बुधवार, 5 अक्तूबर 2011

किसानों के साथ, साजिस चल रही है


- अरविन्द सीसौदिया , कोटा, राजस्थान

पूरे देश के साथ, पूरे देश के किसानों के साथ, साजिस चल रही है , ताकि खाद्धन्न कम से कम उत्पन्न हो । इसके लिये डीएपी और अन्य खादों की कीमतों में भारी वृद्धि की गई है। उर्वरक बाजार में मिल नहीं रहे हैं। बिजली की भारी कटौत्री चल रही है। अच्छी वर्षात का लाभ किसान को खाद आपूर्ती नहीं होनें से नहीं मिल पा रहा है। कुल मिला कर किसान के काम में भयानक अडंगे इसलिये सरकार लगा रही है कि उत्पादन कम हो और विदेशों से मंहगे आयात का रास्ता खुले ताकि पाश्चात्य जगत भारत को अधिक से अधिक लूट सके। केन्द्र की कोग्रेस या सोनिया सरकार के इस पाखण्ड के खिलाफ भारी जनजागरण आवश्यक हे।...

------
कोटा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने डीएपी के दामों में हाल में की गई भारी बढ़ोतरी से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि यह केन्द्र का मामला है। कृषि उत्सव में सांसद इज्यराजसिंह ने अपने भाषण में डीएपी के दामों बढ़ोतरी का जिक्र किया तो पाण्डाल में मौजूद किसानों ने दाम घटाने के समर्थन में नारे लगाए। कृषि उत्सव के उद्घाटन के बाद मुख्यमंत्री ने पाण्डाल में किसानों से बातचीत की और उनके ज्ञापन लिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि खाद के दाम बढ़ाने का मामला केन्द्र का है। हाड़ौती किसान यूनियन ने भी डीएपी के दाम घटाने का ज्ञापन दिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें