रविवार, 3 मार्च 2013

'गरीबी और महंगाई के लिए कांग्रेस जिम्मेदार' : नरेंद्र मोदी




'गरीबी और महंगाई के लिए कांग्रेस जिम्मेदार' : नरेंद्र मोदी
आईबीएन-7/Mar 03, 2013
नई दिल्ली। बीजेपी राष्ट्रीय परिषद की बैठक के दूसरे दिन गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र सरकार को अपने निशाने पर लिया। नरेंद्र मोदी ने गरीबी महंगाई के लिए मौजूदा यूपीए सरकार को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि एक परिवार के हितों के लिए देश के हितों की बलि चढ़ाने की परंपरा कांग्रेस की रही है। ऐसा कह मोदी ने सोनिया और राहुल पर सीधा हमला बोल दिया।
नरेंद्र मोदी ने इस सरकार को बीजेपी कार्यकर्ताओं के लिए शर्मनाक बताया और कहा कि कांग्रेस ने सोनिया परिवार के सियासी वजूद को बनाए रखने के लिए सीताराम केसरी सरीखे कमजोर नेता को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया। बाद में केसरी को बाहर निकाल कर अध्यक्ष पद पर कब्जा कर लिया गया।
मोदी ने यूपीए के राज की तुलना रात और अंधेरे से की। नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस सरकार को एनजीओ में काम करने वाले फाइव स्टार एक्टिविस्ट चला रहे हैं। मोदी ने मनमोहन सिंह पर भी हमला बोला और कहा कि अगर देश की बागडोर प्रणब मुखर्जी के हाथों में होती तो देश की ऐसी दुदर्शा नहीं होती।
मोदी ने कहा कि इस देश में एक ही गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री हुए और वो अटल बिहारी वाजपेयी थे। मोदी के मुताबिक कांग्रेस की निष्ठा केवल एक परिवार के प्रति है इसलिए देश पनप नहीं पा रहा। मोदी ने कांग्रेस को भारत के सार्वजनिक जीवन के लिए दीमक करार दिया और कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता अपनी मेहनत से इस दीमक से मुक्ति दिला सकते हैं।
गुजरात के मुख्यमंत्री ने कहा कि देश ने कांग्रेस को उखाड़ फेंकने का फैसला कर लिया है। बीजेपी को केवल ये चिंता करनी है कि खाली जगह को योग्य व्यक्ति से भरा जाए। लेकिन ये व्यक्ति कौन होगा इस पर वो चुप रहे। मोदी ने केंद्र की अटल बिहारी सरकार की तारीफ की और कहा कि दुनिया में चार ताकतें कही जाती हैं लेकिन हमारी चौथी ताकत को लेकर दुनिया भर में संदेह है।
मोदी ने कहा कि देश के जिस हिस्से में भी बीजेपी की सरकार रही वो उपलब्धियों से भरी रही। मोदी ने बीजेपी के दूसरे मुख्यमंत्रियों की भी तारीफ की। नरेंद्र मोदी ने कहा कि बीजेपी सरकारों की कोशिशें जनता के हितों की रक्षा करना रहा है।
मोदी ने राजनीतिक टीकाकारों से अपील की कि वो देश के किसी भी सरकार से बीजेपी के शासन की तुलना करें वो नंबर वन बीजेपी सरकार को ही पाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें