गुरुवार, 3 मई 2012

झूठ... झूठ.....कांग्रेस सांसद प्रभा ..झूठ... झूठ.....


झूठ... झूठ.....
मीडिया में झूठ को न्यूज और न्यूज को झूठ बनाने का धंधा किस कदर हावी है...इसका प्रमाण गुजरात की कांग्रेस सांसद प्रभा है जिसने महिला कांस्टेबिल के बालों को किस बेदर्दी से पकडे हुये है और संसद में गलत बयानी कर उल्टा चोर कोतबाल को डांटे की स्थिती लादी....गुजरात में विधानसभा चुनाव आ रहे हैं, कांग्रेस फिर से हारेगी....इसी कारण वह रोज व रोज कोई ड्रामा करती रहती है.............
-------------
फेसबुक  पर.....
जितेन्द्र प्रताप सिंह 
आज किसी भी भांड और नीच चैनल ने दाहोद की बदतमीज सांसद की असलियत नही दिखाई .
मित्रों ये चित्र देखिये ये बदतमीज सांसद कैसे एक महिला पुलिस सब इंस्पेक्टर की चोटी कसकर खीच रही है और वो बेचारी इन्सपेक्टर दर्द से कराह रही है |फिर ये बदतमीज सांसद संसद मे जाकर घडियाली आँसू बहती है और पूरा संसद इस चालबाज और नौटंकीबाज की बातों मे कैसे आ जाता है ? 
-----------

कांग्रेस महिला सांसद से गुजरात पुलिस ने की बदसलूकी

प्रभा किशोर तावियाद
भाषा | अहमदाबाद, 2 मई 2012 |
सदीय क्षेत्र में मंगलवार को पुलिस पर र्दुव्‍यवहार करने का आरोप लगाया.दाहोद से सांसद प्रभा किशोर तावियाद के खिलाफ कथित पुलिसिया कार्रवाई पर गैर राजग पार्टियों ने गुजरात की भाजपा सरकार की कड़ी निंदा की.तावियाद के आरोपों से राज्य सरकार ने इंकार किया है और इसे ‘आधारहीन’ बताया है. सरकार ने कहा कि उनके खिलाफ कार्रवाई ‘प्रशासनिक प्रक्रिया’ का हिस्सा थी.
दाहोद में समारोह स्थल के नजदीक प्रदर्शन करने के प्रयास में तावियाद एवं उनकी पार्टी के चार विधायक वाजू पांडा, बच्चू किशोरी, चंद्रिका बरिया, दिता माचर को हिरासत में ले लिया गया था.लोकसभा में वामपंथी दलों, सपा, बसपा, तृणमूल कांग्रेस, अन्नाद्रमुक और राजद के सदस्यों ने एक साथ इसकी निंदा की और त्वरित कार्रवाई की मांग की. तावियाद ने कथित पुलिसिया कार्रवाई के बाद अपनी बांहों पर जख्म के निशान दिखाए. कुछ सांसदों ने कहा कि मामले को विशेषाधिकार समिति को भेजा जाना चाहिए और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए. गिरिजा व्यास (कांग्रेस) ने तावियाद की तरफ से मामले को उठाया और कहा कि सांसद को दाहोद में गुजरात दिवस समारोहों में हिस्सा लेने की पुलिस ने अनुमति नहीं दी.उन्होंने दावा किया कि तावियाद और कुछ कांग्रेसी विधायकों से पुलिस ने र्दुव्‍यवहार किया और उन्हें पुलिस वाहन में 300-400 किलोमीटर दूर ले गई.व्यास के मुताबिक तावियाद को रात आठ बजे चिकित्सा मुहैया कराई गई और बाद में उन्हें दिल्ली एक ट्रेन में चढ़ने की अनुमति दी गई.


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें