मंगलवार, 18 फ़रवरी 2014

नकली गांधी चला रहे हैं कांग्रेस - नरेंद्र मोदी




मोदी ने कहा-नकली गांधी चला रहे हैं कांग्रेस

एबीपी न्यूज/एजेंसी / मंगलवार, १८ फ़रवरी २०१४

दावंगेरे. नरेंद्र मोदी आज कर्नाटक के दावणगेरे में हुई रैली के दौरान कांग्रेस पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए जमकर बरसे. लेकिन बीजेपी के इसी मंच पर भ्रष्टाचार के आरोपी बी एस येदुरप्पा मोदी के कंधे से कंधा मिलाकर खड़े थे.

मोदी और येदुरप्पा का ये साथ विरोधियों को जवाबी हमले का बड़ा मौका दे सकता है. मोदी के साथ खड़े ये वही येदुरप्पा हैं जिन पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं. यहां तक कि भ्रष्टाचार के आरोपों की वजह  से इन्हें कर्नाटक के सीएम की कुर्सी गंवानी पड़ी और बीजेपी का साथ भी. येदुरप्पा के जाने के बाद बीजेपी कर्नाटक में बुरी तरह हारी औऱ अब जीत के जुगाड़ में इन्हें बीजेपी ने फिर अपने साथ खड़ा कर लिया. मोदी ने अपने भाषण में येदुरप्पा की जमकर तारीफ भी की.

गुजरात के मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस पर एक परिवार का नियंत्रण है और पार्टी में कोई लोकतंत्र नहीं है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की दो दिवसीय गुजरात यात्रा (15-16 फरवरी) का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि वह राहुल के उस दावे से अचंभित हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस में कोई हाईकमान नहीं है.

उन्होंने कहा, "क्या आप राहुल की इस बात पर विश्वास करते हैं कि कांग्रेस में कोई हाईकमान नहीं है? हाईकमान के बगैर कांग्रेस का कोई मतलब है? एक परिवार इसे चलाता है. कांग्रेस में कोई लोकतंत्र नहीं है." नरेंद्र मोदी ने नेहरू-गांधी परिवार पर निशाना साधा है. मोदी ने कहा है कि अब नकली गांधी देश चला रहे हैं.

दावनगेरे में रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने लोगों से कांग्रेस के एक दशक के शासन की समाप्ति की अपील की.

मोदी ने कहा, "अगर आप देश बचाना चाहते हैं, तो एक ही मंत्र है कि देश को अगले चुनाव में कांग्रेस मुक्त कराएं."

कांग्रेस को अहंकारी करार देते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी ने एक परिवार की सत्ता को बरकरार रखते हुए देश को बर्बाद कर दिया और पार्टी को अपने वंशवादी नेतृत्व और अन्य कारणों की वजह से मुश्किलों का सामना करना पड़ा.

45 मिनट के अपने भाषण में मोदी ने कहा, "महात्मा गांधी के समय में कांग्रेस के पास एक उत्कृष्ट विचार था. लेकिन नकली गांधियों के पार्टी पर नियंत्रण करने के बाद से यह विचार नाटकीय रूप से बदल गया. इसके नेता सोचते हैं कि सिर्फ इन्ही के पास बुद्धि है और अन्य बुद्धिहीन हैं."

उन्होंने लोकसभा में भाजपा को वोट देने की अपील की.

कर्नाटक में लोकसभा की 28 सीटें हैं और 2009 में भाजपा ने 19 सीटों पर कब्जा किया था, जबकि कांग्रेस छह और जनता दल (सेक्युलर) तीन सीटों पर जीत हासिल कर पाई थी.
------------------------------------------------

दावणगेरे। गुजरात के मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी मंगलवार को कर्नाटक के दावणगेरे में हुई रैली के दौरान कांग्रेस पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए जमकर बरसे। बीजेपी के इसी मंच पर भ्रष्टाचार के आरोपी बीएस येदुरप्पा मोदी के संग खडे थे। और तो और मोदी ने अपने भाषण में येदुरप्पा की जमकर तारीफ भी की। बता दें,येदुरप्पा पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं। यहां तक कि भ्रष्टाचार के आरोपों की वजह से इन्हें कर्नाटक के सीएम की कुर्सी छोडनी पडी और बीजेपी का साथ भी।
येदुरप्पा के जाने के बाद बीजेपी कर्नाटक में बुरी तरह हारी और अब जीत के जुगाड में इन्हें बीजेपी ने फिर अपने साथ खडा कर लिया। मोदी ने कहा कि कांग्रेस पर एक परिवार का नियंत्रण है और पार्टी में कोई लोकतंत्र नहीं है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की दो दिवसीय गुजरात यात्रा (15-16 फरवरी) का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि वह राहुल के उस दावे से अचंभित हैं जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस में कोई हाईकमान नहीं है। उन्होंने कहा, क्या आप राहुल की इस बात पर विश्वास करते हैं। मोदी ने कहा,एक परिवार इसे चलाता है। कांग्रेस में कोई लोकतंत्र नहीं है। मोदी ने कहा है कि अब नकली गांधी देश चला रहे हैं। मोदी ने लोगों से कांग्रेस के एक दशक के शासन की समाçप्त की अपील की।
मोदी ने कहा, अगर आप देश बचाना चाहते हैं, तो एक ही मंत्र है कि देश को अगले चुनाव में कांग्रेस मुक्त कराएं। कांग्रेस को अहंकारी करार देते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी ने एक परिवार की सत्ता को बरकरार रखते हुए देश को बर्बाद कर दिया और पार्टी को अपने वंशवादी नेतृत्व की वजह से मुश्किलों का सामना करना पडा। मोदी ने कहा, महात्मा गांधी के समय में कांग्रेस के पास एक उत्कृष्ट विचार था. लेकिन नकली गांधियों के पार्टी पर नियंत्रण करने के बाद से यह विचार नाटकीय रूप से बदल गया। इसके नेता सोचते हैं कि सिर्फ इन्ही के पास बुद्धि है और अन्य बुद्धिहीन हैं। याद रहे,कर्नाटक में लोकसभा की 28 सीटें हैं और 2009 में भाजपा ने 19 सीटों पर कब्जा किया था, जबकि कांग्रेस छह और जनता दल (सेक्युलर) तीन सीटों पर जीत हासिल कर पाई थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें