शुक्रवार, 28 अक्तूबर 2016

एक के बदले दागे 10 मोर्टार दागे : बीएसएफ



हमारा पड़ोसी प्रॉक्सी वॉर लड़ रहा है,
असली वीर वे होते हैं जो सीने का बटन खोलकर आंख में आंख डालकर लड़ते हैं: राजनाथ
dainikbhaskar.com | Oct 28, 2016
http://www.bhaskar.com
नोएडा.राजनाथ सिंह ने कहा है, 'पाकिस्तान प्रॉक्सी वॉर छेड़े हुए है। असली वीर वो होते हैं जो सीने का बटन खोलकर आंख में आंख डालकर लड़ते हैं।' राजनाथ नोएडा में इंडो-तिब्‍बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) की रेजिंग डे परेड के प्रोग्राम में शामिल हुए थे। बता दें कि गुरुवार शाम से रातभर एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से काफी गोलाबारी की गई। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाक 57 बार सीजफायर वॉयलेशन कर चुका है। आईटीबीपी के होते हुए दुनिया का कोई भी देश अटैक करने का नहीं सोच सकता...
- राजनाथ सिंह ने आगे कहा, 'हमारा पड़ोसी देश आतंकवाद का सहारा ले रहा है, प्रॉक्‍सी वॉर कर रहा है।'
- उन्होंने कहा, 'आईटीबीपी के होते हुए कोई देश हमारे देश पर अटैक करने के बारे में सोच भी नहीं सकता।'
- 'लेकिन असली वीर वो नहीं होते, जो प्रॉक्‍सी वॉर करते हैं। असली वीर वो हैं, जो सीने का बटन खोलकर आंख में आंख डालकर लड़ते हैं।'
- 'आईटीबीपी की वजह से सीमा उल्‍लंघन में 7% की कमी आई है।'
राजनाथ बोले थे- करारा जवाब दो
- 27 अक्टूबर की रात एलओसी पर पाक की तरफ से जमकर गोलीबारी हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजनाथ ने बीएसएफ के डीजी से बात की थी और पाक को करारा जवाब देने को कहा था।
- शुक्रवार सुबह डिफेंस पीआरओ मनीष मेहता ने कहा, 'गुरुवार रात से शुक्रवार सुबह तक की तरफ से भारी हथियारों से गोलीबारी हुई। हमने भी उन्हें करारा जवाब दिया। हमारी तरफ से किसी जान-माल का नुकसान नहीं हुआ। शुक्रवार सुबह पाक की तरफ से फिर सीजफायर वॉयलेशन किया गया।'
किन चौकियों को बनाया निशाना
- LoC की तंगधार, मेंढर, आरएस पुरा, अरनिया, अखनूर और सांबा में भारतीय चौकियों को बनाया निशाना बनाकर गोलीबारी की।
BSF को ऑर्डर, एक मोर्टार के बदले दागे 10 मोर्टार
- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीएसएफ से कहा गया है कि पाकिस्तान से हो रही फायरिंग का 10 गुना ताकत से जवाब दिया जाए। पाक की तरफ से एक मोर्टार आने पर बदले में 10 मोर्टार दागे जाएं।
- एलओसी पार पाकिस्तान के कब्जे वाले गांवों में कई एम्बुलेंस देखी गई। बीएसएफ की जवाबी कार्रवाई में कई मकानों में आग लगने की खबर।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें