रविवार, 30 सितंबर 2012

सोनिया गांधी की 'धन-दौलत' की होने लगी है खूब चर्चा

 सोनिया गांधी
सोनिया गांधी की संपत्ति 45 हजार करोड़ !
http://aajtak.intoday.in/story
आजतक वेब ब्यूरो | नई दिल्ली, 13 मार्च 2012 | अपडेटेड: 08:46 IST
अमेरिका के एक मीडिया हाउस ने किया है विवादास्पद दावा. दावा है कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की संपत्ति के बारे में. अमेरिकी वेबसाइट बिजनेस इनसाइडर के मुताबिक सोनिया गांधी दुनिया की चौथी सबसे दौलतमंद नेता हैं.

वेबसाइट के मुताबिक यूपीए अध्‍यक्ष के पास 10 हजार से 45 हजार करोड़ के बीच (2 से 19 अरब डॉलर) की संपत्ति है. इस लिस्ट में एक और भारतीय का नाम है. वो हरियाणा की विधायक और जिंदल समूह की प्रमुख सावित्री जिंदल.

गौरतलब है कि सोनिया गांधी का नाम पहले भी दुनिया के सबसे अमीर नेताओं की लिस्ट में आ चुका है. इससे पहले जर्मनी के अखबार 'डी वेल्ट' में भी इस बारे में खबर छपी थी. अखबार के वर्ल्ड्स लग्जरी गाइड सेक्शन ने इस सूची में सोनिया गांधी को चौथा स्थान दिया.

'बिजनेस इनसाइडर' की ताजा सूची भी वर्ल्ड्स लग्जरी गाइड के लिस्ट आधारित है. अमेरिकी वेबसाइट ने अपनी इस लिस्ट को OpenSecrets.org, Forbes.com, Bloomberg.com, Wikipedia.org, Guardian.co.uk से मिली जानकारी पर तय किया है.

=========

Sonia Gandhi 4th Richest Politician in the World Business Insider Reports

http://www.amarujala.com
सोनिया गांधी की 'धन-दौलत' की होने लगी है खूब चर्चा
नई दिल्‍ली/इंटरनेट डेस्क।
Story Update : Tuesday, March 13, 2012    12:11 PM
Sonia Gandhi 4th Richest Politician in the World Business Insider Reports

इन दिनों कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी अपनी धन दौलत को लेकर खूब चर्चा का विषय बन गई हैं। दावा किया जा रहा है कि सोनिया गांधी दुनिया की चौथी सबसे दौलतमंद राजनीतिज्ञ हैं। अमेरिकी वेबसाइट 'बिजनेस इनसाइडर' ने यह दावा किया है। वेबसाइट के अनुसार सोनिया के पास 10,000 से 45,000 करोड़ के बीच ($2-19 billion) की संपत्ति है।
सावित्री जिंदल सातवें नंबर पर
बिजनेस इनसाइडर ने विश्व के सबसे धनवान राजनेताओं की लिस्ट जारी की है। इसमें कांग्रेस अध्यक्ष को चौथे नंबर पर रखा है। सूची में सोनिया से पहले न्यूयॉर्क के मेयर माइकल ब्लूमबर्ग (तीसरे नंबर), रुनेई सुल्तान हस्सानल बोलकियाह (दूसरे नंबर) और सऊदी अरब के किंग अब्दुल्लाह बिन अब्दुल अजीज शाह (पहले नंबर) पर हैं। इस लिस्ट में हरियाणा की विधायक और जिंदल समूह की प्रमुख सावित्री जिंदल का नाम भी शामिल है। जिंदल सूची में सात नंबर पर हैं।
जर्मनी का अखबार छाप चुका है खबर
'बिजनेस इनसाइडर' ने वर्ल्ड्स लग्जरी गाइड का हवाला देते हुए लिस्‍ट छापी है। साथ ही यह भी लिखा गया है कि यह रिपोर्ट OpenSecrets.org, Forbes.com, Bloomberg.com, Wikipedia.org, Guardian.co.uk से मिली जानकारी के आधार पर तैयार की गई है। इससे पहले जर्मनी के अखबार 'Die Welt,' में भी इस बारे में खबर छपी थी। उसमें भी सोनिया गांधी चौथे स्थान पर हैं। अखबार के वर्ल्ड्स लग्जरी गाइड सेक्शन में विश्व के सबसे दौलतमंद 23 नेताओं की लिस्ट छापी गई थी।
वेबसाइट पर हो सकता है मुकदमा
पिछले आम चुनाव में सोनिया ने 50-75 लाख रुपए की संपत्ति बताई थी जबकि वेबसाइट पर 10,000-45,000 करोड़ की संपत्ति बताई है। दोनों ब्यौरे में बहुत अंतर है, ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि सोनिया वेबसाइट के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सकती हैं। हालांकि कांग्रेस की ओर से इस खबर पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।
__________

9/30/2012
विश्व की चौथी अमीर नेता हैं गरीबों की महारानी सोनिया
नेहरू गांधी का नाम आते ही गोरी मेम माउंटबेटन के पीछे सिगरेट फूंकते पंडित जवाहर लाल नेहरू और आधी लंगोटी वाले सादगी पसंद महात्मा गांधी की तस्वीर ही आम आदमी के दिल दिमाग में आने लगती है। इसी नेहरू गांधी के नाम का उपयोग कर आधी सदी से ज्यादा देश पर राज करने वाली कांग्रेस की डेढ़ दशक से ज्यादा समय से सिरमौर बनी बैठीं श्रीमति सोनिया गांधी दुनिया की चौथी अमीर नेता हैं।
जी हां, यह बात पाकिस्तान में बिलावल और उनकी बिल्लो रानी (हिना रब्बानी) के परवान चढ़ते इश्क को उजागर करने वाले बंग्लादेश से प्रकाशित वीकली ब्लिट्स अखबार ने यह खुलासा किया है। अखबार ने खुलासा किया है कि सोनिया गांधी ने 18 अरब अमरीकी डालर्स की रकम विश्व भर में दूरसंचार और अन्य क्षेत्रों में धंधे में लगाया है। इटली में पैदा हुई सोनिया गांधी उर्फ एंटोनिया माईनो के संरक्षण में भारत में करोड़ों अरबों रूपए के घपले घोटालों को अंजाम दिया जा रहा है।
सोनिया गांधी के मरहूम पति पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी भी बोफोर्स तोप घोटाले में बुरी तरह फंस गए थे। मीडिया के पास आए दस्तावेजों से राजीव गांधी बुरी तरह घिर गए थे। उस वक्त बोफोर्स मामले को उछालने वाले उस समय के पत्रकार और आज के भाजपा नेता अरूण शोरी भी आज बोफोर्स मामले में राजीव गांधी को क्लीन चिट देने के मसले में खामोश ही बैठे हैं।
उक्त समाचार पत्र ने लिखा है कि 19 नवंबर 1991 के स्विस अखबार के एक अंक में सोनिया गांधी, राजीव गांधी के अरबों रूपयों के बारे में खुलासा किया गया था। इस अंक में तीसरी दुनिया के दर्जनों राजनेताओं जिनमें राजीव गांधी के नाम का शुमार था के स्विस बैंक में जमा धन के बारे में छापा गया था। इस समाचार पत्र के बारे में यह भी नहीं कहा जा सकता है कि यह विश्वसनीय नहीं है, क्योकि इसकी सवा दो लाख प्रतियों के साथ पाठक संख्या 9 लाख 17 हजार है।
इसमें कहा गया है कि केजीबी रिकॉर्ड का हवाला देते हुए, पत्रिका की रिपोर्ट है कि सोनिया गांधी पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की विधवा 2.5 अरब उनके नाबालिग बेटे के नाम में स्विस बैंक (2.2 अरब डॉलर अमेरिका के बराबर) के साथ गुप्त खाते को नियंत्रित किया गया था। अमेरिका 2.2 अरब डॉलर के खाते जून 1988 से पहले से ही अस्तित्व में है।
बंग्लादेश के इस अखबार ने वैसे भी बिलावल भुट्टो और हिना रब्बानी के संबंधों का खुलासा कर दुनिया भर में तहलका मचा दिया है। लोग इस अखबार को असंजे से ज्यादा टीआरपी वाला बता रहे हैं। इस अखबार ने रूस की खुफिया एजेंसी केजीबी के हवाले से भी सोनिया राहुल और स्व.राजीव गांधी को कटघरे में खड़ा किया है।
इस अखबार ने भारतीय मीडिया पर भी सवालिया निशान लगाए हैं। इसमें इस आशय की कुछ खबरों का तिथिवार भी जिकर किया है जो राजीव सोनिया को कटघरे में खड़ा करती हैं। इसमें कहा गया है कि भारत में 20.80 लाख करोड़ रूपए की लूट की गई है।
इस अखबार ने दुनिया भर के 25 नामी गिरामी और धनाड्य नेताओं की सूची का प्रकाशन किया गया है। इस फेहरिस्त में सबसे उपर साउदी अरब के राजा अब्दुल्लाह बिन अब्दुल अजीज के पास 21 बिलियन डालर, दूसरे स्थान पर बुरनी के सुल्तान हसनल बोल्कीह के पास 20 बिलियन डालर, इसके उपरांत न्यूयार्क के मेयर माईकल ब्लूमबर्ग के पास 18 बिलियन डालर और चौथी पायदान पर भारत गणराज्य के गरीब गुरबों पर आधी सदी से ज्यादा राज करने वाली कांग्रेस की राजमाता श्रीमति सोनिया गांधी को स्थान दिया गया है।
Link :- http://www.janokti.com/?p=31430
प्रस्तुतकर्ता रामदास सोनी पर 10:14 am

1 टिप्पणी:

  1. 65 सालों में कांग्रेस ने जनता के टेक्‍स की चोरी कर विदेशों में जमा किया है। इसमें इस खानदान का सबसे बड़ा हाथ है। 45 हजार करोड़ मायने रखता है कालाधन

    उत्तर देंहटाएं