गुरुवार, 8 अगस्त 2013

राष्ट्र वंदना : अखंड भारत संकल्प


राष्ट्र वंदना : अखंड भारत संकल्प

14 अगस्त को अखंड भारत दिवस 


ओ भारत के वीर जवानों, माँ का क़र्ज़ चुका देना !!
कटे फटे इस मानचित्र को, अबकी ठीक बना देना !!

पटना साहीब से मीलने को ननकाना बैचेन खड़ा,
अबकी तीरंगा रावलपिंडी में घुस कर फहरा देना  !!
अटक कटक से सिन्धु नदी तक सब कुछ हमको प्यारा है,
कश्मीर मत मांगो कह दो पाकिस्तान हमारा है !!

जो उपवन से घात करे वो शाख तोड़ दी जायेगी,
जो पीछे से वार करे वो बांह मोड़ दी जायेगी !!

जो कुटुंब का नाश करे वो गर्दन तोड़ दी जायेगी,
मेरे देश पे उठती हर एक आँख फोड़ दी जायेगी !!

जो देश द्रोह की बात करे वो मनुष्य हत्यारा है,
कश्मीर मत मांगों कह दो पाकिस्तान हमारा है !!

अपनी झीले, नदीयाँ, पर्वतमाला कैसे दे देंगे?
भारत भर की रूप सुधा का प्याला कैसे दे देंगे?

वैष्णो देवी , बाला अमर उजाला कैसे दे देंगे?
अमरनाथ का बोलो पुण्य शीवाला कैसे दे देंगे?

गंगा से मीलने को झेलम का बैचेन कीनारा है,
कश्मीर मत मांगों कह दो पाकिस्तान हमारा है !!

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें