kuchh bhi kar sakta hai soniya ke ishare par male gaw ,ajmer sharif ityadi IB AUR ROW ne kkaraya digvijay mishanariyo ki yojana ko safal kar rahe hai, yah bat thik lagti hai ki sunil joshi ki hatya inhone ne hi karayi.

    उत्तर देंहटाएं