शनिवार, 14 मई 2011

महंगाई डायन खाए जात है


  कांग्रेस  कितनी  खुदगर्ज पार्टी है .., पांच राज्यों के चुनाव में वोट लेने से पहले चुप रही और जैसे ही वोट झटके और अपनी लूट की आदत पर फिर आगई ..!  आज पेट्रोल के दम बड़ा दिए .. आगे पीछे डीजल और रसोई गैस के दाम भी बढायेंगे ..! जनता को इस ठग पार्टी के सच को पहचानना होगा ..! फिर वह गीत ....महंगाई डायन खाए जात है, याद आगया ......
- अरविन्द सिसोदिया 
यह गीत आमिर खान द्वारा निर्मित और अनुषा रिज़वी द्वारा निर्देशित फिल्म "पीपली लाइव" में शामिल किया गया है। मध्य प्रदेश के निवासी श्री गयाप्रसाद प्रजापति ने दावा किया है कि उन्होने इस लोकगीत की रचना की है।
अभिनेता श्री रघुवीर यादव ने इस कोरस गीत में मुख्य गायक के तौर पर योगदान दिया है और पर्दे पर वे ही इसे गाते हैं। आमिर खान के मुताबिक, रघुवीर यादवने इस लोक गीत में फिल्म की जरुरत के हिसाब से वहीं शूटिंग स्थल पर ही बदलाव किये और इसे फिल्म में उपयोग करने लायक बनाया।

सखी सैयां तो खूब ही कमात हैं
महंगाई डायन खाए जात है
हर महीना उछले पेट्रोल
डीजल का - उछ्ला है रोल/ (भी बढ़ गया मोल)
शक्कर बाई के का हैं बोल
हर महीना उछले पेट्रोल
डीजल का - उछला है रोल/ (भी बढ़ गया मोल)
शक्कर बाई के का हैं बोल
रुसा बासमती धान मरी जात है
महंगाई डायन खाए जात है
सखी सैयां.......
सोया बान को है बेहाल,
गर्मी से पिचके हैं गाल
घिर गए पत्ते,
पक गए बाल
सोया बान का का बेहाल ,
गर्मी में पिचके हैं गाल
घिर गए पत्ते,
पक गए बाल
और मक्का जीजी भी खाए गयी मात है
महंगाई डायन खाए जात है
सखी सैयां ....
अरे कददू की हो गयी भरमार
ककड़ी कर गयी हाहाकार
मटर जी को लगो बुखार
अरे कददू की हो गयी भरमार
ककड़ी कर गयी हाहाकार
मटर जी को लगो बुखार
और आगे का कहूँ
कही नहीं जात है
महंगाई डायन खाए जात है
सखी सैयां ....
साल घसीटत आ गव जून
महँगाई पी गयी खून
हाफ पैंट हो गयी पतलून
पड़े खटिया पे
यही बड़बड़ात है
महंगाई डायन खाए जात है
सखी सैयां .....
ए सैयां , ए सैयां रे ... मोरे सैयां रे खूब कमावें, सैयांजी ..
अरे कमा कमा के मर गए सैयां
पहले तकड़े तकड़े थे
अब दुबले पतले हो गए सैयां
अरे कमा कमा के मर गए सैयां
मोटे सैयां पतले सैयां
अरे सैयां मर गए हमारे खिसियाये के
महंगाई डायन मारे जात है
सखी सैयां तो खूब ही कमात है
महंगाई डायन खाए जात है

1 टिप्पणी:

  1. शुभागमन...!
    आपके हिन्दी ब्लागिंग के अभियान को सफलतापूर्वक उन्नति की राह पर बनाये रखने में मददगार 'नजरिया' ब्लाग की पोस्ट नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव. और ऐसे ही अन्य ब्लागर्स उपयोगी लेखों के साथ ही अपने व अपने परिवार के स्वास्थ्योपयोगी जानकारियों से परिपूर्ण 'स्वास्थ्य-सुख' ब्लाग की पोस्ट बेहतर स्वास्थ्य की संजीवनी- त्रिफला चूर्ण एक बार अवश्य देखें और यदि इन दोनों ब्लाग्स में प्रस्तुत जानकारियां आपको अपने जीवन में स्वस्थ व उन्नति की राह में अग्रसर बनाये रखने में मददगार लगे तो भविष्य की उपयोगिता के लिये इन्हें फालो भी अवश्य करें । धन्यवाद के साथ शुभकामनाओं सहित...

    उत्तर देंहटाएं