मंगलवार, 8 जुलाई 2014

कांग्रेस को जनता ने नेता प्रतिपक्ष के लायक नही समझा


कांग्रेस को जनता ने नेता प्रतिपक्ष के लायक नही समझा 

सच यह है की कांग्रेस वे वजह भाजपा को बदनाम कर रही है । नेता प्रतिपक्ष पद तक के लायक तो उन्हें जनता ने नही रखा है ! जनता के सुख दुःख का ध्यान कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए नही रखा ! जब जनता की बारी आई उसने कांग्रेस को सबक सीखा दिया ! पद के बजाये कांग्रेस जनता के हीतों पर ध्यान दे यही उसके लिए अच्छा होगा !
-------------
लोकसभा विपक्ष का नेता: सोनिया गांधी ने की राष्ट्रपति से मुलाकात

लोकसभा में विपक्ष के नेता मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की.
यूपीए द्वारा लोकसभा में कांग्रेस पार्टी को विपक्ष के नेता पद का दर्जा देने पर जोर दिये जाने की पृष्ठभूमि में यह मुलाकात हुई है. सोनिया गांधी ने कल लोकसभा में अपनी पार्टी के लिए विपक्ष के नेता पद का दर्जा दिये जाने की पुरजोर वकालत की थी. उन्होंने मंगलवार सुबह अपनी पार्टी के लोकसभा सदस्यों से मुलाकात की.
-------------------

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी को लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद दिए जाने की पुरज़ोर वकालत की है.संसद में विपक्ष के नेता के पद पर अभी कोई फ़ैसला नहीं हुआ है. लोकसभा में कांग्रेस के 44 सांसद हैं.
उनका कहना था कि कांग्रेस विपक्षी दलों में सबसे बड़ी पार्टी है. संसद में विपक्ष के नेता के पद पर अभी कोई फ़ैसला नहीं हुआ है. लोकसभा में कांग्रेस के 44 सांसद हैं. लोकसभा में नेता विपक्ष का पद पाने के लिए सदस्यों की कुल संख्या के 10 प्रतिशत सदस्य एक पार्टी के पास होने चाहिए.इस हिसाब से विपक्ष के नेता का पद उसी पार्टी के नेता को मिल सकता है जिसके पास कम से कम 55 सांसद हों क्योंकि लोकसभा में सदस्यों की कुल संख्या 543 है.

भाजपा के आरोप

सोनिया गांधी ने बीजेपी के उन आरोपों को ख़ारिज़ किया जिनमें कहा गया था कि 'कांग्रेस इस पद के लिए बेचैन है और पार्टी लोकसभा में अपनी हार मान नहीं पाई है'.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें