सोमवार, 28 अप्रैल 2014

सेक्युलरिज्म हमारी रगों में है - नरेंद्र मोदी


फारुख को मोदी का जवाब, सेक्युलरिज्म हमारी रगों में है
ibnkhabar.com | Apr 28, 2014
http://khabar.ibnlive.in.com/news/119731/12
नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री फारुख अब्दुल्ला के बयान मोदी को वोट देने वाले को समुद्र में डूब जाना चाहिए, पर एनडीए के पीएम कंडीडेट नरेंद्र मोदी ने जमकर निशाना साधा है। मोदी ने एक टीवी चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में कहा कि फारुख को सेक्युलरिज्म की बातें नहीं करनी चाहिए क्योंकि कश्मीर में सबसे पहले कम्यूनल का जहर उनके परिवार ने ही घोला था। मोदी ने कहा कि भारत सेक्युलर है, इसलिए नहीं क्योंकि हमारे संविधान में इस शब्द को रखा गया है। बल्कि इसलिए क्योंकि हजारों सालों से यह भारतीय संस्कृति का हिस्सा रहा है। मोदी ने कहा कि सेक्युलरिज्म केवल हमारे संविधान में ही नहीं बल्कि हमारी रगों में भी है।
फारुख पर बरसते हुए मोदी ने आगे कहा कि बीजेपी को वोट देने वालों को दरिया में डुबाने की बात करने वाले फारुख, उनके पिताजी शेख अब्दुल्ला और बेटे उमर ने कश्मीर की राजनीति को सारी दुनिया में कौमी रंग देने का पाप किया है। मोदी ने कहा, कि अगर डूबना है तो किसको डूबना चाहिए जरा दर्पण में देखिए।

कश्मीर में डॉ. अब्दुल्लाह के परिवार पर कम्मूनलाइजिंग राजनीति का आरोप लगाते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि फारुख अब्दुल्लाह और उनके पिता की वजह से कश्मीर से पंडित धीरे-धीरे पलायन कर गए। उनकी राजनीति ने कश्मीर के जमीन को कम्यूनल बना दिया। अब फारुख कहते हैं कि मोदी को वोट देने वाले को समुद्र में फेंक दो।

मोदी ने कहा कि अगर हम सेक्युलरिज्म के बारे में बात करते हैं तब मैं कहना चाहता हूं कि हम सेक्यूलर है, क्यों नहीं संविधान में एक शब्द जोड़ दिया जाए। हम ‘सर्व पंथ संभव’ में विश्वास करते हैं। हम सत्य में विश्वास करते हैं, सत्य चाहे जिस रास्ते से आए।

मोदी ने कहा कि भारत ऐसा देश है जिसमें सभी लोगों के बारे में सोचा जाता है। हम किसी दूसरे की संस्कृति पर कभी हमला नहीं करते है। इस तरह की विस्तारवादी मानसिकता हमारे खून में नहीं है। हम धर्मनिरपेक्षता पर इस तरह के सबक को बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें