रविवार, 16 अगस्त 2015

Madhya Pradesh congress mukt : bjp clean sweep mc election 2015



मध्यप्रदेश से भाजपा के लिए अच्छी खबर, कांग्रेस को चटाई धूल !
टीम ‌डिजिटल रविवार, 16 अगस्त 2015 अमर उजाला, नई ‌दिल्‍ली

व्यापमं के आरोपों से घिरे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने आलोचकों को करारा जवाब देते हुए प्रदेश के नगर निकाय चुनावों में शानदार जीत हासिल की है। अभी तक आए परिणामों के अनुसार दस में से आठ सीट पर जीत दर्ज कर ली है जबकि बाकी पर वह आगे चल रही है। एक सीट कांग्रेस के हिस्से में आई है।
ताजा जानकारी के अनुसार पार्टी ने हरदा नगर निगम सीट जीत ली है। भाजपा उम्‍मीवार साधना सुरेन्द्र जैन ने इस सीट पर जीत दर्ज की है। इसके अलावा बेतुल जिले की भैंसदेही नगर पंचायत के 15 वार्डों में से 14 पर पार्टी ने कब्जा जमाया है।
विदिशा से भाजपा के मुकेश टंडन ने शानदार जीत हासिल की है तो उज्जैन नगर निगम पर भी भाजपा का कब्जा हो गया है। इसके अलावा अभी पार्टी कई और सीटों पर आगे चल रही है।
विरोध की राजनीति छोड़े कांग्रेसः शिवराज
वहीं निकाय चुनावों में शानदार जीत के बाद जोश से लबरेज दिख रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विपक्षियों पर हमला बोल दिया है। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि इन चुनावों से वो लोग भी सबक सीखें जिन्होंने प्रदेश को बदनाम करने की साजिश रची थी। उन्होंने दावा किया ऐसा पहली बार होने जा रहा है जब भाजपा प्रदेश की सभी 16 नगर निगम की सीटों पर जीत दर्ज करने जा रही है। कांग्रेस को अब आत्मविश्लेषण करना चाहिए कि आरोपों की राजनीति से किसी का भला नहीं होता। प्रदेश को बदनाम करने से कुछ हासिल नहीं होगा। वहीं निकाय चुनावों में जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी शिवराज सिंह को ट्वीट कर बधाई दी। उन्होंने इसके लिए मध्यप्रदेश की जनता का भी शुक्रिया अदा किया।

-----------
भोपाल: मध्यप्रदेश के निकाय चुनाव में भाजपा ने कांग्रेस से आठ सीटें छीन ली जबकि कांग्रेस एक ही सीट बचा पाई। अब राज्य के 16 नगर निगम पर भाजपा का ही कब्ज़ा है। ये ऐतिहासिक जीत मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लिए बड़ी राहत लेकर आई है जो बीत दिनों व्यापमं घोटाले की वजह से काफी दबाव झेल रहे थे।
नतीजों की घोषणा के कुछ देर बाद ही मुख्यमंत्री ने कहा 'ये इतिहास में पहली बार हुआ है कि भाजपा ने राज्य के 16 निगमों पर जीत हासिल की है। ये सफलता जनता की बदौलत हासिल हुई है, कांग्रेस को सोचना चाहिये की किसी को बदनाम करने से राजनीति में तरक्की नहीं मिलती।'
वहीं यूएई के लिए दो दिन के दौरे पर रवाना हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मध्यप्रदेश भाजपा को इस जीत के लिए बधाई दी है। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है 'मध्यप्रदेश के निकाय चुनाव के नतीजे खुश कर देने वाले हैं। भाजपा में विश्वास बनाए रखने के लिए जनता का धन्यवाद। मैं कार्यकर्ताओं और पार्टी नेताओं की मेहनत को सलाम करता हूं।'
-----------
कांग्रेस को मध्य प्रदेश से उखाड़ फेंका शिवराज सिंह और BJP ने
16th August 2015   Home, मध्य प्रदेश   No comments

madhya pradesh  congress mukt : bjp clean sweep mc election

MP News: मध्य प्रदेश में कांग्रेस के लिए एक और शर्मनाक स्थिति हो गयी है। व्यापम पर शिवराज सिंह का स्तीफा मांगने वाली कांग्रेस के हांथो से मध्य प्रदेश से सब कुछ छीनता जा रहा है। मध्य प्रदेश की जनता ने यह भी साबित कर दिया है कि वह व्यापम पर कांग्रेस के बहकावे में आने वाली नहीं है। वे किसी भी कीमत पर शिवराज सिंह चौहान का साथ छोड़ने के लिए तैयार नहीं हैं। बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने व्यापम को इतना मुद्दा बना दिया है कि उनके लिए देश की संसद तक नहीं चलने दी है।

सभी नगर निगम हुए कांग्रेस मुक्त

भारतीय जनता पार्टी ने मध्य प्रदेश की सभी 16 नगम निगम में पूर्ण बहुमत से आ गयी है और कांग्रेस को नगर निगम से भी उखाड़ फेंका है। बीजेपी ने आज नगर निगम चुनावों में क्लीन स्वीन करते हुए सब की सब 16 नगर निगम अपने कब्जे में कर लिए। सबसे आश्चर्य की बात तो यह है कि व्यापम पर शिवराज सिंह को इतना घेरने के बाद भी कांग्रेस के हाथों से 8 नगर निगम भी छिन गए।

कांग्रेस का शिवराज सिंह का इस्तीफ़ा मांगने का जबाब मध्य प्रदेश की जनता ने दे दिया है। अगर चुनाव नतीजों पर ध्यान दें तो ऐसा नहीं लगता कि मध्य प्रदेश की जनता को शिवराज सिंह चौहान से कोई गिला शिकवा है।

क्या कहा शिवराज सिंह चौहान ने

मुख्यमंत्री ने त्वीट करके कहा कि ‘इस चुनाव में भी नकारात्मक राजनीति करनेवालों को जनता ने पूरी तरह नकार दिया है। विकास के लिए प्रतिबद्ध सरकार को जनता ने पुनः अपना स्नेह दिया।’

मुख्यमंत्री ने चुनाव जीतने पर जनता का आभार प्रकट करते हुए कहा कि ‘नगरीय निकाय चुनाव में जनता से मिले अपार स्नेह, विश्वास के लिए हम अत्यंत आभारी हैं। प्रदेश विकास का रथ हम तेज़ी से आगे बढ़ाने में सफल होंगे।’

shivraj singh tween on winning mc election

प्रधानमंत्री मोदी ने भी खुशी जताई 

नगर निगम चुनाव में भारी सफलता से प्रधानमंत्री मोदी भी खुश हो गए। उन्होंने त्वीट करके कहा कि नगर निगम के चुनाव रिजल्ट से बहुत ख़ुशी हुई। मै मध्य प्रदेश की जनता को भारतीय जनता पार्टी का विश्वास करने के लिए आभार प्रकट करता हूँ साथ की कार्यकर्ताओं को भी बढाई देता हूँ।
---------
नई दिल्लीः मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की साख पर व्यापम घोटाले का असर नहीं दिखा. स्थानीय निकाय चुनाव में दस में से आठ पर बीजेपी ने बाजी मारी है. इसके साथ ही बीजेपी मुख्यालय पर समर्थकों की भारी भीड़ जमा हो गई. जीत का जश्न मनाते हुए कार्यकर्ताओं ने मुख्यालय पर पटाखे भी फोड़े.  बड़ी बात ये है कि पांच सीटें बीजेपी ने कांग्रेस से छीनी है.

इस मौके पर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीजेपी के बड़े नेताओं और सभी कार्यकर्ताओं को जीत की बदाई दी. शिवराज ने कहा, ''ये हजारों कार्यकरताओं की मेहनत का परिणाम है.'' व्यापम पर बोलते हुए शिवराज सिंह ने कहा, ''ये मध्यप्रदेश को बदनाम करने की साजिश है यहां के लोग भोले भाले हैं. मध्यप्रदेश को लेकर नकारात्मक अफवाहें फलाई जा रहीं.''

शिवराज ने इशारों इशारों में दिग्विजय सिंह पर भी निसाना साधा. शिवराज ने कहा, "पूर्व मुख्यमंत्री कहते थे कि मध्यप्रदेश मत जाना, चाय मत पीना, पता नहीं लौट कर आओगे या नहीं. इस तरह की बेकार की बातें की गईँ.''

मध्‍यप्रदेश के उज्‍जैन और मुरैना सहित 10 नगरों में आज यानी रविवार को सुबह 9 बजे से वोटों की गिनती शुरू हुई. इन चुनावों में आधे से ज्यादा सीटों पर बीजेपी शुरुआत से ही आगे रही. बीजेपी ने दस में से आठ पर जीत दर्ज की.

दस में से दो नगर निगम मुरैना और उज्जैन में बीजेपी जीती है जबकि तीन नगर पालिका में से विदिशा और हरदा पर बीजेपी को जीत मिली सिर्फ सांरगपुर नगरपालिका पर कांग्रेस जीती है. इसके अलावा पांच में से चार नगर पंचायत बीजेपी के खाते में गई है

घोटालों के आरोपों से घिरी बीजेपी के लिए ये जीत कितनी बड़ी राहत देने वाली है इसका अंदाजा आपको प्रधानमंत्री नरेंद्र के ट्वीट से लग सकता है. पीएम ने ट्विटर पर लिखा है कि 'एमपी नगरीय चुनाव के नतीजे बेहद खुश करने वाले हैं, मध्यप्रदेश की जनता का धन्यवाद जिसने बीजेपी पर अपना विश्वास दिखाया. पार्टी के नेताओं और  कार्यकर्ताओं की मेहनत को सलाम'


एबीपी न्यूज ने 14 अगस्त को जो सर्वे कराया था उसमें पीएम आज भी देश में लोकप्रियता के पैमाने पर सबसे आगे हैं.  52 फीसदी लोगों का झुकाव अब भी एनडीए की तरफ है, जबकि यूपीए काफी पीछे है, सिर्फ 17 फीसदी लोगों का रुझान है.

संसद के मानसूत्र सत्र में विरोधी घोटाले के आरोपों को लेकर सरकार को घेर रहे थे. व्यापम घोटाले के बहाने कांग्रेस शिवराज का इस्तीफा मांग रही थी. तो ललित मोदी विवाद में सुषमा और वसुंधरा को घेर रही थी. अब मध्य प्रदेश की ये जीत बीजेपी को राहत तो देगी ही बिहार चुनाव में भी पार्टी इस जीत को भुनाने की कोशिश करेगी.

मंदसौर सुवासरा नगर पंचायत अध्‍यक्ष पद पर बीजेपी प्रत्‍याशी  मगनलाल सूर्यवंशी जीते. मगनलाल सूर्यवंशी ने कांग्रेस के संदीप वर्मा को 125वोटों  से हराया. सुवासरा नगर परिषद में बोर्ड पर भी बीजेपी ने कब्‍जा जमा लिया. कुल 15 पार्षदों में से 9 बीजेपी, 5 कांग्रेस और एक निर्दलीय की जीत हुई है. रीवा की चाकघाट में नगरीय पंचायत चुनाव में बीजेपी प्रत्‍याशी मीनाक्षी गुप्‍ता ने 873 मतों से जीत दर्ज की. बीजेपी को कुल 2378 मत मिले वहीं कांग्रेस को 1518 मतों से संतोष करना पड़ा.

सतना की कोटर नगर पंचायत में बीजेपी की शांति शर्मा जीतीं. छतरपुर की घुवारा में निर्दलीय प्रत्‍याशी अरुणा राजे ने जीत दर्ज की. उन्‍होंने बीजेपी उम्‍मीदवार को 4535 मतों से हराया.

हरदा नगर पालिका अध्‍यक्ष पद पर बीजेपी की साधना जैन ने जीत दर्ज की. सारंगपुर नगर पालिका में कांग्रेस की रूपल पटेल ने जीतीं.

प्रदेश में 12 अगस्‍त को उज्जैन, मुरैना नगर निगम के अलावा विदिशा, सारंगपुर, सुवासरा, घुवारा, चाकघाट और कोटर में महापौर, अध्यक्ष और पार्षद के लिए मतदान हुआ था.

हरदा और भैंसदेही में सिर्फ अध्यक्ष पद के लिए उपचुनाव हुए थे. मुरैना के वार्ड 47 में ईवीएम में गलती की वजह से 14 अगस्‍त को पुनर्मतदान करवाया गया था. उज्‍जैन में 54 वार्डो के लिए मतदान हुआ वहीं मुरैना में 47 वार्डों के लिए मतदान हुआ था.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें