गुरुवार, 6 अक्तूबर 2016

पाकिस्तान में इन दिनों आंतरिक भय व्याप्त - अरविन्द सिसोदिया



  पाकिस्तान में इन दिनों आंतरिक भय व्याप्त हे , क्योंकि भारत से युद्ध हुआ तो पता नहीं क्या हो ! क्योंकि पाकिस्तानी की जनता खुश नही हे, वह पाकिस्तानी सरकार के खिलाफ हे ! सरकारी कर्मचारी जनता को दुःख देते हैं । बेरोजगारी और भुखमरी वहां की बडी समस्या है। उसे डर है कहीं प्रान्तों में विद्रोह न हो जाये !! वह भारत से युद्ध से कहीं ज्यादा आंतरिक विद्रोह को लेकर परेशांन है ! बलूचिस्तान की समस्या कम नहीं है , सिंध की समस्या भी बड़ी हे , एक बार विद्रोह भडका तो न पाकिस्तानी सरकार के काबू में आयेगा न सेना के ।। पहले भी पूर्वी पाकिस्तान के विद्रोह के कारण पाकिस्तान के टुकड़े हुए और बंगलादेश बना ! फिर युद्ध हुआ तो बलूच हाथ से निकलना तय हे । हलांकी युद्ध हुआ तो चीन बहुत अधिक सहायता पाक की नहीं कर सकता क्यों कि चीन के आते ही विश्व युद्ध छिड़ जायेगा , पूरे विश्व के बम चीन पर गिरेंगे। यह चीन भी जानता है। किन्तु भारत को युद्ध के लिए तैयार रहना होगा ।
- अरविन्द सिसोदिया , कोटा , राजस्थान  9509559131





                            पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नासिर जंजुआ 


http://aajtak.intoday.in


पाकिस्तान: सरकार ने सेना से कहा- आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करो या अलग-थलग होने के लिए तैयार रहो


 aajtak.in [Edited By: रोहित गुप्ता] नई दिल्ली, 6 अक्टूबर 2016

आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय दबाव इतना बढ़ गया है कि नवाज शरीफ सरकार ने अपनी सेना को दो टूक कह दिया है, 'आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करो या फिर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग-थलग होने के लिए तैयार रहो.

पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक, इसी को लेकर सोमवार को एक मीटिंग हुई, जिसमें दो मुद्दों पर सहमति बनी. पहला तो ये कि आईएसआई के डीजी जनरल रिजवान अख्तर और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नासिर जंजुआ सभी चार प्रांतों में प्रॉविनेंस एपेक्स कमेटियों और आईएसआई सेक्टर कमांडरों के लिए संदेश लेकर जाएंगे.

आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई में दखल न देने का निर्देश
आईएसआई को ये मैसेज दिया जाएगा कि अगर कानूनी एजेंसियां आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करेंगी तो सेना की इंटेलीजेंस एजेंसियां इसमें कोई दखल नहीं देंगी. जनरल अख्तर इसी संदेश को लेकर लाहौर पहुंच चुके हैं और इसके बाद वे दूसरे प्रांतों में जाएंगे.

पठानकोट हमले की जांच पूरी करने की कोशिश करेगा पाक
दूसरे फैसले के तहत प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने ये निर्देश दिया कि पठानकोट मामले की जांच पूरी करने के लिए फिर से प्रयास किया जाएगा और रावलपिंडी एंटी-टेररिज्म कोर्ट में मुंबई हमले से जुड़े सभी ट्रायल को दोबारा शुरू कराया जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें