रविवार, 16 फ़रवरी 2014

मनमोहन ने सबसे भ्रष्ट सरकार का नेतृत्व किया: आडवाणी



 बिना लोक सभा चुनाव जीते, दो बार प्रधान मंत्री बनाने की यह क़ाबलियत है।
------------
मनमोहन ने सबसे भ्रष्ट सरकार का नेतृत्व किया: आडवाणी
नवभारत टाइम्स | Feb 16, 2014,
http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/30527131.cms
नई दिल्ली बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी ने रविवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर करारा हमला बोला। ब्लॉग में आडवाणी ने लिखा कि मनमोहन सिंह का एक दशक का कार्यकाल खत्म होने को है और उन्होंने स्वतंत्र भारत की सबसे भ्रष्ट सरकार का नेतृत्व किया। आडवाणी ने लिखा, मनमोहन ने अपने कार्यकाल की शुरुआत साफ निजी छवि के साथ की।

लेकिन अब जब उनका एक दशक लंबा कार्यकाल खत्म होने के करीब है, वह अपने पीछे स्वतंत्र भारत की सबसे भ्रष्ट सरकार का नेतृत्व करने का रेकॉर्ड छोड़ जाएंगे। आडवाणी ने यूपीए सरकार पर आरोप लगाया कि उसने संसद की गरिमा को सबसे निचले स्तर पर पहुंचा दिया है। बीजेपी नेता ने इसके लिए लोकसभा में 13 फरवरी को घटी उस घटना का जिक्र किया जिसमे तेलंगाना के विरोध में एक सांसद ने लोकसभा में मिर्च स्प्रे कर दिया था।

इस वाकये को कैश फॉर वोट से जोड़ते हुए आडवाणी ने लिखा कि मिर्च स्प्रे करने की घटना उतनी ही शर्मनाक है जितनी कि कैश फॉर वोट थी। आडवाणी ने कहा, मैं मानता हूं कि यूपीए-1 के दौरान सामने आया कैश फॉर वोट कांड सबसे शर्मनाक घोटाला था। भारतीय संसद की गरिमा के लिए यूपीए-2 के दौरान हाल में संसद में जो स्थिति पैदा हुई वह कम शर्मनाक नहीं है। इस दिन अधिकांश सदस्य यह देख कर हैरान थे कि आधे दर्जन मंत्री सदन में प्रधानमंत्री और सोनिया जी की मौजूदगी को नजरअंदाज कर रहे थे और स्पीकर के आसन के पास जाकर हंगामे में शामिल हुए।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें