गुरुवार, 3 अप्रैल 2014

कांग्रेस सबसे ज्यादा सांप्रदायिक : शाही इमाम के भाई



कांग्रेस सबसे ज्यादा सांप्रदायिक: शाही इमाम के भाई
Thursday, April 03, 2014,
नई दिल्ली : जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी के छोटे भाई सैयद याहिया बुखारी ने कांग्रेस को ‘सबसे ज्यादा साम्प्रदायिक पार्टी’ करार देते हुए सत्तारूढ़ पार्टी का समर्थन करने के किसी फैसले का आज विरोध किया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को समर्थन करने के जामा मस्जिद के शाही इमाम के फैसले का मैं पूरी तरह से विरोध करता हूं और इसका कारण यह है कि यदि आप देश में ईमानदारी से किसी मुसलमान से पूछें तो मेरा मानना है कि कांग्रेस पार्टी को सबसे ज्यादा साम्प्रदायिक पार्टी बताया जाएगा।

सैयद याहिया ने कहा कि मुसलमान कहते हैं कि भाजपा साम्प्रदायिक पार्टी है, हां है। लेकिन भाजपा अल्पसंख्यकों पर हमले करती है, यह सामने से वार करती है, मुसलमान खुद को बचा लेते हैं लेकिन कांग्रेस ने हमेशा ही उनकी पीठ में छुरा घोंपा है। उन्होंने भाजपा को भी नहीं बख्शा और इस भगवा पार्टी पर हमला करते हुए दावा किया कि गुजरात में दंगों के पीछे भाजपा का हाथ था। यह जगजाहिर बात है कि इस बारे में हर कोई जानता है लेकिन कांग्रेस ने भी मुसलमानों को नहीं छोड़ा है।

उन्होंने कहा कि पिछले 30-35 साल का रिकार्ड उलट कर देख लीजिए, चाहे वह भागलपुर, मेरठ, मुरादाबाद या सूरत ही क्यों ना हो। यह सब कांग्रेस के कार्यकाल के दौरान हुआ, यहां तक कि यह आज भी हो रहा है। बेकसूर मुसलमान जेल भेजे जा रहे हैं। (एजेंसी)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें