रविवार, 19 जनवरी 2014

सुनंदा पुष्कर : आत्महत्या या हत्या : जिम्मेवार शशी थरूर !



सुनंदा पुष्कर ने आत्महत्या की हो या उसकी हत्या हुई हो ,
जिम्मेवार हर हाल में एक ही है , वह है शशी थरूर !
कांग्रेस सरकार के होते , सच्च्चाई सामनें आये यह मुस्किल लगता है !



http://zeenews.india.com/hindi/news

सुनंदा मौत मामले में नलिनी सिंह से होगी पूछताछ, फ्लाइट में सुनंदा और थरूर में हुआ था झगड़ा
Sunday, January 19, 2014,

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुंनदा पुष्कर की मौत का रहस्य अभी भी बरकरार है। मौत की गुत्थी सुलझाने की कोशिश कर रही दिल्ली पुलिस अब पत्रकार नलिनी सिंह से पूछताछ करेगी क्योंकि सुनंदा ने मौत से एक रात पहले नलिनी सिंह से फोन पर बात किया था। नलिनी सिंह ने भी 16 जनवरी को सुनंदा से फोन पर बात करने की बात कही है। साथ ही नलिनी सिंह ने बताया कि सुनंदा ने परेशान होने की बात कही थी। वरिष्ठ पत्रकार नलिनी सिंह ने सुंनदा की मौत पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि शायद सुंनदा ने उन्हें ही आखिरी कॉल की थी। उधर एक अखबार ने बताया कि सुनंदा और शशि थरूर के बीच मेहर तरार को लेकर तिरुअनंतपुरम से दिल्ली आते समय फ्लाइट में झगड़ा हुआ था।

नलिनी सिंह ने बताया कि उसने मुझे 16-17 की आधी रात को कॉल की थी। मैंने उन्हें फिर दोबारा से कॉल किया। वह बहुत ही ज्यादा दुखी थी और फोन पर रो रही थी। मैंने उसे खूब समझाने की कोशिश की कि हर कोई उससे कितना प्यार करता है। मैंने हर वो बात सुनी जो वह कहना चाहती थीं। सुनंदा ने मुझे मेहर तरार के बारे में बताया। मेहर से सुंनदा बहुत दुखी थी। नलिनी सिंह ने बताया कि दोनों ने शशि थरूर और मेहर तरार के बारे में भी बातें की थी। हमने थरूर और तरार के बीच हुई ईमेल के जरिए बातचीत के बारे में भी चर्चा की। नलिनी सिंह ने बताया कि उनकी बातों से लग रहा था कि सुंनदा बीमार है लेकिन मैं बातचीत से बिल्कुल भी अंदाजा नहीं लगा पाई थी कि वह अपने आपको इस हालत में पहुंचा देगी। वह बहुत ज्यादा परेशान थी और मैंने उसे हर एक बात को भूलने के लिए कहा। साथ ही बताया कि हर कोई उससे कितना प्यार करता है।

फ्लाइट में सुनंदा और थरूर में हुआ था झगड़ा
एक अखबार के अनुसार 15 जनवरी को केंद्रीय मंत्री शशि थरूर और उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर के बीच तिरुअनंतपुरम से दिल्ली आते समय फ्लाइट में झगड़ा हुआ था। इन दोनों के बीच झगड़े का कारण पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार थी। अखबार के मुताबिक सुनंदा रोती हुई एयरपोर्ट से बाहर निकली थीं। इस झगड़े को विमान में सवार दूसरे यात्रियों ने भी देखा था। सिर्फ इतना ही नहीं केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी जो कि मुंबई से इस विमान में सवार हुए थे, उन्होंने भी थरूर दंपति का झगड़ा देखा था और बीच बचाव किया था। अखबार के अनुसार सुनंदा की मौत से तीन दिन पहले तक दोनों के बीच पाकिस्तानी पत्रकार को लेकर विवाद चल रहा था।

सुनंदा पुष्कर का हुआ अंतिम संस्कार
उधर, सुनंदा पुष्कर का अंतिम संस्कार शुक्रवार को उनके परिजनों की मौजूदगी में कर दिया गया। सुनंदा के 21 वर्षीय बेटे शिव मेनन ने मुखाग्नि दी। इस दौरान सुनंदा के पति केन्द्रीय मंत्री शशि थरूर, उनके पिता और भाई सहित अन्य परिजन लोधी रोड स्थित श्मशानघाट पर मौजूद थे। इससे पहले, उनके शव को एम्स से थरूर के लोधी एस्टेट स्थित आवास ले जाया गया जहां रक्षा मंत्री एके एंटनी, प्रवासी भारतीयों के मामले के मंत्री व्यालार रवि और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित सहित बड़ी संख्या में नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। अंतिम संस्कार करने वाले मेनन सुनंदा की पिछली शादी से जन्मे बेटे हैं। डॉक्टर सुधीर के गुप्ता के नेतृत्व में डाक्टरों के तीन सदस्यीय पैनल ने एम्स में सुनंदा के शव का पोस्टमार्टम किया। महिला उद्यमी 52 वर्षीय सुनंदा शुक्रवार शाम दक्षिण दिल्ली के लीला पैलेस होटल में मृत मिली थीं। उन्होंने अगस्त, 2010 में थरूर से शादी की थी।

सुनंदा और थरूर इस सप्ताह विवादों के केंद्र में थे जब यह खबर आयी थी कि सुनंदा अपने पति और पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के बीच ट्विटर संवादों के आदान-प्रदान से बेहद आहत थीं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें