सोमवार, 10 मार्च 2014

सत्यमेव जयते से पैसे इकट्ठा करके आमिर बनवा रहे हैं मस्जिद, क्या है सच !


कोई भी संस्था जनता के संवैधानिक अधिकारों को कम नहीं कर सकती , आमिर खान को बताना चाहिए कि वे इस कार्यक्रम से जो कमाते हें उसे लगते कहाँ हैं ! पारदर्शिता के लिए उन्हें  ऑन लाईन जबाव देना चाहिए ! पुलिस को अभिव्यक्ती की स्व्तंत्रता  रोकने का अधिकार नहीं है ! 
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सत्यमेव जयते से पैसे इकट्ठा करके आमिर बनवा रहे हैं मस्जिद, क्या है सच !


आमिर खान के हिट रियैलिटी शो सत्यमेव जयते ने आमिर के साथ ही उनकी पूरी टीम को मुसीबत में डाल दिया है। लोगों का कहना है कि आमिर खान इस शो के जरिये पैसे इकट्ठा करके एक ऐसे निकाय को दे रहे हैं जो कि मस्जिद बनवाने के कार्य में सहायता करती है और साथ ही मुस्लिम युवाओं को नौकरी दिलवाने का काम भी करती है। जबकि आमिर खान का कहना है कि ये सब झूठ है। आमिर खान ने कहा कि ये गलत है और वो ऐसा कुछ भी नहीं कर रहे हैं। बल्कि वो तो एक ट्रस्ट के जरिये अस्पताल को दान कर रहे हैं। ताकि गरीबों का इलाज हो सके और उन्हें मुफ्त में दवाएं वगैरह उपलब्ध कराई जा सकें।

सत्यमेव जयते का पिछला सीजन 2012 में टेलीकास्ट हुआ था और काफी सफल रहा था। उसके बाद से लोग इसके दूसरे सीजन का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। 2 मार्च से आमिर ने सत्यमेवज जयते 2 का प्रसारण शुरु किया और पहले ही एपिसोड में आमिर खान ने समाज में लगातार बढ़ रही बालात्कार की घटनाओं को लेकर चर्चा की। अपने हर एक एपिसोड के अंत में आमिर खान दर्शकों को एक ट्रस्ट से जुड़ने और उसके लिए चंदा देने की गुजारिश करते हैं। कुछ लोगों ने इसी बात को लेकर सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर एक अभियान सा चलाते हुए कहा है कि ये ट्रस्ट मुस्लिम लोगों की मदद करता है। यानी कि आमिर खान अप्रत्यक्ष तौर पर मजहबी मदद कर रहे हैं। आमिर ही नहीं सलमान और शाहरुख भी हुए हैं इस तरह के आरोपों के शिकार! ज्ञात हो कि ये आरोप सत्यमेव जयते के पहले भाग से ही आमिर पर लगना शुरु हुआ था। उस वक्त आमिर खान ने इसके खिलाफ आवाज नहीं उठाई थी लेकिन इस बार आमिर खान ने तय किया है कि वो इस आरोप को लेकर अपना मत भी लोगों के सामने रखेंगे। वो नहीं चाहते कि उनकी इमेज पर किसी तरह का खतरा उत्पन्न हो। साथ ही अगर इस अभियान ने और जोर पकड़ा तो आमिर की सुरक्षा भी खतरे में पड़ सकती है। इसलिए आमिर खान ने पुलिस में जाकर शिकायत दर्ज कराना ही बेहतर समझा। आमिर खान के फैंस और उनके शो को चाहने वाले लगातार सोशल नेटवर्किंग साइट के जरिये इस शो को सपोर्ट कर रहे हैं और उनका मानना है कि आमिर खान हमारे समाज को सुधारने और कुछ बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन कुछ लोग नहीं चाहते कि हमारा समाज बदले इसलिए बेवजह ही वो आमिर और उनके शो के खिलाफ अभियान चला रहे हैं।

-------------

आमिर खान ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई
Mar 9 2014 12:00AM

मुम्बई: बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान ने मुम्बई पुलिस से शिकायत की है कि उनकी छवि और मुद्दा आधारित उनके शो की छवि बिगाड़ने के लिए सोशल मीडिया पर अभियान चलाया गया है. उनकी शिकायत पर प्राथमिक जांच शुरु की गयी है.पुलिस सूत्रों ने आज यहां कहा कि 48 वर्षीय अभिनेता कल मुम्बई पुलिस मुख्यालय में सदानंद दाते से मिले और उन्हें उनकी तथा उनके कार्यक्रम ‘सत्यमेव जयते’ की छवि खराब करने के लिए फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सअप पर चलाए जा रहे झूठे और दुर्भावनापूर्ण अभियान के बारे में बताया. दाते ने कहा, ‘‘आमिर खान ने हमसे अपने खिलाफ चल रहे कुछ आपत्तिजनक संदेशों के बारे में शिकायत की है. प्राथमिक जांच चल रही है. आमिर कल हमसे और विवरण साझा कर सकते हैं. ’’    इसी बीच अभिनेता ने फेसबुक से उनकी चिंताओं पर ध्यान देने को कहा है.

उन्होंने कहा, ‘‘व्हाट्सअप, फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया नेटवर्कों समेत इलेक्ट्रोनिक मीडिया के माध्यम से झूठे और दुर्भावनापूर्ण संदेश चलाए जा रहे हैं.  उनमें आरोप लगाया गया है कि मेरे टेलीविजन कार्यक्रम ‘सत्यमेव जयते सीजन टू’ में एक निकाय के संबंध में दान मांगे जा रहे है. यह निकाय मस्जिद निर्माण सहायता और इस्लामिक युवाओं को प्लेसमेंट में सहायता के लिए काम करने का दावा करता है.’’      

अभिनेता ने कहा कि ‘सत्यमेव जयते’ सीजन वन पश्चिम बंगाल के हंसपुकार के ह्यूमनिटी ट्रस्ट से जुड़ा था. यह डॉ. अजय मिस्त्री और उनकी मां सुभाषिनी मिस्त्री द्वारा चलाय जाने वाला अस्पताल है, न कि वह जिसका सोशल मीडिया पर जिक्र है.  अभिनेता ने स्पष्ट किया, ‘‘सत्यमेव जयते में मांगे जाने वाला सभी दान पूरी तरह धर्मनिरपेक्ष उद्देश्यों के लिए उपयोग किया जाता है. ’’ 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें