बुधवार, 4 दिसंबर 2013

शरीफ सुनले , विभाजन खत्म कर पाकिस्तान भारत को वापस लेना है





भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध कभी भी...
बुधवार, 4 दिसंबर 2013
मुजफ्फराबाद। आमतौर पर उदार चेहरा माने जाने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा है कि कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच कभी भी युद्ध हो सकता है। हालांकि बाद में इस बारे में खंडन भी जारी किया गया कि बयान को गलत संदर्भ में पेश किया गया।

पाकिस्तानी अखबार डान में प्रकाशित खबर के मुताबिक शरीफ ने मंगलवार को मुजफ्फराबाद में कहा कि यदि कश्मीर मसले का हल संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव और कश्मीर के लोगों की आकांक्षाओं के अनुकूल नहीं होता है तो इन दो परमाणु शक्तियों के बीच कभी भी चौथा युद्ध हो सकता है। शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान हथियारों की दौड़ में शामिल नहीं होना चाहता, लेकिन भारत की वजह से उसे ऐसा करना पड़ता है।

शरीफ ने मुजफ्फराबाद में पाक अधिकृत कश्मीर की परिषद के बजट सत्र को संबोधित करते कहा कि कश्मीर मुद्दा सुलझाए बिना बगैर क्षेत्र में शांति स्थापित नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि उन्होंने सभी मंचों और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ हालिया बैठक में कश्मीर मुद्दा उठाया था।
-----------------------------
नवाज शरीफ की धमकी, कश्‍मीर मुद्दा नहीं सुलझा तो भारत से होगा चौथा युद्ध
dainikbhaskar.com   |  Dec 04, 2013
इस्‍लामाबाद. जम्‍मू-कश्‍मीर में भाजपा के पीएम कैंडिडेट नरेंद्र मोदी की रैली के बाद भारत में चल रही धारा 370 पर बहस के बीच पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि अगर कश्‍मीर मुद्दा जल्‍द से जल्‍द नहीं सुलझाया गया तो भारत-पाक के बीच चौथा युद्ध हो सकता है। पाकिस्‍तान के अखबार 'डॉन' ने शरीफ को कोट करते हुए लिखा- कश्‍मीर एक ऐसा मुद्दा है, जिसे लेकर दोनों परमाणु संपन्‍न मुल्‍कों के बीच कभी भी चौथ युद्ध छिड़ सकता है, इसलिए हमें इस मुद्दे को युद्ध की नौबत आने से पहले सुलझा लेना चाहिए। मेरा यह सपना है कि कश्‍मीर मुद्दा मेरे जीते जी हल हो जाए।

'डॉन' के मुताबिक, शरीफ ने यह बात हाल में गुलाम कमीर के बजट सत्र को संबोधित करते हुए कही। उन्‍होंने भारत पर कश्‍मीर को लेकर गंभीरता न दिखाने का भी आरोप लगाया। शरीफ ने कहा कि भारत सरकार की ओर से जम्मू-कश्मीर को बार-बार अपना अभिन्न अंग बताना इस प्रमुख मुद्दे को हल करने को लेकर उसके रुख में गंभीरता की कमी जाहिर करता है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें