मंगलवार, 26 जुलाई 2011

चपरासी के पदों के लिए :पीएचडी, एमबीए और एमसीए डिग्री धारक शामिल

26 जुलाई 2011 
उदयपुर.
सुखाड़िया विश्वविद्यालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के 15 पदों के लिए रविवार २४ जुलाई २०११ को भी इंटरव्यू हुए। विभिन्न जिलों के अभ्यर्थियों ने चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी बनने के लिए इंटरव्यू दिया। इसमें पीएचडीधारी, एमबीए, एमसीए, मास्टर ऑफ लाइब्रेरी, एमकॉम, एमए के अभ्यर्थी सम्मिलित थे। विश्वविद्यालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के लिए दो दिन तक साक्षात्कार प्रक्रिया चली। सुविवि के संघटक आर्ट्स, कॉमर्स, साइंस व एफएमएस कॉलेज में प्रक्रिया सुबह 9 बजे से शुरू हुई जो शाम 6 बजे तक चली। महिला अभ्यर्थी अपने परिजनों के साथ साक्षात्कार देने पहुंची।

15 पद, ढाई हजार अभ्यर्थी :
सुविवि में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के लिए 3440 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। शनिवार से शुरू हुए इंटरव्यू में कुल ढाई हजार अभ्यर्थी उपस्थित रहे। रविवार को इंटरव्यू के लिए 1615 अभ्यर्थियों को बुलाया गया था लेकिन 1137 अभ्यर्थी ही उपस्थित हुए। कॉमर्स कॉलेज में 299, साइंस कॉलेज में 265, आर्ट्स कॉलेज में 286 व एफएमएस कॉलेज में 287 अभ्यर्थियों ने इंटरव्यू दिए।

राज्यभर से आए अभ्यर्थी :
सुविवि प्रवक्ता डॉ. संजय लोढ़ा ने बताया कि रविवार को एफएमएस कॉलेज में तीन पीएचडीधारी, एमसीए पास अभ्यर्थियों ने इंटरव्यू दिए। जबकि कॉमर्स कॉलेज में जोधपुर से एमबीए, एमकॉम, राजस्थान विद्यापीठ से एमएचआरएम के दो छात्र व कोटा ओपन से एमलिब. छात्र इंटरव्यू में सम्मिलित हुए। डॉ. लोढ़ा ने बताया कि इंटरव्यू में अभ्यर्थियों की शॉर्ट लिस्ट तैयार की जा रही है। अगस्त में फाइनल प्रक्रिया होने की संभावना है।

3 टिप्‍पणियां:

  1. yadi yeh qualified degree holders peon ki post ke liye success ho jate hen to inko 50 pratishat se jyada yese adhikariyon ko pani pilayenge jo yogyata men unse behoot chote honge....very shame full...kaise banega mera bharat mahan.

    उत्तर देंहटाएं
  2. yadi yeh qualified degree holders peon ki post ke liye success ho jate hen to inko 50 pratishat se jyada yese adhikariyon ko pani pilayenge jo yogyata men unse behoot chote honge....very shame full...kaise banega mera bharat mahan.

    उत्तर देंहटाएं
  3. yadi yeh qualified degree holders peon ki post ke liye success ho jate hen to inko 50 pratishat se jyada yese adhikariyon ko pani pilayenge jo yogyata men unse behoot chote honge....very shame full...kaise banega mera bharat mahan.

    उत्तर देंहटाएं