रविवार, 12 मई 2013

प्रधानमंत्री सिंह इस्तीफा दो : भाजयुमो





प्रधानमंत्री आवास पर बीजेपी युवा मोर्चा का हल्ला-बोल

रीमा पाराशर | नई दिल्ली, 12 मई 2013

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के इस्तीफे और यूपीए सरकार के खिलाफ घोटालों तथा भ्रष्टाचार के आरोपों की समुचित जांच की मांग को लेकर उनके आवास की ओर जा रहे बीजेपी की युवा शाखा के सैकड़ों कार्यकर्ताओं को जब पुलिस ने रोका तो दोनों पक्षों के बीच संघर्ष हो गया.
बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ता अपने अध्यक्ष अनुराग ठाकुर की अगुवाई में हाथों में तख्तियां ले कर नारे लगाते हुए औरंगजेब रोड से रेसकोर्स रोड की ओर रवाना हुए. बीजेपी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष विजय गोयल भी अपने समर्थकों के साथ जुलूस में शामिल हो गए.

प्रदर्शनकारियों को तुगलक रोड पुलिस थाना के समीप आगे बढ़ने से रोका गया. इससे पहले बीजेपी युवा कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री का पुतला जलाया और फिर वे रेसकोर्स रोड की ओर बढ़े जहां आपराधिक दंड संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की जा चुकी थी.

रोके जाने पर कार्यकर्ताओं का पुलिस के साथ संघर्ष हुआ और आगे बढ़ने के लिए उन्होंने एक अवरोधक को तोड़ डाला. लेकिन पुलिस ने उन पर पानी की धार छोड़ी और उन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया.

ठाकुर और दिल्ली भाजपा अध्यक्ष विजय गोयल सहित प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेकर समीपवर्ती पुलिस थाने ले जाया गया. बाद में इन लोगों को रिहा कर दिया गया. प्रदर्शन की आशंका के मद्देनजर प्रधानमंत्री के आवास के समीप रेसकोर्स मेट्रो स्टेशन को रविवार सुबह करीब तीन घंटे तक बंद कर दिया गया था.

ठाकुर ने कहा, ‘इस प्रदर्शन के जरिये हम मांग करते हैं कि प्रधानमंत्री अपनी चुप्पी तोड़ें और कांग्रेस तथा उसके मंत्रियों के खिलाफ घोटालों और भ्रष्टाचार के मामलों की समुचित जांच कराएं.’ गोयल ने दावा किया कि हर दिन लोग एक नए घोटाले के बारे में सुनते हैं.

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष ने कहा, ‘देश चाहता है कि यह साफ-साफ बताएं कि पूर्व कानून मंत्री अश्विनी कुमार किसे बचाना चाहते थे. अगर उन्हें लगता है कि उनके पास सचमुच थोड़ी भी विश्वसनीयता बची है तो उसे बचाने के लिए उन्हें तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए.’

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें