रविवार, 15 जनवरी 2012

भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन : ब्लू फिल्म यात्रियों को दिखाई


- अरविन्द सिसोदिया 
यह कितना दुर्भाग्सपूर्ण है कि एक रेल्वे स्टेशन पर सार्वजनिक टीवी सैटों पर कामक्रीणा के दृष्य दिखाये गये, अर्थात ब्लू फिल्म यात्रियों को दिखाई गई । अब यह सब इतना आसान हो गया कि हर कोई इससे परिचित है। क्यों कि आन लाईन पर अति निर्भरता और कानून की कमजोरी से यह सब हो रहा है।
--------------------
भुवनेश्वर स्टेशन में ब्लू फिल्म का प्रसारण


Jagran Hindi News
Sun, 15 Jan 2012
भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता
http://www.jagran.com
टेलीविजन आपरेटर की लापरवाही के कारण भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को लज्जा जनक स्थिति का सामना करना पड़ा है। शनिवार दोपहर करीब 3:30 बजे भीड़भाड़ वाले रेलवे स्टेशन के स्क्रीन पर लगभग 8 मिनट तक ब्लू फिल्म दिखाई जाने से वहां उपस्थित यात्रियों में हड़कम्प मच गया। जब इस बारे में यात्रियों से सूचना मिली तो रेलवे सुरक्षा बल ने टीवी प्रसारण रूम पर धावा बोला और प्रसारण के दायित्व में रहे आशुतोष स्वांई नामक युवक को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में रेलवे स्टेशन पर प्रसारण का उत्तर दायित्व निभा रही संस्थान सागर विजन को नोटिस जारी कर दिया गया है। रेलवे की तरफ से यात्रियों को गाड़ियों के आने जाने की सूचना देने के साथ विज्ञापन एवं मनोरंजक फिल्मीगीत दिखाने के लिए कटक के सागर विजन नामक संस्थान को दायित्व सौंपा गया था। संस्थान द्वारा रेलवे स्टेशन स्थित अपने कंट्रोल रूम में गड़बड़ी के चलते स्टेशन पर लोगों को ब्लू फिल्म देखना पड़ा है। पुलिस के हत्थे चढ़े युवक आषुतोष ने पुलिस के सामने स्वीकार किया है कि अपने दोस्त से लाए गए एक चिप्स से मोबाइल पर कुछ दृश्य डाऊनलोड करते समय यह हादसा हुआ है। उसने गलती से ऐसा होने की जानकारी दी है। उधर, पुलिस ने गिरफ्तार युवक को अधिक पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। मामला चाहे असावधानी का हो या फिर जानबूझकर किया गया हो, रेलवे स्टेशन जैसे सर्वसाधारण स्थान पर अगर अश्लील फिल्म दिखाई जाती है तो, मामला निश्चित रूप से गम्भीर है और इसके लिए किसी को भी माफ नहीं किया जाना चाहिए। खासकर अपने परिवार के साथ गाड़ी का इंतजार कर रहे यात्रियों ने इस घटना पर गहरा असंतोष जाहिर किया है। बाल बच्चों के साथ गाड़ी के आने जाने की सूचना प्राप्त करने हेतु स्क्रीन पर नजर गड़ाए बैठे यात्री अगर ब्लू फिल्म देंखे, तो वहां जो हालत बनती है, वह सहज ही अनुमान योग्य है। स्टेशन में उपस्थित यात्रियों ने इस घटना पर खेद जताते हुए दोषियों के खिलाफ कड़े दण्ड विधान की मांग की है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें