रविवार, 20 अप्रैल 2014

यूपीए सरकार की विदाई का वक्त: नरेंद्र मोदी



अब है यूपीए सरकार की विदाई का वक्त: नरेंद्र मोदी
कटिहार, ज्योति प्रकाश वर्मा 19-04-14

भाजपा के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब तक देश की 232 सीटों पर हुए चुनाव में जनता ने केंद्र की यूपीए सरकार की विदाई पर मुहर लगा दी है। अब तक के रुझान से स्पष्ट है कि देश की जनता को मां (सोनिया)-बेटे(राहुल) की सरकार से मुक्ति मिल गई है। बाकी बचे चुनाव में आप सब की जिम्मेदारी है कि एक मजबूत सरकार का गठन करें। वहीं नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भाजपा ने अपने घोषणापत्र में बिहार पर विशेष ध्यान रखा है।

श्री मोदी शनिवार को कटिहार के डीएस कॉलेज मैदान में भाजपा प्रत्याशी निखिल कुमार चौधरी के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। लगभग 21 मिनट के संबोधन में वह कांग्रेस के खिलाफ जितना आक्रामक दिखे उतना ही परोक्ष रूप से बिहार की नीतीश सरकार पर भी निशाना साधा।

निर्धारित समय से लगभग डेढ़ घंटा विलंब से शाम 4.27 बजे नरेंद्र मोदी का हेलीकॉप्टर कटिहार में उतरा। वह सीधे मंच पर आ गए और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मंगल पांडेय ने उन्हें संबोधन के लिए आमंत्रित किया। डीएस कॉलेज मैदान में जुटी भीड़ और महिलाओं की खासी तादाद देखकर आादित मोदी ने कहा कि मुङो बिहार से बहुत लगाव है, इसी से बार-बार यहां आने का मन करता है। बिहार से एक अजीब सा रिश्ता जुड़ गया है। चुनाव बाद भी यहां आने का क्रम जारी रहेगा। आप सबका प्यार मुङो बिहार के लिए कुछ करने की हिम्मत देता है। उन्होंने कहा कि शायद इसी रिश्ते से बिहार के लिए कुछ करने के लिए मन में ठाना है। हमारी पार्टी ने अपने घोषणा-पत्र में भी बिहार का विशेष ध्यान देने की बात कही है। बिहार के जिम्मे ही अब देश का भविष्य है। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि पश्चिम के साथ पूरब भी विकास करेगा तभी देश महान होगा और शक्तिशाली होगा। मन में इच्छा है कुछ करने की कि पूरब और पूवरेत्तर के हर राज्य, जिले और गांव का विकास समान रूप से हो। बिहार और बिहारियों की बात करने के साथ ही उन्होंने अपनी आक्रामक शैली अपनाई और कहा कि देश में अब तक जिन 232 सीटों पर चुनाव हो चुके हैं वहां से जनता का रुझान बता रहा है कि अब मां-बेटे की सरकार की मुक्ति तय है। अब लोगों का जीवन बर्बाद होने से बच जाएगा। लेकिन इसके बाद अब आप सब कि जिम्मेदारी है कि देश में एक मजबूत सरकार देने के लिए एनडीए के प्रत्याशियों को विजय माला पहना कर दिल्ली भेजे। उन्होंने कहा कि अब प्रधानमंत्री के  पूर्व मीडिया सलाहकार संजय

बारू की पुस्तक 
से यह खुलासा हो चुका है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह थे, लेकिन सरकार तो मां और बेटे चला रहे थे। नरेन्द्र मोदी ने एक बार फिर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को निशाने पर लिया और कहा वह गरीबी क्या जानें? वो तो सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए है। अगर वो गरीबों के लिए कुछ नहीं कर सकते तो उन्हें गरीबी का मजाक नहीं उड़ाना चाहिए। मोदी ने कहा जैसे लोग दुनिया के अजूबों में शामिल ताजमहल को देखने जाते हैं और फोटो निकलवाकर दिखाते हैं। वैसे ही गरीब राहुल के लिए अजूबा भी है। उन्हें कौतूहल रहता है कि गरीबी क्या होती है? क्या गरीब के भी दो पैर दो आंख होते हैं? वह कैसे खाता है कैसे सोता है? इसीलिए वह जाते हैं और किसी के घर उसका खाते भी हैं और उसके बच्चाे को गोद में लेकर फोटो खिंचवाकर सालभर देश भर में दिखाते हैं। लेकिन जब उनके लिए कुछ करने की बात आती है तो उनके पास कुछ नहीं होता। वास्तव में उन्होने गरीबों को अपने टूरिज्म का हिस्सा मान लिया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें