मंगलवार, 18 जून 2013

संघ के वरिष्ठ प्रचारक डा.अमर सिंह का हृदयाघात से निधन


वाराणसी, 18 जून (विसंके.)। पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक एवं वर्तमान में क्षेत्र कार्यकारिणी के सदस्य डा.अमर सिंह का पार्थिव शरीर मंगलवार को मर्णिकाघाट पर पंचतत्व में विलिन हो गया। मुखाग्नि उनके भतीजे अजीत सिंह ने दी। वे अनेक वर्षो से हृदय की बीमारी से पीडि़त थे। सोमवार को रात्रि 9.05 बजे अचानक दर्द के बाद, हृदयाघात से निधन हो  गया । वे लगभग 75 वर्ष के थे। अचानक अपने प्रचारक डा. अमर सिंह के स्वर्गवासी हो जाने से पूरा संघ परिवार शोकाकुल है।
 डा. अमर सिंह महान कर्मयोगी, ध्येयनिष्ठ व सौम्य व्यक्तित्व के धनी थे। उनके व्यक्तित्व से युवा, किशोर, तरुण व प्रौढ़ हर उम्र के स्वयंसेवक प्रभावित होते थे, उनका जीवन बड़ा ही सहज, सरल व विनोदप्रिय रहा। वे अपने चुटुकिले व हास्यभाव से गमगीन माहौल को भी सहज बना देते थे। उनके इस हास्य व्यवहार से ही युवा पीढ़ी उनसे ज्यादा प्रभावित थी। उनके अचानक निधन से संघ को अपूरणीय क्षति हुयी है।
  श्री सिंह 1969 में दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय से भौतिकी में पी-एच.डी करने के बाद अपना पूरा जीवन मां भारती की सेवा के लिए समर्पित कर दिया और सन् 1970 में गोरखपुर से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक निकल गये। वे मुलतः सुलतानपुर के सिंहौली गांव के रहने वाले थे। अपने चार भाइयों में वे सबसे बड़े थे तथा चार बहिनें भी थी। उनकी प्रारम्भिक शिक्षा गांव के प्राथमिक विद्यालय में होने के उपरान्त उच्च शिक्षा के लिए जौनपुर चले गये और तिलकधारी डिग्री काॅलेज से बी.एससी किया, उसके उपरान्त परास्नातक के लिए गोरखपुर विश्वविद्यालय चले गये और वहीं से परास्नातक व पी-एच.डी. करने के बाद संघ के प्रचारक निकले। वे संघ के महानगर, विभाग व सम्भाग प्रचारक के बाद प्रान्त सम्पर्क प्रमुख रहे। सन् 2000 में वे संघ के पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र के प्रचारक प्रमुख बनेे। वे कुछ वर्षो तक विद्याभारती में भी संगठन मंत्री रहे।
     मई-जून माह में लगे संघ के प्रशिक्षण वर्ग में उन्होंने उन्नाव, बस्ती, सुलतानपुर, प्रयाग व फतेहपुर में अपने बौद्धिक से स्वयंसेवकों का मार्गदर्शन भी किया। वे हृदय की बीमारी के बावजूद संघ कार्य के लिए निरन्तर गतिशील रहे।
    उनके अंतिम संस्कार में स्व0 श्री सिंह के भाई इन्द्रसेन सिंह, डा0 शिवप्रताप सिंह व राजमणी सिंह व अन्य परिवार के लोग उपस्थित रहे। प्रमुख रुप से क्षेत्र प्रचारक शिवनारायण, क्षेत्र प्रचारक प्रमुख अशोक उपाध्याय, काशी प्रान्त के प्रचारक श्री अभय कुमार, गोरक्ष प्रान्त के प्रान्त प्रचारक श्री अनिल जी, क्षेत्र बौद्धिक प्रमुख श्री मिथीलेश जी, समग्र ग्राम विकास प्रमुख चन्द्रमोहन जी, विभाग प्रचारक रत्नाकर जी, सुनील जी, प्रयाग विभाग प्रचारक मनोज जी, विधायक श्यामदेव राय चैधरी, रविन्द्र जायसवाल, श्रीमती ज्योत्सना श्रीवास्तव, महापौर रामगोपाल मोहले, डा0 दीनानाथ सिंह, मुकेश त्यागी, विभाग कार्यवाह दीनदयाल, डा0 सुखदेव, बीएमएस के संगठन मंत्री अनुपम, समवैचारिक संगठनों के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं समेत सैकड़ो स्वयंसेवक उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें