गुरुवार, 29 सितंबर 2016

आतंकी शिविरों को भारी नुकसान : लेफ्टिनेंट जनरल रणवीर सिंह



पी  एम  मोदी की अध्यक्षता में सी सी एस  की  बैठक 
भारतीय सेना ने कल रात PoK में घुसकर मारे कई आतंकी, 
पाक पीएम बोले- ये ऑपरेशन बर्दाश्त नहीं 

aajtak.in [Edited By: प्रियंका झा] नई दिल्ली, 29 सितम्बर 2016
पूंछ और उरी में हुए आतंकी हमले में जवानों की शहादत का बदला भारत ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकियों को ढेर कर के लिया है. DGMO और विदेश मंत्रालय की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह खुलासा किया गया कि भारतीय फौज ने बुधवार देर रात नियंत्रण रेखा को पार करते हुए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक किया.
डीजीएमओ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि भारतीय सेना को सटीक खबर मिली थी कि पाकिस्तान के जरिए आतंकवादी भारत में घुसपैठ के लिए तैयार हैं. भारतीय सेना ने पाकिस्तान की सरजमीं में अपने सबसे बेहतरीन कमांडो भेजे थे. सूत्रों के मुताबिक भारतीय सेना ने पहली बार इस तरह के ऑपरेशन में वायुसेना की मदद नहीं ली है और भारतीय सैनिक बिना किसी खरोंच के वापस लौटे हैं.

भारत ने नाकाम की घुसपैठ की कोशिशें
डीजीएमओ ने यह बताया कि इस साल पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की 20 कोशिशें नाकाम की गई हैं. उरी और पूंछ में हुए आतंकी हमलों में पाकिस्तानी हाथ होने के कई सबूत हैं. इन हमलों में मारे गए आतंकवादियों के पास से कई ऐसे सामान मिले हैं जिनके पाकिस्तान का चिह्न बना हुआ है. इतना ही नहीं भारत ने कई बार पाकिस्तान को सबूत सौंपे हैं लेकिन कोई असर नहीं हुआ है.

आतंकियों ने कबूला PAK कनेक्शन
प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि उरी और पूंछ हमले में मारे गए आतंकियों के डीएनए सैंपल से पता लगा है कि वे पाकिस्तानी हैं. भारत ये सैंपल पाकिस्तान को देने के लिए भी तैयार है. आतंकियों ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग मिलने की बात भी कबूल ली है. यह भी घोषणा की गई है कि भारतीय सेना किसी भी हालात के लिए तैयार है.


राष्ट्रपति, विपक्ष को दी गई जानकारी
खबरों के मुताबिक भारतीय सेना ने राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल और मुख्यमंत्री को भी सर्जिकल स्ट्राइक की पूरी जानकारी दी है.

नवाज शरीफ ने निंदा की
पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकियों को मार गिराने के कदम की नवाज शरीफ ने निंदा की है. PAK मीडिया के मुताबिक पीएम नवाज शरीफ ने कहा 'हम इस हमले की निंदा करते हैं, शांति के लिए हम जो प्रयास कर रहे हैं, उसे हमारी कमजोरी न समझा जाए.'
--------------


पाकिस्तान के खिलाफ भारत का बड़ा एक्शन, LoC पार भारतीय सेना ने किया सर्जिकल स्ट्राइक, कई आतंकी मारे गए
Last Updated: Thursday, September 29, 2016 
( एजेंसी इनपुट के साथ )
ज़ी मीडिया ब्‍यूरो 

नई दिल्ली: नई दिल्ली: भारत ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार स्थित आतंकी शिविरों पर सर्जिकल हमले किए जिनमें आतंकवादियों को भारी नुकसान पहुंचा है और अनेक आतंकवादी मारे गए हैं । सेना द्वारा आतंकवादियों को निशाना बनाने के लिए अचानक की गई इस कार्रवाई के बारे में घोषणा सैन्य अभियान महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल रणवीर सिंह ने आनन-फानन में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में की। संवाददाता सम्मेलन में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप भी मौजूद थे ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्जिकल हमलों के बारे में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को सूचित किया । जम्मू कश्मीर के राज्यपाल और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को भी सूचना दी गयी।

जनरल सिंह ने कहा कि भारत ने सर्जिकल हमलों के बारे में जानकारी पाकिस्तानी सेना के साथ साझा की। कार्रवाई इस ‘अत्यंत विशिष्ट सूचना’ के बाद की गई कि आतंकवादी नियंत्रण रेखा के पास डेरा डाल रहे हैं । सर्जिकल हमलों की अवधि या यह किस समय किए गए और किस स्थान पर किए गए , इस बारे में जानकारी तत्काल साझा नहीं की गई है । सिंह ने कहा,‘‘भारतीय सेना ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार आतंकी लांच पैडों पर सर्जिकल हमले किए ।’ उन्होंने यह भी कहा कि भारत किसी भी तरह की स्थिति के लिए तैयार है । जनरल सिंह ने कहा कि आतंकी शिविरों को भारी नुकसान पहुंचा है और अनेक आतंकी मारे गए हैं । फिलहाल आगे और अभियान चलाने की योजना नहीं है ।

सूत्रों ने बताया कि सर्जिकल हमलों में कम से कम दो आतंकी शिविरों पर हमला किया गया । जनरल सिंह ने कहा, ‘हम नियंत्रण रेखा के पार आतंकवादियों को सक्रिय रहने की अनुमति नहीं दे सकते।’ उन्होंने कहा कि आतंकवादियों को मार गिराने के लिए चलाया गया अभियान समाप्त हो गया है तथा ‘फिलहाल आगे किसी और अभियान की योजना नहीं है’ लेकिन साथ में यह भी कहा कि सशस्त्र बल आतंकवादियों को जम्मू कश्मीर या भारत के किसी भी बड़े शहर पर कोई हमला करने की अनुमति नहीं दे सकते । सिंह ने कहा कि हमले ‘अत्यंत विशिष्ट और विश्वसनीय’ खुफिया सूचना मिलने के बाद किए गए कि आतंकवादियों को जम्मू कश्मीर और भारत के कुछ बड़े शहरों में हमले करने के लिए घुसपैठ कराई जा रही है ।

डीजीएमओ ने प्रेस कॉन्प्रेंस में कहा कि इस साल पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की 20 कोशिशें नाकाम की गई हैं। उरी और पूंछ में हुए आतंकी हमलों में पाकिस्तानी हाथ होने के कई सबूत हैं। इन हमलों में मारे गए आतंकवादियों के पास से कई ऐसे सामान मिले हैं जिनके पाकिस्तान का चिह्न बना हुआ है। भारत ने कई बार पाकिस्तान को सबूत सौंपे हैं लेकिन कोई असर नहीं हुआ है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि उरी और पूंछ हमले में मारे गए आतंकियों के डीएनए सैंपल से पता लगा है कि वे पाकिस्तानी हैं। भारत ये सैंपल पाकिस्तान को देने के लिए भी तैयार है। आतंकियों ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग मिलने की बात भी कबूल ली है।

-----------------

सर्जिकल ऑपरेशन से गरमाए नवाज शरीफ,
कहा -हमारी शांति की इच्छा को कमजोरी न समझा जाए
नई दिल्ली: भारतीय सेना द्वारा LOC पर पर आतंकी गुटों के लॉन्च पैड पर सर्जिकल ऑपरेशन करने पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि हम इस हमले की निंदा करते हैं, शांति की हमारी इच्छा को हमारी कमज़ोरी न समझा जाए. हम अपने देश की रक्षा करने को तैयार हैं. पाक मीडिया के हवाले से यह जानकारी एएनआई ने दी.

एएनआई के मुताबिक नवाज शरीफ ने कहा, “मैं भारतीय सेना के अकारण और खुलेआम आक्रामक रवैये की निंदा करता हूं, जिसमें एलओसी पर पाकिस्तान के दो जवान शहीद हो गए.”

गौरतलब है कि विदेश और रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को जम्मू एवं कश्मीर में पाकिस्तान की ओर से किए जा रहे संघर्षविराम उल्लंघन को लेकर संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने बताया, सेना ने सीमा पार से ज्यादातर घुसपैठ नाकाम की. उन्होंने कहा, कल रात (बुधवार रात) हमने एलओसी पर आतंकी गुटों के लॉन्च पैड पर सर्जिकल ऑपरेशन किया. उन्होंने कहा कि लगातार हो रही घुसपैठ चिंता का विषय है.

सर्जिकल हमले में हमने कई आतंकियों को मार गिराया. हमले से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल और सीएम महबूबा मुफ्ती को भी इस बाबत जानकारी दी गई थी.
source : ndtv

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें