सोमवार, 29 सितंबर 2014

स्क्वायर गार्डन में ; भारत माता की जय और मोदी-मोदी के नारे लगे, वन्देमातरम गूंजा !



स्क्वायर गार्डन में लगे भारत माता की जय और मोदी-मोदी के नारे
Date : Mon, 29 Sep 2014

न्यूयॉर्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अनिवासी भारतीयों के साथ ही अमेरिकियों के दिलो-दिमाग पर भी छा गए हैं। रविवार को मोदी जब मेडिसन स्क्वायर गार्डन पर सभा को संबोधित करने पहुंचे तो वहां 'लघु भारत' का नजारा दिखाई दिया। 'भारत माता की जय' और नवरात्रि की शुभकामना से भाषण की शुरुआत करते हुए मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि सवा सौ करोड़ लोगों के बल पर भारत 21वीं सदी में दुनिया का नेतृत्व करेगा।
यह हमारी सदी हो सकती है। 2020 तक भारत दुनिया को पेशेवर लोगों का निर्यात करेगा। अनिवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि आपने देश की इज्जत बढ़ाई है। हम आपका माथा नहीं झुकने देंगे। इस मौके पर उन्होंने अनिवासी भारतीयों के लिए आजीवन वीजा का एलान किया और कहा कि अब लोगों को थानों के चक्कर नहीं लगाने होंगे। अमेरिकी पर्यटकों को लंबे समय तक के लिए वीजा दिया जाएगा।
लगभग 20 हजार लोगों को हिंदी में संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि भारत में लोगों को सरकार से बहुत अपेक्षाएं हैं और हमारी सरकार उनकी उम्मीदों पर खरा उतरेगी। मोदी के मुताबिक, सरकारें विकास नहीं करतीं। विकास जनभागीदारी से होता है। हम जनता के साथ मिलकर विकास करेंगे। उन्होंने विकास को जनांदोलन बनाने का आह्वान भी किया। अपने करीब सवा घंटे के संबोधन में प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार द्वारा शुरू किए गए कामों को भी गिनाया। उन्होंने कहा कि जनधन योजना में अब तक चार करोड़ खाते खुल चुके हैं और 1500 करोड़ रुपये जमा हुए हैं।

हर-हर मोदी के लगे नारे:-
टाइम्स स्क्वायर पर सीधा प्रसारण:-
कार्यक्रम से जुड़ी कुछ खास बातें:-
- मेडिसन स्क्वायर पर जुटे 20,000 लोग
- 50अमेरिकी सांसद भी पहुंचे मोदी को सुनने1
- 19 राज्यों के 45 विश्वविद्यालयों और ओरेगन स्थित इंटेल कंपनी परिसर में हुआ भाषण का सीधा प्रसारण।
- 100 बोहरा मुस्लिम भी मोदी के भाषण के साक्षी बने
-------------------


मेडिसन स्क्वायर में मोदी भाषण कार्यक्रम के रोचक तथ्य
Publish Date:Mon, 29 Sep 2014

-मैनहट्टन स्थित मैडिसन स्क्वॉयर गार्डन न्यूयॉर्क का सबसे महंगा इनडोर स्टेडियम है। इसमें सभा को संबोधित करने वाले मोदी पहले विदेशी नेता बने।
-सभास्थल पर 360 डिग्री में घूमने वाला मंच बनाया गया था।
-18 हजार अनिवासी भारतीय और दो हजार विशेष मेहमान इसमें शरीक हुए। इनके लिए बाकायदा टिकट रखे गए थे।
-भारत सहित 80 देशों में इसके सीधे प्रसारण की व्यवस्था की गई।
-टाइम्स स्क्वॉयर की स्क्रीनों पर मोदी का भाषण दिखाने के लिए विशेष प्रबंध किए गए थे।
-अनिवासी भारतीयों ने कार्यक्रम के लिए 20 लाख डॉलर (12 करोड़ रुपए) जुटाए। कार्यक्रम पर 9 करोड़ रुपए खर्च होंगे। बाकी राशि दान कर दी जाएगी।
-अमेरिका में बसे गुजराती परिवारों के लोगों ने कार्यक्रम स्थल पर डांडिया खेला।
-हाथों में तिरंगे लिए सैकड़ों लोग वहां भारत उत्सव जैसा नजारा पेश कर रहे थे।
-डीफ फूड और राजभोग स्वीट्स ने लंच की व्यवस्था नि:शुल्क उपलब्ध करवाई।
- प्रख्यात गायिका कविता कृष्णमूर्ति ने राष्ट्रगान गाया।
-हेमा चौकसे के नेतृत्व में 15 लड़कियों ने 'रंगीला म्हारो डोलना' पर परफॉर्म किया।
2005 में नहीं हो सका था कार्यक्रम
अनिवासी भारतीय 2005 में मैडिसन स्क्वॉयर पर मोदी का कार्यक्रम करने वाले थे, लेकिन गुजरात दंगों के कारण अमेरिका ने मोदी को वीजा नहीं दिया था। उस वक्त मोदी की चेयर खाली रखकर कार्यक्रम हुआ था। मोदी ने गुजरात से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया था। नौ साल बाद मोदी अब प्रधानमंत्री के रूप में वहां पहुंचे और ऐतिहासिक कार्यक्रम को संबोधित किया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें