शुक्रवार, 1 नवंबर 2013

मुझसे सवाल पूछने की बजाय जनता को जवाब दे कांग्रेस : नरेंद्र मोदी



मुझसे सवाल पूछने की बजाय जनता को जवाब दे कांग्रेस: मोदी
divyabhaskar network   |  Nov 01, 2013,
http://www.bhaskar.com/article/GUJ-narendra-modi-in-pune-4422449-PHO.html
पुणे। दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल के एक हिस्से का उद्घाटन करने के लिए पुणे पहुंचे बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर तीखे हमले किए। मोदी ने इस मौके पर कहा, 'देश के कई राज्यों और केंद्र में कभी गठबंधन सरकार बनी, कभी कांग्रेस की, कभी कम्युनिस्टों की सरकार तो कभी बीजेपी की सरकार बनी। आपने कई पार्टियों के शासन को देखा है। देश के राजनीतिक पंडितों, अर्थशास्त्रियों का आह्वान करता हूं। देश में कुछ पैरामीटर तय किए जाएं। किस दल ने क्या किया। अगर इसका तुलनात्मक नतीजा आए तो देश के सामने यह सवाल नहीं आएगा कि बीजेपी की सरकार आनी चाहिए या नहीं। जब-जब जहां-जहां बीजेपी की सरकार बनी है वहां जन आकांक्षाओं की पूर्ति का प्रयास हुआ है।

यह देश गवाह है अटल बिहारी वाजपेयी और मोरारजी देसाई की सरकार में महंगाई कम थी। गरीब आदमी को दो वक्त खाना मिलता था। लेकिन जब कांग्रेस की या उसके समर्थन वाली सरकार बनी तो गरीब आदमी को भरपेट खाना नसीब नहीं हुआ। कांग्रेस का एक भी नेता, यूपीए का एक भी नेता साढ़े नौ साल में क्या किया, इसका जवाब नहीं दे रहे हैं। हमारे देश के मीडिया वाले भी उन तक नहीं पहुंच पाते हैं। कांग्रेस को अहंकार हो गया है। वे मीडिया वालों के भी जवाब नहीं देते। चुनाव लोकसभा के हैं, आप जनता को जवाब दें।

मोदी ने कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल पर हमला बोलते हुए कहा, 'आए दिन मोदी से सवाल पूछे जा रहे हैं। 2014 में जब जनता बीजेपी को आशीर्वाद देगी, तब हर वर्ष जनता के सामने अपने काम का हिसाब पेश करेगी। लोकतंत्र में दिल्ली में शासक नहीं, सेवक बैठना चाहिए। दिल्ली में कोई नाथ नहीं हो सकता वहां सिर्फ दास होने चाहिए। कांग्रेसी मित्र आए दिन गुब्बारे छोड़ते रहते हैं। मोदी जवाब दे। मोदी जवाब दे। कांग्रेसी मित्रो, हमने तो 10 महीने पहले ही एग्जाम दिया है। लोकतंत्र में जनता ही इम्तिहान लेती है।'
---------------------
इसलिए मैं आपके सामने जिंदा हूं: नरेंद्र मोदी
ibnkhabar.com | Nov 01, 2013
http://khabar.ibnlive.in.com/news/111087/12
पुणे। बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी आज पुणे पहुंचे और अपने भाषण के दौरान कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। मोदी ने कांग्रेस को महंगाई के मुद्दे पर घेरा। साथ ही मोदी ने कांग्रेस सरकार पर उन्हें सीबीआई द्वारा फंसाने की कोशिश का भी आरोप लगाया।

पुणे में दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल का उद्घाटन करने के बाद अपने संबोधन में मोदी कांग्रेस और यूपीए सरकार पर खूब गरजे। मोदी ने कहा कि पिछले 12 साल में कोई दिन ऐसा नहीं है जब इन्होंने मुझपर जुल्म ना किए हों। अगर ईश्वर ने मुझे सही रास्ते पर चलने की शक्ति नहीं दी होती तो मैं जिंदा भी नहीं रह पाता। सच्चाई का रास्ता है और जनता का आशीर्वाद है कि मैं आपके सामने जिंदा हूं।

मोदी ने कहा कि मेरे पीछे सीबीआई को लगा दिया गया है। अब इन्हें सीबीआई पर भी भरोसा नहीं रहा है। अब पता नहीं कौन सा रास्ता अपनाएंगे। लेकिन मुझे देश की जनता पर भरोसा है। हम जीएंगे तो आपके लिए और अगर जरूरत पड़ी तो ये जीवन भी आपके लिए देंगे।

मोदी ने कहा कि दिल्ली में बैठी सरकार अपने कार्यकाल में क्य़ा किया, इसका जवाब नहीं दे रही है। हमारे देश के मीडिया के लोग भी उन तक पहुंच नहीं पाते हैं। मीडिया की बातों का जवाब नहीं देते हैं। कांग्रेस को इतना अहंकार हो गया है कि मीडिया को जवाब नहीं देती है।

आए दिन मोदी से सवाल पूछे जा रहे हैं। मैं देश की जनता को वादा करता हूं। 2014 में जब देश की जनता बीजेपी को आशीर्वाद देगी। भाजपा हर साल जनता के सामने अपना हिसाब प्रस्तुत करेगी। लोकतंत्र में दिल्ली में शासक नहीं सेवक होना चाहिए। कांग्रेस आए दिन मुझ पर कीचड़ उछालती रहती है। 2012 में गुजरात विधानसभा में भी कांग्रेस ने 5 साल तक यही किया। लेकिन जनता ने बीजेपी को ही मौका दिया। हम तो अभी एक्जाम दे चुके हैं। हमारे काम का हिसाब हम देकर आए हैं।

मोदी ने कहा, मैं आज यूपीए सरकार से सवाल पूछता हूं कि यूपीए सरकार ने 100 दिन में महंगाई कम करने का वादा किया था। क्या महंगाई घटी, ये वादाखिलाफी है या नहीं। जो झूठे वादे करते हैं उन्हें एक पल भी दिल्ली में रहने का अधिकार नहीं है। जिन्होंने वादाखिलाफी की है उनको सीख देनी चाहिए या नहीं। आज ऐसी आंधी आई है कि कांग्रेस का बचना मुश्किल है। मोदी ने कहा कि इस सरकार में महंगाई के चलते गरीब आदमी दो वक्त का खाना नहीं खा पा रहा है। लोकतंत्र में जो भी सरकार हो उसकी जनता के प्रति जवाबदेही होनी चाहिए। जनता को जवाब मांगने का अधिकार है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें