सोमवार, 3 मार्च 2014

इस बार सपा, बसपा और कांग्रेस का विनाश तय है - नरेंद्र मोदी


समाजवादी पार्टी , बहुजन समाज पार्टी और बहुत सारी छुट - भईय्या पार्टियां , कांग्रेस विरोधी मतों का विभाजन करती हें , जीतने के बाद अपने स्वार्थ के हिसाब से सौदा करतीं हें और जिस जनता ने उन्हें कोंग्रेस की खिलाफत के वोट दिए उसी को धोका देते हें !

---------------
इस बार सपा, बसपा और कांग्रेस का  विनाश तय है।
मार्च 2, 2014 NDTVIndia,

नरेंद्र मोदी ने लखनऊ की रैली में कहा, इस बार 'स-ब-का' विनाश तय है !
लखनऊ: बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने लखनऊ में विजय शंखनाद रैली में मोदी ने कहा कि अभी तो बीजेपी की लहर है और चुनाव घोषित होते ही यह सुनामी बन जाएगी। उन्होंने कहा कि इस बार सपा, बसपा और कांग्रेस यानी 'सबका' विनाश तय है।

मोदी ने कहा कि सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव गुजरात को लेकर झूठ फैला रहे हैं। देश में सबसे ज्यादा अपराध उत्तर प्रदेश में होता है। सपा सुखवादी, समाज विरोधी पार्टी है। मोदी ने कहा कि हमारी वजह से विकास की बात हो रही है। मोदी ने कहा, लोहिया का नाम लेना बंद करें मुलायम।

मोदी ने कहा कि गैर-बीजेपी दल अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए धर्मनिरपेक्षता का ढिंढोरा पीटते है और लोगों को गुमराह कर रहे हैं, यह इनका सिर्फ चुनावी नारा है। सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव विकास के मामले में गुजरात से तुलना न करें। उनके बेटे के राज में 100 से ज्यादा दंगे हुए, जबकि गुजरात में 10 साल में एक भी दंगा तो छोड़िए, कर्फ्यू तक नहीं लगा।

मोदी ने कहा, हमारे लिए धर्मनिरपेक्षता का मतलब है 'इंडिया फर्स्ट'। उनका 'सेक्युलरिज्म' केवल चुनावी नारा है, हमारा 'सेक्युलरिज्म', पंथनिरपेक्षता है। उनकी धर्मनिरपेक्षता केवल लोगों को डराना है, लेकिन हमारा 'सेक्युलरिज्म...आर्टिकल ऑफ फेथ' है, लोगों को जोड़ना और विकास करना है। जो लोग हमें ललकारते हैं, उन्हें मेरी ललकार है... "आंधियों की जिद है जहां बिजली गिराने की, मुझमें भी जिद है वहीं आशियां बनाने की..."

उत्तर प्रदेश सरकार पर तंज के साथ मुसलमानों का दिल छूने की कोशिश करते हुए मोदी ने कहा, हजयात्रा करना हर मुसलमान की ख्वाहिश होती है। गुजरात में हर वर्ष सिर्फ 4800 लोगों को कोटा दिया है, लेकिन जब अर्जी मंगवाते हैं, तो गुजरात में 38 हजार अर्जियां आती हैं और सेक्युलरिज्म की रेवड़ियां बांटने वाले लोगों के राज में 32 हजार के कोटे में अर्जियां सिर्फ आती हैं 35 हजार। उन्होंने कहा, अगर यहां मुसलमानों की आर्थिक स्थिति अच्छी होती, तो इतनी कम अर्जियां नहीं आतीं। नेताजी (मुलायम सिंह यादव) आपने मुसलमानों को वोट का टुकड़ा ही समझकर रखा है।

मोदी ने लखनऊ के लोगों से अपील की वे अपनी संस्कृति बर्बाद न होने दें। उन्होंने कहा कि अगर आपको देश की तकदीर बदलनी है, तो इसकी शुरुआत निश्चित रूप से लखनऊ से होनी चाहिए।

पटना में मोदी की रैली में हुए आंतकी हमले को देखते हुए लखनऊ के रामाबाई अंबेडकर मैदान को सात दिन पहले ही बंद कर दिया गया था। रैली के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए।

रैली स्थल को बीजेपी के झंडे-बैनरों से सजाया गया और मंच की पृष्ठभूमि में पूर्व प्रधानमंत्री तथा लखनऊ से पांच बार लगातार सांसद रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता अटल बिहारी बाजपेयी का विराट चित्र लगाया गया था।

(इनपुट भाषा से भी)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें