मंगलवार, 17 दिसंबर 2013

भारतीय राजनयिक के अपमान पर कड़ा रुख


अमरीकियों का व्यवहार हमेशा ही गैर इसाईयों के प्रति अमानवीय, क्रूर और घ्रणास्पद स्वरूप में सामने आता रहा है फिर भी हम लगातार उनकी गुलामी में लगे रहते हैं।

देवयानी के अपमान पर भड़का भारत, 
यूएस राजयनिकों से वापस मांगे आई कार्ड
Tue, 17 Dec 2013
नई दिल्ली। अमेरिका में भारतीय राजनयिक के अपमान पर कड़ा रुख अपनाते हुए भारत ने देश में स्थिति सभी अमेरिकी राजनयिकों से आई कार्ड लौटाने को कहा है। इस बीच, गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने भी विरोध स्वरूप वरिष्ठ अमेरिकी कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल के साथ आज होने वाली बैठक को रद्द कर दिया।
अमेरिका में भारतीय राजनयिक की गिरफ्तारी की घटना का असर दोनों देशों के रिश्तों पर दिखने लगा है। इससे पहले घटना के विरोध स्वरूप लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने भारत दौरे पर आए वरिष्ठ अमेरिकी सांसदों के प्रतिनिधिमंडल के साथ अपनी प्रस्तावित मुलाकात को रद्द कर दिया। बताते हैं कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन भी इसी वजह से अमेरिकी सांसदों से नहीं मिले।
न्यूयॉर्क में तैनात भारत की उप महावाणिज्य दूत देवयानी खोबरागडे को अपनी नौकरानी के वीजा आवेदन में धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बाद में हालांकि उन्हें निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया था। लेकिन, इस घटना पर भारत ने अमेरिका के समक्ष कड़ा एतराज जताते हुए नई दिल्ली में अमेरिकी राजदूत नैंसी पावेल को तलब किया था। वाशिंगटन स्थित भारतीय दूतावास ने भी अमेरिकी सरकार से राजनयिक के साथ बदसलूकी की घटना पर विरोध दर्ज कराया था।
पढ़ें : अमेरिका में भारतीय राजनयिक के कपड़े उतरवाकर ली तलाशी
सूत्र बताते हैं कि मीरा कुमार ने पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से फिलवक्त मुलाकात करना उचित नहीं समझा और प्रस्तावित बैठक को रद्द कर दिया।
--------------
अमेरिका में भारतीय राजनयिक के कपड़े उतरवाकर ली तलाशी
Tue, 17 Dec 2013
न्यूयॉर्क। वीजा धोखाधड़ी और घरेलू नौकरानी का आर्थिक शोषण करने के आरोप में गिरफ्तार भारतीय राजनयिक देवयानी खोबरागडे की कपड़े उतरवाकर तलाशी लेने की बात सामने आने के बाद हर कोई सन्न है। इस घटना से व्यथित होकर लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन ने अमेरिकी कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात का कार्यक्रम रद कर दिया।
भारतीय राजनयिक के साथ बदसलूकी की घटना इतने पर ही नहीं थमी बल्कि उन्हें पुलिस स्टेशन में सेक्स वर्करों, अपराधियों और नसेड़ियों के बीच खड़ा किया गया। साथ ही उनकी डीएनए स्वेबिंग भी की गई। भारत ने अपने राजनयिक के साथ किए गए इस तरह के दु‌र्व्यवहार के खिलाफ अमेरिका से रोष व्यक्त किया है। इससे पहले भी भारत देवयानी को हथकड़ी पहनाने से काफी खफा था और इस पर आपत्ति भी दर्ज कराई गई थी। भारत के मुताबिक अमेरिका ने इस संबंध में राजनयिकों को मिले अधिकारों का सम्मान नहीं किया है।

गौरतलब है कि देवयानी को पिछले दिनों वीजा धोखाधड़ी के आरोप में उस वक्त गिरफ्तार किया गया था जब वह अपनी बेटी को स्कूल छोड़ने जा रही थीं। उसी वक्त पुलिस ने उन्हें सार्वजनिक तौर पर हथकड़ी लगाई थी। । देवयानी 1999 बैच की भारतीय विदेश सेवा की अधिकारी हैं। हालांकि बाद में उन्हें ढाई लाख डॉलर के बॉण्ड पर जमानत दी गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें