शनिवार, 21 मई 2011

पाक - चीन गठजोड़ : सिर्फ बातों ही बातों से काम चला रही है भारत सरकार




- अरविन्द सिसोदिया 
    इन दिनों यूपीए २ कि कांग्रेस नेतृत्व भारत सरकार इतनी निकम्मी सरकार हो गई है  की वह अन्दर - बहार , दोनों तरफ पूरी तरह फैल है ! सिर्फ बातों ही बातों से काम चला रही है | अकर्मण्यता की यह स्थिति है कि वह चीन और पाकिस्तान से भी भयभीत है ! मनमोहन सिंह अफगानिस्तान में कहते हैं भारत, अमरीका जैसी कार्यवाही पाकिस्तान में आंतकीयों के खिलाफ नहीं कर सकता ..! यही हाल चीन के खिलाफ है वह भारतीय सीमा के अन्दर आकर पाकिस्तान के पक्ष में बहुत सारे निर्माण कर रहा है , भारत सरकार विरोध तक नहीं कर पा रही | यदि इतने निकम्मे नेता ही कुर्सियों  पर बैठे रहे तो देश का भविष्य अंधकार मय हो चुका  है|
==========
समाचार .......
       पाकिस्तान और चीन के बीच बढ़ते रक्षा संबंधों पर भारत ने गहरी चिंता जाहिर की है। भारत ने कहा है कि इस चुनौती का मुकाबला करने के लिए हमें अपनी क्षमता बढ़ानी होगी। तीनों सेनाओं के साझा कमांडर सम्मेलन को संबोधित करने के बाद रक्षा मंत्री ए.के.एंटनी ने कहा कि इस नई चुनौती का एक ही जवाब है कि हम अपनी ताकत में इजाफा करें। रक्षा मंत्री ने यह टिप्पणी चीन से हुई इस घोषणा के बाद की है कि वह पाकिस्तान को 50 जेएफ-17 थंडर लड़ाकू विमान बेचेगा। 
          रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि ओसामा बिन लादेन के मारे जाने का असर भारत के पड़ोसी इलाकों के अलावा भारत पर भी पडेगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवादियों को सुरक्षित पनाह ही भारत के लिए सबसे बड़ी चिंता की बात है। पाकिस्तान यदि भारत के साथ गंभीरता से अपने रिश्ते बेहतर करना चाहता है तो उसे अपने यहां सभी आतंकवादी गिरोहों के गढ़ बंद कर देने चाहिए। पाकिस्तान में किसी आतंकवादी शिविर पर हमला करने की क्षमता वाले जनरल वी. के. सिंह और एयर चीफ मार्शल पी. वी. नायक के कथनों के बारे में पूछे जाने पर रक्षा मंत्री ने कोई टिप्पणी किये बिना कहा कि प्रधानमंत्री ने इस बारे में अपनी राय दी है। उन्हें इसके अलावा और कुछ नहीं कहना। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि भारत इस तरह की हमला कार्रवाई नहीं करेगा। 
             जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पार हालात के बारे में पूछे जाने पर रक्षा मंत्री ने कहा कि पिछले सालों की तुलना में हिंसा का स्तर कम हुआ है लेकिन कई मौकों पर घुसपैठ की कोशिशें हुई हैं। संघर्ष विराम के उल्लंघन की घटनाएं हुई हैं। लेकिन हालात बेहतर हुए हैं। अमेरिका से सी-17 ग्लोबमास्टर परिवहन विमान खरीदे जाने के बारे में रक्षा मंत्री ने कहा कि यह मसला अब सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति के सामने है और इसके लिए कोई समय सीमा नहीं तय की जा सकती है। 
सर क्रीक सीमा विवाद पर बातचीत शुरू
भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय वार्ता प्रक्रिया के तहत शुक्रवार को सर क्रीक सीमा विवाद के मुद्दे को लेकर दो दिवसीय वार्ता शुरू हो गयी। दोनों मुल्कों के बीच समुद्री सीमा विवाद को लेकर चार सालों के बाद यह बातचीत रावलपिंडी में शुरू हुई। भारत की तरफ से आठ सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व सर्वेयर जनरल एस . सुब्बा राव कर रहें हैं , जबकि पाकिस्तानी शिष्टमंडल का नेतृत्व अतिरिक्त रक्षा सचिव रियर ऐडमिरल शाह सुहैल मसूद कर रहे हैं ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें