गुरुवार, 16 अप्रैल 2015

1 मई, 2015 से प्रारंभ होगा भाजपा का महासंपर्क अभियान




भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा दिए गए भाषण के मुख्य अंश
दस करोड़ सदस्यों से संपर्क करेंगे भाजपा कार्यकर्ता
01 मई, 2015 से प्रारंभ होगा भाजपा का महासंपर्क अभियान
*
दस सदस्यों से मिलकर बनी पार्टी आज 10 करोड़ सदस्यों की पार्टी बन गई है: अमित शाह
*
भाजपा ही वह पार्टी है, जिसने पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र को बनाए रखा है: अमित शाह
*
संगठन पर्व का यह वर्ष भाजपा के लिए महत्वपूर्ण वर्ष: अमित शाह
*
सदस्यता अभियान के माध्यम से भाजपा का काम सर्वस्पर्शी और सर्वसमावेशक हुआ है: अमित शाह
*
सबसे लोकप्रिय नेतृत्व हमारे पास है और सबसे लोकप्रिय सरकार हमारे पास है: अमित शाह
*
संपर्क और संवाद संगठन के प्राण: अमित शाह
*
विचारधारा के परिचय के लिए ही है हमारा महासंपर्क अभियान: अमित शाह
*
सरकार के अच्छे कार्यों को जनता तक पहुंचाना और भ्रांतियों को दूर करने का कार्य भी करेगा हमारा महासंपर्क अभियान: अमित शाह

    मित्रों, सदस्यता अभियान का काम अभी रूका नहीं है और पार्टी ने महासंपर्क सदस्यता अभियान की शुरूआत कर दी है। अलग से टीम बनाकर थोड़ा प्रयास किया है कि उन्हीं लोगों पर बोझ ना आए जिन्होंने सदस्यता अभियान में इतना काम किया है। मगर पार्टी में कहीं न कहीं जिम्मेदारी तो आती ही है।
    एक के बाद एक तीन अभियान आने वाले है। सदस्यता अभियान अब समाप्ती की ओर है। बाद में महासंपर्क अभियान 3 मई से शुरू होगा। और 1 अगस्त से प्रशिक्षण शुरू होगा और उसके ठीक बाद संगठनात्मक चुनाव शुरू होंगे। ये चारों प्रक्रियाएं हमें समाप्त करनी है क्योंकि ये हमारे संगठनात्मक चुनाव का हिस्सा है।
    सबसे पहले यहां उपस्थित सभी कार्यकर्ताओं को मैं हृदय से बधाई देना चाहता हूं कि सदस्यता अभियान में देशभर के कार्यकर्ताओं ने आप सबके नेतृत्व में जो अथक परिश्रम किया है उसके कारण 10 सदस्यों से जनसंघ से जो हमारी जो यात्रा शुरू हुई थी आज हमारा वो करीब-करीब 10 करोड़ लोगों का परिवार बन चुका है। इसके लिए देशभर के कार्यकर्ता अभिनंदन के अधिकारी है।
    मित्रों, संगठन पर्व का यह वर्ष भाजपा के लिए बहुत महत्वपूर्ण वर्ष है। क्योंकि जिस देश में 1600 पार्टियों का जमघट है उसमें सिर्फ भाजपा ही एक ऐसी पार्टी है, जिसने पार्टी का आंतरिक लोकतंत्र को बनाए रखा है। हर दो साल में नई सदस्यता और हर 6 साल में सदस्यता का नवीनीकरण और हर दो साल में संगठन के चुनाव। यह चुनाव संगठन की प्रक्रिया का हिस्सा है।
    सामान्य कार्यकर्ताओं को संगठन का प्लेटफार्म देकर राजनीतिक क्षेत्र में बड़े योगदान देने वाले एक बड़े नेता के रूप में परिवर्तित करने की जो प्रक्रिया है वह संगठन का चुनाव है। देशभर के भाजपा के नेताओं का बैकग्राउंड देख लीजिए कहीं न कहीं उन्होंने अपनी राजनीतिक पारी की शुरूआत जिले, तहसील और बूथ से की है। मेरे जैसे कार्यकर्ता ने बूथ से शुरूआत की है और बूथ से लेकर अध्यक्ष तक पहुंचने की स्वतंत्रता और व्यवस्था यदि कोई एक पार्टी में है तो निश्चित रूप से गौरव के साथ कह सकते हैं कि वह भाजपा में है और किसी अन्य पार्टी में नहीं। और हम सभी की जिम्मेदारी है कि 50 वर्षों से इस व्यवस्था को जिन्होंने बनाकर, संजोकर रखा है और जिन्होंने आगे बढ़ाया है, हम इसको और मजबूत करके आगे बढ़ाये और देश के सामान्य जन को भाजपा के माध्यम से देश की सेवा करने का मौका दे, और इसीलिए यह संगठन पर्व आयोजित किए जाते हैं।
    इस बार संगठन पर्व को हमने एक नए स्वरूप के साथ शुरू करने का प्रयास किया है। आमतौर पर कार्यकर्ता सदस्य बनाने के लिए जाता है पर कार्यकर्ता को भी मालूम नहीं होता कि भाजपा के साथ कौन जुड़ना चाहता है। इस बार हमने एक नई प्रणाली को स्वीकार किया, जिसके माध्यम से मिस्ड काॅल देकर पार्टी का सदस्य बनाना था। और देशभर के भाजपा के शुभेच्छकों को आह्वान किया कि आपके पास कार्यकर्ता पहंुच पाए या न पहुंच पाए आप एक मिस्ड काॅल देकर भाजपा का सदस्य बनने का गौरव हासिल करें।
    17 करोड़ वोट प्राप्त करने वाली पार्टी ने 10 करोड़ के करीब लोगों को सदस्य बनाने का गौरव हासिल किया है । इसमें हमने जो नई प्रणाली शुरू की उसका बहुत योगदान रहा। हम कह सकते है कि सदस्यता अभियान के माध्यम से भाजपा का काम सर्वस्पर्शी और सर्वसमावेशक हुआ है। आज इसी प्रयास के फलस्वरूप कामरूप से लेकर गुजरात तक और कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक एक सच्चे अर्थ में अखिल भारतीय स्वरूप धारण कर 10 करोड़ का एक बड़ा परिवार बनने मे सफल हुआ है।
    मगर हमने जब यह प्रक्रिया शुरू की तब हमारे जैसे कई कार्यकर्ताओं और कई वरिष्ठ कार्यकर्ता, जिन्होंने पार्टी का वर्षों से मार्गदर्शन किया है के मन में यह चिंता थी कि यह एक तकनीकी प्रक्रिया है, जिसमें संपर्क और संवाद नहीं है और संपर्क व संवाद के बिना संगठन नहीं चलता। तब हमने कहा था कि इससे आगे भी एक प्रक्रिया है, जिसमें संपर्क भी है और संवाद भी होगा। जनसंघ से लेकर आज तक हमारी पार्टी की जो नींव मजबूत हुई है उसका कारण संपर्क और संवाद ही रहा है। यदि संपर्क को हम गंवा देते हंै तो संगठन का प्राण चला जाता है। सदस्यता अभियान की जो मैक्निक-इलेक्ट्राॅनिक व्यवस्था थी जिसमें संपर्क नहीं था उसकी क्षति-पूर्ति के लिए हमने संपर्क अभियान निश्चित किया।
    आज मिस्ड काॅल के द्वारा जो सदस्य बना है वह पार्टी का शुभेच्छु है न की कार्यकर्ता। इन्हें शुभेच्छु से कार्यकर्ता बनाने की यात्रा संपर्क अभियान और बाद में प्रशिक्षण अभियान से शुरू होने वाला है। तभी जाकर लंबे समय तक विचारधारा की तत्वनिष्ठा के आधार पर योगदान देने वाले कार्यकर्ता निर्मित कर पाएंगे। आज भाजपा विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बन गई है, देश में सबसे ज्यादा सांसद और विधायक भाजपा के हैं, देश में सबसे ज्यादा सरकारें हमारी हैं और देश में सबसे अच्छा काम करने वाली सरकारें देने का गौरव भाजपा को प्राप्त है और इसका एकमात्र कारण है कि हम विचारधारा के आधार पर चलने वाले हैं। इस विचारधारा के परिचय के लिए हमारा संपर्क अभियान है। जो शुभेच्छक हमारा सदस्य बना है उन्हें हमारी विचारधारा का, पार्टी का और हमारी सरकारें कैसे चलती है व किस लिए चलती है, इसका परिचय देना है।
    संपर्क अभियान के तहत जब हमारे कार्यकर्ता संपर्क के लिए जाएंगे तो उनके हाथ में तीन चीजें होंगी - एक पार्टी की संपूर्ण यात्रा का सिंहावलोकन होगा, जिसमें श्री श्याम प्रसाद मुखर्जी से लेकर नरेन्द्र मोदी तक पार्टी की यात्रा इसको चार पेज में संक्षिप्त रूप से समाहित करके आपको देंगे। ये पत्रक लेकर आपको कार्यकर्ता के पास जाना है। उसको बताना है कि पार्टी की यात्रा कैसी रही बहुत रोमांचक और संघर्षपूर्ण यात्रा भारतीय जनता पार्टी की रही है। कई कार्यकर्ताओं ने अपनी जान का बलिदान दिया है। हमारे दो राष्ट्रीय अध्यक्ष शहीद हुए है। केरल बंगाल यहां तक कि तमिलनाडु और देश के कई प्रांतों में हमारे कार्यकर्ता काम करते-करते इस विचार के लिए शहीद हुए है। तब जाकर पार्टी और पार्टी के कार्यकर्ताओं को सम्मान मिला है उनकी बलिदान की नींव पर पार्टी बनी है।
    सत्ता प्राप्ति के लिए इस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने काम नहीं किया है। पार्टी के कार्यकर्ताओं ने देश की विकास यात्रा सही रास्ते पर हो, देश की आजादी के बाद का रास्ता सही हो इसकी माटी की सुंगध के आधार पर देश की नीतियों का निर्माण हो और इस देश की नीति का निर्माण करने वाले लोग इस देश की संस्कृति और परंपरा से जुड़े हो इसके लिए संघर्ष किया था।
    आज नरेन्द्र भाई के नेतृत्व में जब सरकार चल रही है तब देश हमारी विचारधारा के रास्ते पर प्रशस्त होकर विश्व में अपना सम्मानजनक स्थान बनाने में इन 10 महीनों में ही सफल हुआ है। इन 10 महिनों में दुनिया बड़ी आशा के साथ इस देश को देख रही है। इस बात को लेकर हमें नए कार्यकर्ता के पास जाना है।
    उसके साथ में एक दूसरा पत्रक होगा उस पत्रक के अंदर इस पार्टी के सिद्धांतों का परिचय होगा। पार्टी क्यों बनी ? बनाने का क्या कारण था ? किस सिद्धांत के आधार पर पार्टी चलना चाहती है ? एकात्म मानववाद क्या है ? अंत्योदय क्या है ? पार्टी की सरकारें बनती है। हम सत्ता में आते है। चाहे तहसील पंचायत हो, जिला पंचायत हो, नगरपालिका हो प्रांत की सरकार हो या केन्द्र की सरकार हो। अगर हम सत्ता में आते है तो किस विचारधारा के साथ शासन चलाते है। हम इस देश में कल्याणकारी राज्य की स्थापना करना चाहते है। विकास की इस प्रक्रिया में अंतिम पंक्ति पर खड़े व्यक्ति को हम प्रथम पंक्ति में लाना ही अंत्योदय का सिद्धांत है जिस पर हमारी सरकार काम कर रही है।
    इन सिद्धांतों का परिचय कराने के लिए भी एक सिद्धांतों की पुस्तिका हमारे पास होगी। साथ ही राज्य सरकार और केन्द्र सरकार के अच्छे कार्यों की सूची भी इसके साथ होगी। ये तीनों कार्य लेकर हम नए कार्यकर्ता के पास जाएंगे। उसको ये तीनों चीजें अध्ययन करने का आग्रह करेंगे और बातचीत के माध्यम से भी उसे समझाने का प्रयास करेंगे तथा उसका एक पूर्ण परिचय लेने का प्रयास करेंगे। जो कार्यकर्ता बन रहा है उसका पूर्ण परिचय पार्टी के पास होगा।
    10 करोड़ कार्यकर्ताओं का विवरण डीजीटाइजेशन किया जाएगा। गांव-गांव, गली-गली और घर-घर में संपर्क अभियान चले तभी जाकर इसके तार्किक लक्ष्य को प्राप्त कर सकेंगे। डीजीटल डाटा बनने से पार्टी को एक नई मजबूती मिलेगी और देश को एक नई दिशा मिलेगी। यह संपर्क अभियान एक तरह का समुद्र मंथन है, जिसके जरिए पार्टी को एक नए मुकाम तक पहुंचाना है।
    15 लाख नए-पुराने कार्यकर्ताओं को अलग कर देश का सबसे बड़ा राजनैतिक प्रशिक्षण अभियान चलाया जाएगा, जो 1 अगस्त से आरंभ होगा। और जब यह प्रक्रिया पूरी होगी और अक्टूबर में जब नया संगठन चुनाव होंगे तो उस समय तक हमारे पार्टी कार्यालय के पास 15 लाख नए और मंजे हुए कार्यकर्ताओं की सूची होगी और ये कार्यकर्ता पार्टी की नींव बनेगें और जो 10 करोड़ सदस्य हमारे साथ जुडे़ हैं वे हमारी विचारधारा की यात्रा को संपन्न करेंगे।
    श्री मोदी जी के नेतृत्व में देश नई प्रगति कर रहा है। हमारी सरकार और हमारे काम के खिलाफ भ्रांतियां फैलाने की साजिश हो रही है। हम महासंपर्क अभियान के माध्यम से इन भ्रांतियों को दूर करके रहेंगे। समाज के बीच सरकार के कार्यों के खिलाफ फैलाई जा रही भ्रांतियों का जवाब भी हमारा यह महासंपर्क अभियान होगा।
    1950 से लेकर 1914 तक पार्टी कई उतार-चढ़ाव के बाद आज इस मुकाम पर पहुंची है जिसका एकमात्र कारण संगठन और विचारधारा है। जिस प्रकार संगठन पर्व को हमने सफल बनाया है, उसी प्रकार महासंपर्क अभियान को सफल बनाना है। हम इलेक्ट्राॅनिक तरीके से बने सदस्यों की क्राॅस चैकिंग भी करेंगे।
    मैं और माननीय श्री रामलाल जी श्री मोदी जी से संपर्क कर इस महासंपर्क अभियान की शुरूआत करेंगे। इसके बाद इस अभियान को देश भर में पहुंचाएंगे। इससे संबंधित जो कार्यशाला राज्य, जिला और मंडल स्तर पर हो, वह समयबद्ध तरीके से हो इसका ध्यान रखा जाएगा और महासंपर्क अभियान को सदस्यता अभियान की तरह सफल बनाया जाएगा।
    सफल सदस्यता अभियान के लिए आप सभी कार्यकर्ताओं के माध्यम से देश के करोड़ों कार्यकर्ताओं को लाख-लाख अभिनंदन करता हूं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें