बुधवार, 26 अक्तूबर 2016

देश ने 29 सितंबर को ही मना ली दिवाली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी




देश ने 29 सितंबर को ही मना ली दिवाली: PM नरेंद्र मोदी

By: एबीपी न्यूज़/एजेंसी | Last Updated: Tuesday, 25 October 2016
http://abpnews.abplive.in
वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को आठ बड़ी योजनाएं देने के बाद कहा कि कई बरस बाद हम लोग सेना को अहसास करा सके कि पूरा देश आपके साथ है. उन्होंने कहा कि उसी दौरान टीवी में देखा, अखबारों में पढ़ा, टेलीफोन आए बनारस से कि 29 सितंबर को हम काशीवासियों ने छोटी दीपावली मना ली. दरअसल सर्जिकल स्ट्राइक पर 29 सितंबर को गंगा आरती सेना को समर्पित थी.

सालों बाद लगा, सेना के साथ पूरा देश खड़ा है: प्रधानमंत्री
इस दौरान रैैली को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कई सालों के बाद ऐसा लगा कि सेना के साथ पूरा देश खड़ा है. मोदी ने कहा, “अब हम बड़ी दीपावली मनाएंगे, मगर यह तभी होता है कि जब सीमा पर किसी मां का लाल हमारे त्योहार के लिए अपने को खपा देता है. मैं आह्वान करता हूं कि अपनों की ही तरह सेना के जवानों को, सुरक्षा बलों को दीपावली पर शुभकामना संदेश भेजें.”

दीपावली पर सुरक्षा बलों को बधाई दें: मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को लोगों से दीपावली पर सेना और सुरक्षा बलों के जवानों को बधाई एवं शुभकामना संदेश भेजने का अनुरोध किया. उन्होंने कहा कि इन संदेशों से जवानों का मनोबल ऊंचा होगा. महोबा में एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, “मैं लोगों से अनुरोध करता हूं कि वे हमारे जवानों, सेना, वायु सेना, नौसेना और सभी सुरक्षा बलों का मनोबल बढ़ाने के लिए दीपावली पर उन्हें शुभकामना संदेश भेजें.”

मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को करोड़ों रुपये की योजनाओं का तोहफा दिया. उन्होंने पांच बेटियों को सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ दिया और ऊर्जा गंगा परियोजना के अंतर्गत पीएनजी सिटी गैस परियोजना और गैस आधारित बिजली उपकेंद्र का भी शिलान्यास किया.

घर-घर पाइप लाइन से रसोई गैस
प्रधानमंत्री ने गंगा किनारे बसे शहर बनारस में ऊर्जा गंगा परियोजना (घर-घर पाइप लाइन से रसोई गैस) का बटन दबाकर शुभारंभ किया. पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेद्र प्रधान भी उनके साथ थे. प्रधानमंत्री ने सुकन्या धन योजना के लाभार्थियों को चेक दिया. पहली लाभार्थी परिणीति (चंदौली), दूसरी अनुष्का (वाराणसी), फिर सारिया (वाराणसी) और आराध्या यादव को चेक प्रदान किया. इसके बाद 5 महिलाओं को उज्ज्वला योजना से लाभान्वित किया.

प्रधानमंत्री ने वाराणसी में सोमवार को सिटी गैस परियोजना का शिलान्यास भी किया और कहा कि इसका लाभ 12 लाख उपभोक्ताओं को मिलेगा. साथ ही उन्होंने डीरेका विस्तारीकरण योजना का लोकार्पण भी किया. इसके तहत मॉडर्न मशीनरी से रेल इंजन बनेंगे. इसके साथ ही वाराणसी-इलाहाबाद रेल मार्ग दोहरीकरण का शिलान्यास भी किया.


मोदी का यह आठवां दौरा
प्रधानमंत्री मोदी महोबा से सेना के विशेष हेलीकॉप्टर द्वारा वाराणसी के डीजल रेल कारखाना (डीरेका) मैदान पर उतारे, जहां उनकी अगवानी राज्यपाल राम नाईक ने की. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री प्रधान के अलावा रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा और अनुप्रिया पटेल समेत कई केंद्रीय मंत्री और सांसद मौजूद थे. प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी का यह अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र का आठवां दौरा है.

इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री के आगमन के पूर्व बीजेपी के कार्यकर्ता शूलटंकेश्वर, रोहनिया, सेवापुरी, राजा तालाब, शिवपुर मंडल से जुलूस निकालकर कार्यकर्ता सभा स्थल पर पहुंचे. सभा स्थल पर सांसद और भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता मनोज तिवारी ने सभा स्थल पर अपने गीतों से समां बांधा और केंद्र सरकार की योजनाओं का बखान किया.

सबको रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराएगी सरकार: मोदी
सार्वजनिक परियोजनाओं को समयबद्ध तरीके से एवं निर्दिष्ट बजट में पूरा करने पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार अगले तीन सालों में सबको रसोई गैस का कनेक्शन देने के लिए कृतसंकल्प है. सात सार्वजनिक परियोजनाओं की शुरुआत करने के बाद यहां एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, “सार्वजनिक योजनाओं का क्रियान्वयन तथा शुरुआत समय पर होनी चाहिए. इसमें किसी भी प्रकार का विलंब नहीं होना चाहिए और मेरी सरकार यही कर रही है.” उन्होंने कहा, “हम सुनिश्चित करेंगे कि अगले तीन वर्षो के भीतर हर परिवार को रसोई गैस का कनेक्शन मिले.”

मोदी ने कहा कि सार्वजनिक परियोजनाओं व योजनाओं का मतलब केवल समाचार पत्रों में विज्ञापन जारी कर देना ही नहीं है, बल्कि लोगों के जीवन में सुधार करने में मदद के लिए इसका सही तरीके से क्रियान्वयन किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, “आधारशिला रखकर हम अपने काम की इतिश्री नहीं समझते, बल्कि हम यह सुनिश्चित करते हैं कि परियोजाएं पूरी भी हों.”

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें