शुक्रवार, 20 मई 2011

कांग्रेस : भ्रष्टाचार की जय हो



- अरविन्द सिसोदिया 
   सवाल यह नहीं है की ए राजा किस पार्टी के हैं ..,सवाल यह है की उन्हें किसनें बनाया था और उनसे किसने इतना बड़ा भ्रष्टाचार करवाया ..! इसमें शक नहीं होना चाहिए की कांग्रेस में छोटी छोटी बातों का फैसला हाई  कमान उर्फ़ सोनिया गाँधी जी पर ही छोड़ा जाता है ..! चाहे मनमोहन सिंह जी हों या ए राजा हों .., नियुक्ति किसनें की ..उसकी पार्टी को ही ये अपयश जाएगा की भारत  सत्ता का दुरुपयोग कर व्यक्तिगत संपत्ति बनाने वाले शीर्ष-10 लोगों की सूची में दूसरे क्रम पर रखा है।

    2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में फंसे पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा को अमेरिकी मैगजीन 'टाइम' ने सत्ता का दुरुपयोग कर व्यक्तिगत संपत्ति बनाने वाले शीर्ष-10 लोगों की सूची में दूसरे क्रम पर रखा है। मैगजीन के मुताबिक ए, राजा की वजह से भारत में सरकारी खजाने को अब तक की सबसे बड़ी चपत लगी है।

टाइम मैगजीन की इस सूची में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन पहले क्रम पर हैं। चर्चित वाटरगेट कांड में महाभियोग झेल चुके निक्सन ने अपने विरोधियों के खिलाफ सत्ता का गलत इस्तेमाल किया था। लीबिया के तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी इस सूची में चौथे और इटली के प्रधानमंत्री सिल्वियो बलरुस्कोनी छठे स्थान पर हैं। सातवीं पायदान पर उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग इल का नाम है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें