शुक्रवार, 23 दिसंबर 2011

राष्ट्र की जय चेतना का गान वंदे मातरम्





वंदे मातरम्

राष्ट्र की जय चेतना का गान वंदे मातरम्
राष्ट्रभक्ति प्रेरणा का गान वंदे मातरम्
बंसी के बहते स्वरोंका प्राण वंदे मातरम्
झल्लरि झनकार झनके नाद वंदे मातरम्
शंख के संघोष का संदेश वंदे मातरम् ॥१॥
सृष्टी बीज मंत्र का है मर्म वंदे मातरम्
राम के वनवास का है काव्य वंदे मातरम्
दिव्य गीता ज्ञान का संगीत वंदे मातरम् ॥२॥
हल्दिघाटी के कणोमे व्याप्त वंदे मातरम्
दिव्य जौहर ज्वाल का है तेज वंदे मातरम्
वीरोंके बलिदान का हूंकार वंदे मातरम् ॥३॥
जनजन के हर कंठ का हो गान वंदे मातरम्
अरिदल थरथर कांपे सुनकर नाद वंदे मातरम्
वीर पुत्रोकी अमर ललकार वंदे मातरम् ॥४॥
English Transliteration 
rāṣṭra kī jaya cetanā kā gāna vaṁde mātaram
rāṣṭrabhakti preraṇā kā gāna vaṁde mātaram
baṁsī ke bahate svaroṁkā prāṇa vaṁde mātaram
jhallari jhanakāra jhanake nāda vaṁde mātaram
śaṁkha ke saṁghoṣa kā saṁdeśa vaṁde mātaram ||1||
sṛṣṭī bīja maṁtra kā hai marma vaṁde mātaram
rāma ke vanavāsa kā hai kāvya vaṁde mātaram
divya gītā jñāna kā saṁgīta vaṁde mātaram ||2||
haldighāṭī ke kaṇome vyāpta vaṁde mātaram
divya jauhara jvāla kā hai teja vaṁde mātaram
vīroṁke balidāna kā hūṁkāra vaṁde mātaram ||3||
janajana ke hara kaṁṭha kā ho gāna vaṁde mātaram
aridala tharathara kāṁpe sunakara nāda vaṁde mātaram
vīra putrokī amara lalakāra vaṁde mātaram ||4||


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें