शनिवार, 10 मई 2014

पादरी द्वारा यौन उत्पीड़न के पीड़ितों ने की पोप से अपील




पादरी द्वारा यौन उत्पीड़न के पीड़ितों ने की पोप से अपील
वेटिकन सिटी, एजेंसी10-05-2014
http://www.livehindustan.com/news/videsh/international/article1-father-sexual-assault-pop-francise-vatican-2-2-423820.html
पादरी द्वारा कथित यौन उत्पीड़न के शिकार हुए इतालवी पीड़ितों ने न्याय के लिए सीधे पोप फ्रांसिस से गुहार लगाई और वेटिकन के परिसर में ही उपजी इस समस्या की जांच के लिए जांच आयोग के गठन की मांग की है।
     
ऑनलाइन पोस्ट किए गए पत्र और एक वीडियो में 17 पीड़ितों ने इतालवी कैथोलिक चर्च और वेटिकन द्वारा अपने साथ किए गए आचरण की निंदा की है।
     
इन लोगों में से आधे लोग वेरोना में बधिरों के उस कुख्यात स्कूल के पूर्व विद्यार्थी हैं, जिसके बारे में समझा जाता है कि वहां दो दजर्न पादरियों और धर्म के पैरोकारों ने कथित तौर पर वर्षों तक सैकड़ों बच्चों का यौन उत्पीड़न किया।
     
इटली में सबसे ज्यादा सक्रिय संगठनों में से एक अब्यूज नेटवर्क ने कहा कि उसने इस वीडियो संदेश की एक प्रति वेटिकन के विदेश उपमंत्री मोनसिग्नर एंजेलो बेकियू को भेजी है। वेटिकन की ओर से इस संदेश पर कल तक कोई टिप्पणी नहीं थी, जिससे यह स्पष्ट हो सके कि वेटिकन ने यह संदेश देखा भी है या नहीं।

फ्रांसिस को पिछले माह भेजे गए पत्र में वेरोना के बधिर पीड़ितों ने आयरलैंड और ऑस्ट्रेलिया की तरह ही एक जांच आयोग के गठन की मांग की, ताकि इटली में इस प्रकरण की तह तक जांच की जा सके। अब्यूज नेटवर्क ने लगभग 150 इतालवी पादरियों के नाम ऑनलाइन पोस्ट किए हैं। इसके अनुसार ये वे पादरी हैं, जो इतालवी अदालतों द्वारा उत्पीड़न से जुड़े अपराधों में वर्ष 2000 के बाद से दोषी ठहराए गए हैं।
     
हालांकि इतालवी बिशप्स कांफ्रेंस इस समस्या पर प्रतिक्रिया देने में काफी धीमी रही है। उसने इसी साल बच्चों की सुरक्षा के लिए वेटिकन द्वारा अनिवार्य बताए गए दिशा निर्देश जारी किए हैं।
     
हालांकि पीड़ित समूह इन दिशानिर्देशों के खिलाफ हैं क्योंकि इन दिशानिर्देशों के अनुसार यौन शोषण की किसी घटना के बारे में पुलिस को सूचित करने की जिम्मेदारी बिशप की नहीं है, यह केवल नैतिक दायित्व है।
     
फ्रांसिस के प्रमुख सलाहकारों में से एक कार्डिनल सीन ओ मैली ने कहा कि नेशनल बिशप्स कांफ्रेंस की नीतियों में इस तरह की खामियों को पोप के नए यौन उत्पीड़न सलाहकार बोर्ड द्वारा दूर किए जाने की संभावना है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें