गुरुवार, 19 फ़रवरी 2015

शिव थे मुस्लिमों के पहले पैगंबर: मुफ्ती मोहम्मद इलियास

शिव थे मुस्लिमों के पहले पैगंबर: जमीयत उलेमा
नवभारत टाइम्स| Feb 18, 2015
मनोज पांडेय, फैजाबाद

जमीयत उलेमा के मुफ्ती मोहम्मद इलियास ने अयोध्या में चौंकाने वाला बयान देते हुए कहा कि भगवान शंकर मुस्लिमों के पहले पैगंबर हैं। उन्होंने कहा कि इस बात को मानने में मुसलमानों को कोई गुरेज नहीं है।

जमीयत उलेमा का एक डेलिगेशन बुधवार को अयोध्या आया था। जमीयत उलेमा 27 फरवरी को बलरामपुर में कौमी एकता का कार्यक्रम करने जा रहा है। इसी सिलसिले में वह अयोध्या के साधु-संतों को कार्यक्रम में हिस्सा लेने की अपील करने आए थे। मौलाना ने कहा कि मुसलमान भी सनातन धर्मी है और हिंदुओं के देवता शंकर और पार्वती हमारे भी मां-बाप है। उन्होंने आरएसएस के हिंदू राष्ट्र वाली बात पर कहा कि मुस्लिम हिंदू राष्ट्र के विरोधी नहीं हैं।

मुफ्ती मोहम्मद इलियास ने कहा कि जिस तरह से चीन में रहने वाला चीनी, अमेरिका में रहने वाला अमेरिकी है, उसी तरह से हिंदुस्तान में रहने वाला हर शख्स हिंदू है। यह तो हमारा मुल्की नाम है। उन्होंने कहा कि जब हमारे मां-बाप, खून और मुल्क एक है तो इस लिहाज से हमारा धर्म भी एक है। इस दौरान मुस्लिम डेलिगेशन ने राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी सतेंद्र दास और शनि धाम के महंत हरदयाल शास्त्री के साथ मिलकर आतंकवाद का पुतला फूंका।

-------

मुसलिम धर्मगुरु मुफ्ती मोहम्मद इलियास ने कहा, भगवान शंकर व पार्वती हमारे भी अभिभावक हैं
By Prabhat Khabar | Publish Date: Feb 19 2015

फैजाबाद : जमीयत उलेमा के मुफ्ती मोहम्मद इलियास ने कहा है कि भगवान शंकर मुसिलमों के पहले पैगंबर हैं. उन्होंने कहा कि इस बात को मानने में मुसलमानों को कोई गुरेज नहीं है. मौलाना ने कहा कि हिंदुओं के देवता शंकर और पार्वती हमारे अभिभावक है.

उन्होंने आरएसएस के हिंदू राष्ट्र संबंधी बयान पर कहा कि मुसलिम हिंदू राष्ट्र के विरोधी नहीं हैं. मुफ्ती मोहम्मद इलियास ने कहा कि जिस तरह से चीन में रहने वाले चीनी, अमेरिका में रहने वाले अमेरिकी हैं, उसी तरह हिंदुस्तान में रहने वाला हर शख्स हिंदू है. उन्होंने कहा कि हिंदू हमारा मुल्की नाम है. उन्होंने कहा कि जब हमारे मां, पिता खून और मुल्क एक हैं तो इस लिहाज से हमारा धर्म भी एक है.

इस दौरान मुसलिम प्रतिनिधिमंडल ने राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी सतेंद्र दास और शनि धाम के महंत हरदयाल शास्त्री के साथ मिल कर आतंकवाद का पुतला फूंका. जमीयत उलेमा का एक प्रतिनिधिमंडल बुधवार को अयोध्या पहुंचा था. यह संगठन 27 फरवरी को बलरामपुर में कौमी एकता का कार्यक्रम करने जा रहा है. इस कार्यक्रम में साधु संतों को आमंत्रित करने के लिए प्रतिनिधिमंडल अयोध्या आया था. बहरहाल, अब इसका तीखा विरोध शुरू  हो गया है.
 --------------
‘शंकर को पैगंबर बताने वाले मुफ्ती पहले हिंदू धर्म को जानो’
 News Feb 19, 2015
लखनऊ।

हिंदुओं के आराध्य देव भगवान शंकर को मुसलमानों का पहला पैगंबर बताने वाले जमीयत उलेमा के मुफ्ती मोहम्मद इलियास के विवादित बयान पर लखनऊ के ईदगाह इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कि इस तरह के बयान से मुसलमानों पर कोई असर नहीं होता। आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष मौलाना डॉ. कल्बे सादिक ने कहा कि मुफ्ती मोहम्मद इलियास धर्म के नाम पर विवाद न खड़ा करें। सादिक के मुताबिक वह (मुफ्ती मोहम्मद इलियास) पहले साबित करें कि वे जमीयत उलमा में क्या हैसियत रखते हैं। इस तरह के बयान से पहले वह हिंदू धर्म के बारे में जानें, क्योंकि शंकर भगवान हिंदू धर्म की आस्था का केंद्र हैं। फैजाबाद के शहर उलेमा ने कहा है कि भगवान शंकर को मुसलमानों का पहला पैगंबर बताना उनका अपना विचार है। उनके मुताबिक, ‘हर धर्म अपनी धार्मिक आस्था के आधार से समाज से जुड़ा है। हिंदू धर्म के मानने वालों व मुस्लिम धर्म के मानने वालों का अलग-अलग इतिहास है और इसे किसी से जोड़ा नहीं जा सकता।’
मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली
‘जमीयत उलमा के मुफ्ती के बयान को जमीयत के उलमा ही जवाब देंगे। मुसलमान हमेशा से हर धर्म व धार्मिक व्यक्ति का सम्मान करता रहा है। हिंदुस्तान में रहने वाला हर मुसलमान हिंदुस्तानी है। यह बार-बार बताने की जरूरत नहीं है। हम सब हिंदुस्तान की सरजमीं को ही अपना वतन समझते हैं। आखिर में इस सरजमीं की मिट्टी में ही सुपुर्द होना है। बयानबाजी कर मजहब में खराबी व फिक्र पैदा करना गलत है।’

‘इस्लाम हर धर्म का सम्मान करना सिखाता है। हिंदुस्तान में हिंदुस्तानी कहलाने में किसी मुसलमान को कभी कोई आपत्ति नहीं हुई और न होगी। हम सब वतन से मोहब्बत करने वाले लोग हैं हम सब हिंदुस्तानी हैं।’
मुफ्ती मुकर्रम
‘उन्होंने (मुफ्ती मोहम्मद इलियास) जो कहा, हमें वह मंजूर नहीं है। यह बिल्कुल गलत है। कुरान में यह कहीं नहीं लिखा है। यह राजनीतिक बयान हो सकता है।’
बीजेपी की प्रतिक्रिया
मुफ्ती मोहम्मद इलियास के बयान पर बीजेपी की उत्तर प्रदेश ईकाई के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा है कि यह इलियास का निजी बयान है। शंकर को पैगंबर बताने वाले मुफ्ती को कल्बे सादिक ने कहा- पहले हिंदू धर्म को जानो।
खबर दैनिक भास्कर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें