रविवार, 12 मई 2013

गंभीर संकट में फंस गया है देश- राजनाथ सिंह




गंभीर संकट में फंस गया है देश- राजनाथ सिंह
नई दिल्ली, शनिवार, 11 मई 2013

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने देश को गंभीर संकट में फंसा दिया है। यूपीए सरकार हर मोर्चो पर फेल हो गई है। राजनाथ ने कहा कि देश की सुरक्षा पर गंभीर खतरा मंडरा रहा है। चीन की घुसपैठ मामले में सरकार स्थिति को स्पष्ट नहीं कर रही है। सरकार बताएं चीन सीमा पर क्या स्थिति है। देश के समक्ष राष्ट्रीय सुरक्षा का सवाल और संकट खड़ा हो गया है।

उन्होंने महंगाई के संदर्भ में कहा कि महंगाई की हालात बद से बदतर हो गई है। महंगाई बढ़ रही है, लेकिन आमदानी नहीं बढ़ी है। यूपीए के राज में लोगों को नौकरी नहीं मिल रही है। सरकार ने गंभीर स्थिति बना दी है। देश में मंदी का खतरा पैदा कर दिया गया है। भ्रष्टाचार सहित हर मोर्चे पर संप्रग सरकार के विफल रहने का आरोप लगाते हुए भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह यदि स्वयं ईमानदारी से आत्मनिरीक्षण करें तो उनके पास इस्तीफे के अलावा और कोई विकल्प नहीं है।

सिंह ने यहां कहा कि आजादी के बाद से शायद यह पहली सरकार है, जिस पर इतने गंभीर आरोप लगे हैं। भ्रष्टाचार के कारण स्थिति बद से बदतर हो गई है। कोलगेट, रेलगेट और खेलगेट...प्रश्न सिर्फ एक या दो मंत्रियों का नहीं है। प्रश्न यह है कि पिछले कुछ दिन से जो चल रहा है, वह व्यवस्था पर गंभीर प्रश्न उठाता है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और सोनिया गांधी (कांग्रेस अध्यक्ष) जवाब दें क्या लोकतंत्र में लोकलाज का कोई महत्व नहीं है? राजनीति में मूल्यों की कोई जगह नहीं है। प्रधानमंत्री आप स्वयं आत्मनिरीक्षण करें कि क्या करना चाहिए? यदि प्रधानमंत्री ने ईमानदारी से आत्मनिरीक्षण किया तो इस्तीफे के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी ‘वाचडॉग’ की भूमिका निभा रही है। हम अपनी लड़ाई संसद के भीतर लड़ चुके हैं और अब सडक पर जाने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा है। उन्होंने ऐलान किया कि 27 मई से दो जून के बीच भाजपा देशभर में जेल भरो आंदोलन करेगी और जगह-जगह पंचायतें कर जनता को संप्रग सरकार की कारगुजारियों से अवगत कराएगी।

राजनाथ सिंह ने कहा कि अब इस सरकार के पास एकमात्र विकल्प यह है कि इसे जाना चाहिए। चुनाव के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। सरकार की साख और विश्वसनीयता समाप्त हो चुकी है।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में पार्टी के अत्यंत खराब प्रदर्शन के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि केवल भाजपा ही ऐसी पार्टी है जो सत्ता दांव पर लगा सकती है पर भ्रष्टाचार कतई बर्दाश्त नहीं कर सकती। कर्नाटक के चुनाव परिणामों के बाद अब भाजपा वहां और अधिक मेहनत करेगी। कर्नाटक में हम जनता के बीच जाएंगे और उसका विश्वास हासिल करेंगे।

सिंह ने उम्मीद जतायी कि जनता समझेगी कि भाजपा उसूल की राजनीति करती है। हम राजनीति केवल सरकार बनाने के लिए नहीं करते। सरकार बनाना भी उसका हिस्सा है।

एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जनता से जुडे महत्वपूर्ण विधेयक मसलन खाद्य सुरक्षा और भूमि अधिग्रहण जैसे विधेयकों को कुछ संशोधनों सहित संसद के आगामी सत्र में पारित कराने में भाजपा सहयोग करेगी। लेकिन सरकार को सावधानी बरतनी होगी कि इस बीच कोई और मामला प्रकाश में न आ जाए।

कर्नाटक सहित तीन राज्यों के हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन और इसी के आलोक में देश के आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के बारे में पूछने पर सिंह ने कहा कि भाजपा की सफलता का समय अब आ गया है। प्रतीक्षा करें। 2014 में भाजपा के नेतृत्व वाली राजग सरकार बनेगी। जब कभी लंबी छलांग लगानी होती है तो चार कदम पीछे हटना पड़ता है। (भाषा)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें