रविवार, 19 जनवरी 2014

आए थे PM कैंडिडेट लेने, 3 सिलिंडर लेकर लौटे: नरेंद्र मोदी



आए थे पी एम  कैंडिडेट लेने, 3 सिलिंडर लेकर लौटे: नरेंद्र मोदी
नवभारतटाइम्स.कॉम | Jan 19, 2014,
नई दिल्ली
रामलीला मैदान में आयोजित बीजेपी की नैशनल काउंसिल की मीटिंग में पार्टी के पीएम कैंडिडेट नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस और यूपीए सरकार को जमकर निशाने पर लिया। मोदी ने कहा कि देश ने करप्शन का इतना विकराल रूप कभी नहीं देखा। हम देश को बचाने में लगे हुए हैं, वहीं कांग्रेस पार्टी खुद को बचाने की जद्दोजहद में जुटी हुई है। उन्होंने कहा कि अगला चुनाव खास है। इस बार एक नामदार (राहुल गांधी) और मेरे जैसे कामदार व्यक्ति के बीच चुनाव है। साथ ही उन्होंने कहा कि असल में मैं छोटी जाति का हूं और वे (नेहरू-गांधी परिवार) प्रतिष्ठित परिवार से हैं। इसी कारण वह मुझ जैसे लोगों से मुकाबला नहीं करना चाहते हैं और यही वजह है कि उन्होंने पीएम कैंडिडेट की घोषणा नहीं की है। उन्होंने राहुल पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस के अधिवेशन में कार्यकर्ता पीएम कैंडिडेट को लेने आए थे, लेकिन लेकर गए 3 सिलिंडर।

करप्शन का विकराल रूप
रामलीला मैदान में मोदी ने कहा, '2 दिन से हम रामलीला मैदान में देश की राजनीति की चिंता कर रहे हैं। 2014 के चुनाव पिछले चुनावों से हर प्रकार से भिन्न हैं। इसके पहले देश की ऐसी दुर्दशा कभी किसी ने नहीं देखी। दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश नेता और नीति विहीन हो, ऐसा वक्त कभी किसी ने नहीं देखा। करप्शन का इतना विकराल रूप देश ने कभी नहीं देखा। नौजवान बेरोजगारी से परेशान हैं। आम आदमी महंगाई से परेशान है।'
कांग्रेस खुद को बचाने में जुटी
मोदी ने कहा, '2014 का चुनाव सिर्फ सत्ता परिवर्तन का नहीं, बल्कि भारत के लोगों के लिए आशा और अरमानों का चुनाव है। यह देशवासियों के सपनों का चुनाव है। हाल में दिल्ली की धरती पर 2 राष्ट्रीय दलों की बैठकें हुई हैं। एक कांग्रेस की और दूसरी बीजेपी की। कांग्रेस की मीटिंग में दल को बचाने की कोशिश हो रही थी और हम देश बचाने की कोशिश में लगे हैं।'

राहुल पर निशाना
मोदी ने इशारों-इशारों में कांग्रेस की दिल्ली बैठक पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'कांग्रेसी कार्यकर्ता देश भर से पार्टी के पीएम कैंडिडेट के चुनाव की उम्मीद लेकर आए थे, लेकिन लौटे सिर्फ 3 गैस सिलिंडर लेकर।' गौरतलब है कि उस बैठक में राहुल ने एलपीजी सिलिंडर कोटा को 9 से बढ़ाकर 12 कर देना का पीएम से आग्रह किया था।

कांग्रेस की मानसिकता सामंतवादी
नरेंद्र मोदी ने कहा, 'इन दिनों चायवाले की बड़ी खातिरदारी हो रही है। देश का हर चायवाला सीना तान कर घूम रहा है। चायवाले से भिड़ने में उन्हें (कांग्रेस) बड़ी शर्मिंदगी हो रही है? यह बहुत ईमानदार है। उन्हें ईमानदार से मुकाबला करने में शर्म महसूस होती है।' उन्होंने कहा कि ये बयान कांग्रेसियों की सामंतवादी मानसिकता को दर्शाता है।

मां बेटे को बचा रही है
मोदी ने कहा, 'वे नामदार हैं, हम कामदार हैं। हार के डर से कांग्रेस ने राहुल को पीएम कैंडिडेट नहीं बनाया। चुनाव से भागने के कांग्रेस के कई कारण हो सकते हैं। राजनीतिक कारण के अलावा मानवीय कारण भी हैं। विनाश सामने नजर आ रहा है तो, क्या कोई मां कोई अपने बेटे को बलि चढ़ाने के लिए तैयार होगी? मां के मन से आवाज आई, मेरे बेटे को बचाओ।'

कांग्रेस की परंपरा पर हमला
मोदी यहीं नहीं रुके। वह आगे बोले, 'पीएम कैंडिडेट पर लोकतांत्रिक प्रकिया की बात करने वाली कांग्रेस उस वक्त कहां थी जब देश आजाद होने के बाद नेहरू पीएम बने थे। लोग सरदार पटेल को पीएम बनाना चाहते थे। इंदिरा जी की हत्या के कुछ ही देर बाद राजीव गांधी को पीएम बनाया गया। क्या कांग्रेस ने उस वक्त पीएम को चुना था? मनमोहन सिंह को सोनिया जी ने नॉमिनेट किया और वह पीएम बन गए।'

कांग्रेस की नीतियों पर हमला
नरेंद्र मोदी ने कहा, 'संतुलित विकास हमारा सपना है। आजादी के इतने सालों बाद आखिर हमारी नीतियों और काम में ऐसी क्या कमी थी कि देश का पूर्वी हिस्सा विकास के लिए तड़प रहा है। आजादी की जंग जैसी भावना है 2014 के चुनाव को लेकर। नई पीढ़ी सुराज के लिए जीवन देने को तैयार है। हम स्थिति को बदलने का वादा करते हैं।'

कांग्रेस की सोच पर चोट
नरेंद्र मोदी ने राहुल गांधी के उस भाषण का भी मजाक उड़ाया, जिसमें उन्होंने (राहुल) कहा था कि कांग्रेस एक सोच है। मोदी ने कहा, 'हम भी मानते हैं कि कांग्रेस पार्टी एक सोच है। उनकी सोच है भारत मधुमक्खी का छत्ता है, हम मानते हैं भारत हमारी माता है। उनकी सोच है वंशवाद, हमारी सोच है राष्ट्रवाद। वे सोचते हैं पैसे पेड़ पर नहीं उगते, हमारी सोच है पैसे खेतों-खलिहानों में उगते हैं।

5 'T' पर बल देने की जरूरत
मोदी ने कहा, 'पहले लोग 'मेड इन जापान' चीजें खरीदते थे। अब वक्त है 'मेड इन इंडिया का।' हमें पांच 'T' पर बल देने की जरूरत है- टैलंट, टूरिजम, ट्रेडिशन, ट्रेड और टेक्नॉलजी।' उन्होंने देश में और IIT, IIM और AIIMS खोले जाने की वकालत की।

आडवाणी के सपने को पूरा करेंगे
उन्होंने कहा कि आडवाणी जी ने काले धन को लेकर जो अभियान चलाया है... उसे वापस लाने का जो सपना देखा है, उसे जरूर पूरा करेंगे। हम विदेशों में जमा भारत का काला धन वापस लाएंगे। हम कालाबाजारी के लिए स्पेशल कोर्ट बनाएंगे।



नई दिल्ली (एसएनएन): भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक के अंतिम दिन पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. मोदी ने कांग्रेस के शासनकाल पर टिप्पणी करते हुए कहा कि देश में ऐसी भ्रष्ट सरकार पहले कभी नहीं रही. मोदी के भाषण की मुख्य बातें इस तरह हैं.

1- जैसा भ्रष्टाचार यूपीए सरकार में हुआ ऐसा पहले कभी नहीं देखा.

2- कांग्रेस खुद को बचाने की जद्दोजहद में जुटी है.

3- देशभर से कांग्रेस कार्यकर्ता पीएम उम्‍मीदवार लेने आए थे, लेकिन उन्‍हें तीन सिलेंडर लेकर वापस भेज दिया गया.

4- डर से कांग्रेस ने पीएम उम्‍मीवाद घोषित नहीं किया.

5- अगर हार सामने दिख रही हो तो कौन मां अपने बेटे की बलि चढ़ा देगी.

6- आजादी की जंग जैसी भावना 2014 के चुनाव में है.

7- 2014 का चुनाव बिल्‍कुल अलग होगा.

8- नई पीढ़ी बदलाव लिए जीवन देने को तैयार हो.

9- संघीय ढांचे को अच्‍छी तरह समझता हूं, हम स्थिति को बदलने का वादा करते हैं.

10- हमारा संतुलित विकास में भरोसा है.

11- कुछ करने का इरादा होना चाहिए, दिल में जज्‍बा होना चाहिए.

एक्‍ट-एक्‍ट बहुत हो चुका, अब एक्‍शन चाहिए: मोदी

12- सत्‍ता में आए तो पिछड़े हिस्‍सों को आगे बढ़ाएंगे.

13- पीएम हर चीज के लिए कमेटी बना देते हैं, देश को कमेटी नहीं कमिट्मेंट चाहिए.

14- हम उन लोगों को टिकट देंगे जिनके दिल में भारत हो. (राहुल गांधी के उस बयान पर हमला जिसमें उन्होंने कहा था कि लोकसभा चुनाव के लिए टिकट उन उम्मीदवारों को मिलेंगे जिनके दिल में कांग्रेस होगी.)

15- हमारा लोकतंत्र हमें विश्‍व की आंख में आंख मिलाकर बात करने का मौका देता है.

16- हम ज्ञान के उपासक हैं.

17- देश का शासक नहीं, सेवक की जरूरत है.

18- युवाओं को हुनरमंद बनाने की जरूरत है.

19- आडवाणी जी के सपने को पूरा करेंगे.

20- देश में रेलवे की तरफ ध्‍यान नहीं दिया गया.

21- कालाबाजारी पर विशेष कोर्ट बने.

22- महंगाई बढ़ने पर फंड का इस्‍तेमाल हो.

23- देश के चार हिस्‍सों को बुलेट ट्रेन से जोड़ेंगे.

24- शहरीकरण अवसर है, मुसीबत नहीं, हम 100 नए स्‍मार्ट शहर बना सकते.

25- विकास के लिए सही नीति की जरूरत है.

26- बड़े शहरों के करीब ही सेटेलाइट सिटी बननी चाहिए.

27- देश को एक और श्‍वेत क्रांति की जरूरत है.

28- नदियों को जोड़ने के काम को बढ़ाने की जरूरत है.

29- हर राज्‍य में आईआईटी, आईआईएम और एम्‍स हो.

30- पर ड्रॉप, मोर क्रॉप के कॉन्‍सेप्‍ट पर काम करने की जरूरत.

31- हम स्‍वास्‍थ्‍य की चिंता कम करते हैं.

32- इलाज नहीं बीमारी रोकने की बात होनी चाहिए.

33- ब्रांड इंडिया पर बल देने की जरूरत है.

34- 4टी पर बल देने की जरूरत.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें