शनिवार, 25 जनवरी 2014

'सपा-बसपा-काग्रेस, सबका मालिक एक' - नरेंद्र मोदी



भीड़ देखकर गद गद मोदी : यूपी ने कर लिया है विकास का रुख
Thu, 23 Jan 2014

लखनऊ। गोरखपुर में विजय शंखनाद रैली में उमड़ी भीड़ से गदगद भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह संकेत है कि जनता ने कांग्रेस की विदाई तय कर ली है, कांग्रेस मुक्त भारत का संकल्प ले लिया है। सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि नेता जी (मुलायम सिंह यादव) की हैसियत नहीं है कि वह उत्तर प्रदेश को गुजरात बना सकें। मोदी ने गुजरात मॉडल की जमकर तारीफ करते हुए पूर्वाचल के युवाओं को सपने दिखाए।

महानगर के मानबेला मैदान में कुल 46 मिनट के संबोधन में उन्होंने कहा कि भीड़ देख कर लग रहा है कि उत्तर प्रदेश ने हर क्षेत्र में एक दूसरे से आगे निकलने की स्पर्धा ठान ली है। यहां की हर रैली पिछली रैली का रिकार्ड तोड़ देती है। आज जनता की आवाज बनारस की गलियों में भी गूंज रही है। चुनाव बहुत देखे हैं, लेकिन यह ऐसा चुनाव है, जिसका फैसला देश के कोटि-कोटि जनों ने कर दिया है। कांग्रेस मुक्त भारत हो कर रहेगा नजारा साफ कह रहा है। वहीं सपा प्रमुख को जवाब देते हुए मोदी ने कहा कि मुलायम की हैसियत नहीं है कि वह यूपी को गुजरात बना सकें मोदी ने कहा कि बाप-बेटे मेरा पीछा नहीं छोड़ रहे। नेता जी ने कहा कि मोदी में हिम्मत नहीं कि वो यूपी को गुजरात नहीं बना सकते। गुजरात का मतलब है 24 घटे 365 दिन गांव - गांव बिजली। गली-गली में बिजली। यूपी को गुजरात बनाने के लिए 56 इंच का सीना लगता है। गुजरात बनाने का मतलब होता है लगातार 10 साल तक कृषि क्षेत्र में अव्वल। 3-4 फीसद पर लुढ़क जाना नहीं । गुजरात शाति, सदभाव लेकर आगे बढ़ रहा है। विकास का मंत्र लेकर आगे बढ़ रहा है। आप नहीं कर सकते हो नेताजी। आप को इतना समर्थन मिला है, क्या किया है आपने लोगों के लिए। न सुरक्षा, न रोजगार न सम्मान दे पा रहे हो। इतने बड़े प्रदेश को बर्बाद करके रख दिया है। मोदी ने स्थानीय सामाजिक समीकरणों को साधने और सरदार पटेल के नाम पर ध्रुवीकरण की कोशिश भी दिखाई दी। उन्होंने कहा, मुझे उत्तर प्रदेश के नौजवानों का विशेष अभिनंदन करना है। 15 दिसंबर को सरदार पटेल की पुण्यतिथि थी और उस दिन पूरे देश में श्रद्धाजलि देने के लिए देश भर में एकता दौड़ का आयोजित कराई गई। यूपी के हर कोने में लाखों नौजवान एक साथ सरदार पटेल के लिए दौड़े और यह विश्व रिकॉर्ड बन गया। काग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि 60 सालों के बावजूद देश बुरी हालत में है, गरीब को गरीब बनाए रखने में ही काग्रेस की राजनीतिक सफलता है. मोदी ने कहा कि लोकसभा चुनाव का ट्रेलर दिसंबर में दिख चुका है. बीएसपी पर परोक्ष रूप से प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि कुछ लोग समझते हैं कि गरीब, दलित, आदिवासी और हाशिए के लोग उनकी जेब में हैं और वे उनका वोट बैंक की तरह इस्तेमाल करते हैं। कांग्रेस की मानसिकता की दलित विरोधी है।

कृषि विकास दर बढ़ाने के लिए त्रिस्तरीय खेती पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि एक तिहाई खेती, एक तिहाई पशुपालन और मेड़ों पर पेड़ लगाने की जरूरत है।

'सपा-बसपा-काग्रेस, सबका मालिक एक'

मोदी ने प्रदेश की पार्टियों पर वार करते हुए कहा कि सबका मालिक एक होता है. स माने सपा, ब माने बसपा, क माने काग्रेस, और तीनों का मालिक, सबको पता है कौन है मालिक। ये सबका मालिक एक। इन्होंने विकास को किनारे कर वोटबैंक पर ध्यान दिया।

पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा कि सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि समाज को बांटने का काम सपा कर रही है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उमड़ी भीड़ सेकुलरिज्म के नाम पर तमाचा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें