शुक्रवार, 21 फ़रवरी 2014

मायावती , सीबीआई , मोदी : वाह राजनीती


अंतरिम बजट पर कांग्रेस की आलोचना  करने  वाली मायावती पर , कांग्रेस ने फिर से सीबीआई का इस्तेमाल अपने हित साधने के लिये किया है, सीबीआई का नाम सुनते ही अकूत दौलत बटोरने वाली मायावती थर - थर कांपने लगती हें । उन्होने कांग्रेस को खुश करने के लिये तुरंत नरेन्द्र मोदी पर हमला बोल दिया है। क्यों कि बे जानती हैं कि उनके पास अकूत दौलत  राजनीती से ही आई है ----!
-------------------------
मायावती ने अंतरिम बजट को जमकर कोसा
Monday, February 17, 2014
नई दिल्ली : संप्रग सरकार के अंतिम बजट को खारिज करते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि इसमें कुछ भी नया नहीं है और केवल संप्रग सरकार की पिछली 10 वर्ष की उपलब्धियों को गिनाने का काम किया गया है।
मायावती ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने (चिदंबरम) हालांकि इसे चुनावी बजट बनाने का प्रयास किया लेकिन इससे उनको कोई फायदा होने वाला नहीं है।
--------------
मायावती घिरीं: मनरेगा घपलों की होगी सीबीआई जांच
 20/02/2014
 नई दिल्ली। आम चुनाव से पहले बसपा के लिए नयी परेशानी ख़डी करते हुए सीबीआई उत्तर प्रदेश के सात जिलों में मायावती के शासनकाल के दौरान मनरेगा के तहत प्रदान धन की कथित दुरूपयोग की शीघ्र जांच शुरू करेगी। सीबीआई सूत्रों ने बताया कि कथित वित्तीय अनियमितताओं और राज्य में साल 2007-10 के दौरान केंद्र प्रायोजित योजना के कार्यान्वयन में सत्ता के दुरूपयोग की जांच शुरू करने का एजेंसी ने फैसला किया है।

-----------
मोदी झूठे और फरेबी, कभी नहीं बनने दूंगी पीएम : मायावती
21/02/2014
 नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती की नजर यूपी के मुसलमान वोट बैंक पर है, इस वर्ग का सीधा संदेश देने के लिए उन्होंने गुजरात के मुख्यमंत्री और भाजपा के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया है। उन्होने शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी मोदी को देश का प्रधानमंत्री बनने से रोकने के लिए हरमुमकिन प्रयास करेगी।

मायावती ने तीसरे मोर्चे को भी "कमजोर मोर्चा" करार देते हुए कहा कि इससे देश को फायदा नहीं होगा। उन्होंने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, "हम नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनने से रोकने के लिए पूरी ताकत लगा देंगे। भाजपा को सत्ता में आने से रोकना देशहित में होगा।

मायावती के मुताबिक, नरेंद्र मोदी के नाम से ही देश का मुसलमान घबरा जाता है, ऎसे में बसपा ही पूरे देश में उनसे लोहा लेगी। उन्होंने कहा कि यदि मोदी जीतते हैं तो इससे देश में सांप्रदायिक ताकतों को बल मिलेगा। भाजपा विश्वसनीय नहीं है, क्योंकि वह कहती कुछ है और करती कुछ। भ्रष्टाचार रोधी छह लंबित विधेयकों के बारे में मायावती ने कहा कि हम विधेयकों का समर्थन करते हैं। ये विधेयक काफी पहले ही आ जाने चाहिए थे। अब सरकार, जो खुद भ्रष्टाचार के दलदल में धंसी हुई है, विधेयकों के जरिए अपनी छवि बदलने की कोशिश कर रही है।

तीसरे मोर्चे पर बोली, चार दिन में चार दल खिसक जाते हैं जब संप्रग-1 से लेफ्ट दलों ने समर्थन लिया, तो भाकपा महासचिव प्रकाश करात ने दलित चेहरे के नाम पर बसपा सुप्रीमो मायावती को आगे किया, मगर आज वही मायावती प्रकाश की नई राजनीतिक कवायद तीसरे मोर्चे को सिरे से खारिज कर रही है। मायावती ने कहा कि आप थर्ड या जिस भी मोर्चे के बारे में पूछ रहे हैं, वह बेहद कमजोर है। आज बनते हैं और तीन-चार दिन बाद इसमें से कुछ दल खिसक जाते हैं।

मायावती ने साफ कहा कि इन सबके कोई मायने नहीं हैं। नरेंद्र मोदी से जुडे सवाल पर कभी भाजपा के समर्थन से सरकार बनानिे वाली मायावती ने तल्ख लहजे में कहा, देखो नरेंद्र मोदी जो कुछ कहता है, तो उसमें सच्चााई बहुत कम होती है, उसमें झूठ ज्यादा होता है, फरेब ज्यादा होता है। जनता को गुमराह किया जाता है इसलिए जो भाजपा के बारे में शुरू से कहा जा रहा है कि यह कहती कुछ है और करती कुछ है, वही आज भी सच है। सांप्रदायकिता रोकने पर बसपा नेत्री ने कहा कि हम संप्रग की नीतियों से सहमत नहीं हैं, लेकिन सांप्रदायिक ताकतों को रोकने के लिए संप्रग-1 और संप्रग-2 को समर्थन दिया।

उन्होंने गोधरा कांड का जिक्र करते हुए कहा कि जहां तक मोदी का सवाल है, मोदी मतलब सांप्रदायिक ताकतों को बढावा देने का प्रतीक। हम पूरी ताकत लगाएंगे पूरे देश के अंदर कि इनको सत्ता में आने से रोका जाए और नरेंद्र मोदी को पीएम बनने से रोका जाए। मोदी के स्टेट में गोधरा कांड किसी से छिपा नहीं है। बडे पैमाने पर बेकसूर लोगों का कत्लेआम हुआ और पूरे देश के अंदर नरेंद्र मोदी के नाम से अल्पसंख्यकों में मुस्लिम समाज के लोग घबराए हुए हैं। उन्हें मालूम है कि यह आदमी सत्ता में बैठ गया, तो पूरे देश का मुसलमान सुरक्षित नहीं है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें