शुक्रवार, 15 मार्च 2013

१५ मार्च २ ० १ ३ की, आज की प्रतिक्रियायें




१५  मार्च २ ० १ ३ की / आज की प्रतिक्रियायें
कमजोरों की नहीं जरूरत,
बल वैभव का विक्रम चाहिये।
बहुत हो चुकी जी हजूरी,
एक के बदले दस सर चाहिये।।
तुम तो चूडी लायक भी नहीं हो,
सैना को बदले का जिम्मा चाहिये।











कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें