मंगलवार, 28 मई 2013

कांग्रेस को ही बताना है कि उनमें कौन था जिसने नक्सलियों के हमले को सफल बनबाया

कांग्रेस को ही बताना है कि उनमें कौन था
जिसने नक्सलियों के हमले को सफल बनबाया


साजिश का शक और गहराया,
परिवर्तन यात्रा के तयशुदा कार्यक्रम में भी किया था बदलाव!
शिव दुबे  |  May 28, 2013,
रायपुर. नंदकुमार पटेल और महेंद्र कर्मा की हत्या की साजिश और गहरा गई है। परिवर्तन यात्रा के तयशुदा कार्यक्रम में किया गया बदलाव कई संदेहों को जन्म दे रहा है।  निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक परिवर्तन यात्रा के तहत कांग्रेस विधायक कवासी लखमा के विधानसभा क्षेत्र (कोंटा) के सुकमा में 22 मई को सभा रखी गई थी। इस दिन सिर्फ यही एक कार्यक्रम तय था, लेकिन बाद में इस मूल कार्यक्रम में दो बड़े बदलाव किए गए।
पहला- सुकमा की 22 मई को होने वाली सभा 25 मई को कर दी गई और दूसरा- सुकमा के साथ ही एक और सभा दरभा में भी रख दी गई और उसी दिन कांग्रेस नेताओं के सुकमा से दरभा जाने के दौरान ही नक्सलियांे ने इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दिया।
यह किसी का आरोप नहीं, बल्कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस की प्रेस विज्ञप्ति से ही साफ हो रहा है। 2 अप्रैल को प्रदेश कांग्रेस की आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया था कि परिवर्तन यात्रा के तहत 22 मई को सुकमा में और 25 मई को अंतागढ़ और दल्लीराजहरा में सभा होनी है|
सामान्य परिस्थितियों में इस बदलाव का कोई महत्व नहीं रहता लेकिन इस गंभीर हादसे के बाद यह सबसे महत्वपूर्ण और चौंकाने वाला बिंदु हो गया है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें