बुधवार, 9 जुलाई 2014

महंगाई पर चर्चा : राहुल की आँखें बंद

राहुल गांधी का उंघना , सोना या आँखें बंद करना गलत नहीं हे , क्यों की उनकी सरकार ने आलू चीनी और चावल सहित लाखों टन खाद्द्य वस्तुओं का निर्यात किया था ताकी मंहगाई बनी रहे ! जब तक नई फसल नहीं आये तब तक के लिए ये महंगाई का इंतजाम करके गए हैं । कोई इनकी पोल नहीं खोल दे इस लिए आँखें बंद किये हुए थे ।





महंगाई पर चर्चा के दौरान ऊंघ रहे थे राहुल
Date:Wednesday,Jul 09,2014

नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। विपक्ष के जोरदार हंगामे के बाद जब लोकसभा में महंगाई पर चर्चा चल रही थी, उस समय कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ऊंघ रहे थे। यह वाकया उस वक्त हुआ जब सांसद महंगाई पर वक्तव्य दे रहे थे। यह वीडियो सोशल साइट्स पर वायरल होने के बाद भाजपा ने जब इस पर तंज कसा तो कांग्रेस भड़क।

महंगाई पर चर्चा के दौरान जब माकपा के सांसद पी. करुणाकरण बोल रहे थे तो ठीक उनके पीछे ऊंघते हुए राहुल गांधी कैमरे में कैद हो गए। सोशल साइट्स पर फैले इस वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ देर बाद उनकी आंख खुलती है तो वह बहुत सुस्त हैं और उबासी ले रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने मौका न गंवाते हुए कहा कि कांग्रेस महंगाई पर चर्चा नहीं बस नारा लगाना जानती है, इसीलिए उनके उपाध्यक्ष सो रहे हैं।'

कांग्रेस ने इस बात खंडन किया है। कांग्रेस ने कहा है कि राहुल गांधी सो नहीं रहे थे।
पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री राजीव शुक्ला ने राहुल गांधी के लोकसभा में सोने के विवाद पर मीडिया को ही खरी-खोटी सुना दी। उन्होंने कहा कि यह घटिया दर्जे की पत्रकारिता है। ऐसी घटनाओं पर चर्चा करने की जरूरत नहीं है। इतना ही नहीं, वह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को भी इस विवाद में खींच लाए। शुक्ला ने कहा कि संसद में चर्चा के दौरान अक्सर वाजपेयी आंखें बंद कर लेते थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें