सोमवार, 14 मई 2012

15 मई को होगा खाचरियावास गांव में, पूर्व उपराष्ट्रपति महामहिम स्व.भैरोंसिंह शेखावत की मूर्ति का अनावरण

15 मई को होगा खाचरियावास गांव में, 

पूर्व उपराष्ट्रपति महामहिम स्व.भैरोंसिंह शेखावत की मूर्ति का अनावरण

झुंझुनूं/ मई माह 2012 की 15 तारीख को सीकर जिले के खाचरियावास गांव में पूर्व उपराष्ट्रपति महामहिम स्व. श्री भैरोसिंह शेखावत की अष्टधातु की मूर्ति अनावरण कार्यक्रम के सिलसिले में बुधवार को भाजपा के युवा नेता अभिमन्युसिंह राजवी झुंझुनूं जिले के दौरे पर रहे। इस दौरान उन्होंने शार्दुल छात्रावास में राजपूत समाज की बैठक में हिस्सा लिया। जिसमें उन्होंने समाज के लोगों को कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने का न्यौता दिया। उन्होंने कहा कि स्व. शेखावत का झुंझुनूं जिले से घनिष्ट प्रेम रहा है। ऐसे में उनके निधन के बाद पहली मूर्ति का अनावरण उनके पैतृक गांव में हो रहा है और उसमें झुंझुनूं जिले की भागीदारी अधिक से अधिक होनी चाहिए, ताकि उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दी जा सके।
आडवाणी, जसवंत, बादल, वसुंधरा, चौटाला, खंडेला आदि नेता आएंगे

बैठक के बाद खाना खजाना रेस्टोरेंट में आयोजित प्रेस वार्ता में युवा नेता अभिमन्युसिंह ने बताया कि 15 मई को होने वाले कार्यक्रम में भारत के पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, पूर्व केंद्रीय मंत्री सांसद जसवंतसिंह, पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाशसिंह बादल, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, केंद्रीय राज्य मंत्री महादेवसिंह खंडेला, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला, अजय चौटाला, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरूण चतुर्वेदी मौजूद रहेंगे। वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व पीसीसी चीफ डॉ. चंद्रभान को भी कार्यक्रम का न्यौता दिया गया है।

उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में देश से ही नहीं विदेशों से भी संत आएंगे। जिनमें जगद्गुरू श्रीजी महाराज, स्वामी महेश्वरानंद कनाडा, त्रिवेणी धाम के नारायणदास महाराज, अजमेर दरगाह के मुख्य खादिम, नाथद्वारा के महंत तिलकायत महाराज, रैवासा पीठाधीश्वर राघवाचार्य महाराज आदि प्रमुख है। उन्होंने पत्रकारों को बताया कि स्व. शेखावत के नाम से सामाजिक कार्यों की शृंखला में ट्रस्ट बनाने का काम भी चल रहा है। जिसे जल्द ही मूर्त रूप दे दिया जाएगा। वहीं उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि उनके निधन के बाद उनकी पहली मूर्ति उनके पैतृक गांव में लगने के बाद अन्य स्थानों पर भी लगाई जाएगी, ताकि आने वाली पीढी को उनसे प्रेरणा मिल सके। उन्होंने बताया कि आडवाणी और बादल जहां हैलिकॉप्टर से सीधे खाचरियावास आएंगे। वहीं अन्य नेता व संत सडक़ मार्ग के जरिए खाचरियावास गांव पहुंचेंगे।
शेखावत: एक जीवन परिचय



भैरों सिंह शेखावत: सांस्कृतिक मूल्यों के संवाहक



भैरों सिंह शेखावत: शेर ए राजस्थान



भैंरोसिंह - भैंरोसिंह , राजस्थान का एक ही सिंह 



भैरोंसिंह शेखावत : सम्पूर्ण राजनैतिक व्यक्तित्व के धनी 




महाराणा प्रताप


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें