बुधवार, 9 जुलाई 2014

नेशनल हेराल्ड केस:सोनिया, राहुल गांधी को कोर्ट ने समन जारी




नेशनल हेराल्ड केस में सोनिया, राहुल गांधी की पेशी


पी7 ब्‍यूरो/नई दिल्‍ली 09 July 2014

http://www.p7news.tv

हेराल्ड नेशनल अखबार मामले में पटियाला कोर्ट में बुधवार को सुनवाई है। इस मामले में कोर्ट ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी को समन जारी किया है। अगर मामला साबित होता है तो कांग्रेस को चंदे पर मिलने वाली आयकर छूट से वंचित किया जा सकता है।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी और ऑस्कर फर्नांडिज इस मामले में कोर्ट में आज पेश हो सकते है। बता दें कि इस मामले में 26 जून को कोर्ट ने समन दिया था, जबकि विपक्ष इस मामले मे सत्ता पक्ष पर बदले की राजनीति का आरोप लगा रहा है।

क्‍या है मामला
कांग्रेस ने नवंबर 2012 में एसोसिएट जर्नल को 90 करोड़ रुपये का ब्याज रहित कर्ज दिया था और नियमों के मुताबिक राजनैतिक पार्टी इस तरह का कर्ज नहीं दे सकती। हालांकि इस मामले में कांग्रेस ने कहा है कि कर्ज सभी कानूनों का पालन करते हुए दिया गया है। कांग्रेस को राजनैतिक पार्टी होने के नाते चंदे पर आयकर से छूट प्राप्त है। लेकिन आरोप है कि कांग्रेस ने नेशनल हेराल्ड के प्रकाशक एसोसिएट जर्नल को 90 करोड़ रुपये ब्याजमुक्त ऋण दिया था। ऋण लेने के बाद एसोसिएट जर्नल का अधिग्रहण यंग इंडिया नाम की एक नई कंपनी ने कर लिया, जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा उपाध्यक्ष राहुल गांधी की 76 फीसदी हिस्सेदारी है। शेष हिस्सेदारी ऑस्कर फर्नांडिस तथा मोतीलाल वोहरा के नाम है।

अगर मामला साबित होता है..
आयकर विभाग और आरपीए एक्ट के मुताबिक, कोई भी राजनैतिक पार्टी किसी बिजनेस और फंड में इन्वेस्ट नहीं कर सकती। अगर मामला साबित होता है तो कांग्रेस को चंदे पर मिलने वाली आयकर छूट से वंचित किया जा सकता है। भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इस मामले की जांच आयकर विभाग से करवाने के लिए वित्तमंत्री अरुण जेटली को खत भी लिखा था।
---------------------
नेशनल हेराल्ड केस: आयकर नोटिस पर सोनिया ने कहा-'राजनीतिक बदले की कार्रवाई'

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज नेशनल हेराल्ड मामले में आयकर नोटिस के मद्देनजर सरकार पर राजनीतिक प्रतिशोध का आरोप लगाया और कहा कि इस तरह के राजनीतिक बदले की कार्रवाई से हमें वापसी में मदद ही मिलेगी।
सोनिया गांधी ने कथित नोटिस पर अपनी प्रतिक्रिया में एनडीटीवी से कहा, ‘‘नेशनल हेराल्ड मामले में आयकर नोटिस राजनीतिक प्रतिशोध है। राजनीतिक बदले की कार्रवाई से हमें वापसी और सख्ती से मुकाबला करने में मदद ही मिलेगी।
कांग्रेस ब्रीफिंग के दौरान पार्टी प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने एआईसीसी को कल नोटिस मिलने की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि इस नोटिस और पहले की प्रक्रियाओं का जोरदार, मजबूत और व्यापक जवाब, एक उपयुक्त जवाब दिया जा रहा है।
प्रवक्ता ने कहा कि जवाब से पहले मीडिया को इस बारे में बताने की कांग्रेस की आदत नहीं रही है लेकिन आरोप लगाया कि यह पूरी तरह से राजनीतिक प्रतिशोध, नई चुनी हुई सरकार के भय और असुरक्षा को प्रदर्शित करता है।
सिंघवी ने कहा कि राजनीति का इतिहास बताता है कि प्रतिशोध की राजनीति का किस तरह उल्टा असर पड़ता है। यह सस्ती राजनीति है और इतिहास जाहिर करता है कि जब किसी ने प्रतिशोध की भावना से काम किया तो क्या हुआ।
सवालों के जवाब में सिंघवी ने कहा कि जो कुछ हुआ है वह राजनीति से प्रेरित है और भाजपा नेता द्वारा शुरू किया गया है इस सचाई के बगैर कि इसमें अपराध का कोई तत्व नहीं है। इसके बावजूद मीडिया के समक्ष इसे सनसनी खेज बनाया गया। उन्होंने कहा कि उपयुक्त मंच पर हमारे पास काफी कुछ कहने के लिए है।
दिल्ली की एक अदालत ने भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी की निजी आपराधिक शिकायत पर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अन्य के खिलाफ नेशनल हेराल्ड समाचार पत्र चलाने वाली कंपनी की संपत्ति अधिग्रहण करने के मामले में तलब किया है।
शिकायत में एक नई गठित कंपनी द्वारा ऐसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड की संपति हासिल करने में विभिन्न अपराध करने के आरोप लगाए गए हैं और इस मामले में जांच की मांग की गई है।
(भाषा)
-------------

नेशनल हेराल्‍ड केस: कोर्ट को सोनिया-राहुल के खिलाफ मिले प्रथम दृष्टया सबूत, पेश होने के आदेश
नई दिल्‍ली. गर्मियों की छुट्टी मना रहे कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी को दिल्‍ली की एक अदालत ने नेशनल हेराल्ड समाचार पत्र से जुड़ी वित्तीय अनियमितता के एक मामले में समन जारी किया है। कोर्ट ने कहा कि सोनिया और राहुल गांधी समेत सभी आरोपियों के खिलाफ प्रथम दृष्टया सबूत मिले हैं, लिहाजा ये अदालत में पेश हों। पेशी की तारीख 7 अगस्‍त तय की गई है। मामले में कांग्रेसी नेता मोतीलाल वोरा, पूर्व केंद्रीय मंत्री ऑस्‍कर फर्नांडिस, सुमन दुबे और सैम पित्रोदा के नाम भी समन जारी किया गया है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता सुब्रमण्यम स्वामी की निजी शिकायत पर कोर्ट ने यह समन जारी किया है।
नेशनल हेराल्ड समाचार पत्र की स्थापना 1938 में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने की थी। यह 2008 में बंद हो गया था। स्‍वामी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस ने सोनिया की कंपनी यंग इंडिया लिमिटेड को बिना किसी जमानत के लोन दिया ताकि वे नेशनल हेराल्‍ड की होल्‍ड‍िंग वाली कंपनी असोसिएटेड जर्नल्‍स का अधिग्रहण कर सकें। स्‍वामी ने यह भी आरोप लगाया कि नेशनल हेराल्‍ड की 2000 करोड़ रुपए की संपत्ति को कांग्रेसी नेताओं ने फर्जी कागजात के माध्‍यम से हासिल कर लिया। स्‍वामी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सोनिया और राहुल के हस्‍ताक्षर उनके नेशनल हेराल्‍ड केस में शामिल होने की पुष्टि करते हैं। स्‍वामी ने कहा कि यह फ्रॉड और विश्‍वासघात का मामला है और सोनिया-राहुल को 7 साल से लेकर उम्रकैद की सजा हो सकती है। वहीं, उधर, कांग्रेस प्रवक्‍ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि डॉ स्‍वामी एंटी कांग्रेसी अभियान चलाने के लिए जाने जाते हैं। वह बिना सबूतों के आरोप लगा रहे हैं। हम इसका कड़ा जवाब देंगे। dainikbhaskar.com|
-----------

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें