शुक्रवार, 28 अक्तूबर 2016

मसूद अजहर आतंकी : पूर्व राष्ट्रपति जनरल मुशर्रफ



पाकिस्तान सरकार भले ही जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को आतंकी मानने में हिचकिचा रही हो, लेकिन उसके पूर्व राष्ट्रपति परवेश मुशर्रफ इस सच्चाई को स्वीकार करते हैं।

पूर्व राष्ट्रपति जनरल मुशर्रफ ने उगला सच, बोले- मसूद अजहर आतंकी है
Publish Date:Fri, 28 Oct 2016

नई दिल्ली, प्रेट्र : पाकिस्तान सरकार भले ही जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को आतंकी मानने में हिचकिचा रही हो, लेकिन उसके पूर्व राष्ट्रपति परवेश मुशर्रफ इस सच्चाई को स्वीकार करते हैं। उनकी नजर में मसूद अजहर एक आतंकवादी है और पाकिस्तान में होने वाले बम धमाकों के लिए जिम्मेदार है।

हालांकि गुरुवार को एक समाचार चैनल से बातचीत के दौरान उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि पाकिस्तान आखिरकार चीन से मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के लिए क्यों नहीं कह रहा है? चीन ने हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में उस प्रस्ताव का विरोध किया था, जिसमें भारत ने मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने की मांग की है।

मुशर्रफ ने कहा, 'इसमें चीन को क्यों शामिल होना चाहिए, जबकि इसका उससे कोई लेना-देना नहीं है।'

वैश्विक मंच पर पाकिस्तान के अलग-थलग पड़ने के लिए मुशर्रफ ने नवाज शरीफ को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, पाकिस्तान एक मजबूत देश है। उसे भारत की तरह देखा जाना चाहिए। भारत को 'बड़े भाई' की तरह बर्ताव करने से बचना चाहिए।

पाकिस्तान के लिए निर्वाचित सरकार और सेना के विकल्प पूछने पर मुशर्रफ ने सैन्य शासन का समर्थन किया। उन्होंने कहा, सेना के शासनकाल में पाकिस्तान की अधिक तरक्की हुई। नई दिल्ली में पाकिस्तानी जासूस की गिरफ्तारी पर वह बोले, 'मुझे इस बारे में विशेष जानकारी नहीं है, लेकिन अगर ऐसा है तो इसे बढ़ावा नहीं दिया जाना चाहिए।'

गुलाम कश्मीर में आतंकी शिविरों के बारे उन्होंने अनभिज्ञता जाहिर की। कहा, 'मुझे नहीं पता।' फिर कुटिल मुस्कान के साथ कहा, 'जब मैं इनकी गिनती कर लूंगा, तब सही जवाब दे पाऊंगा।'

बलूचिस्तान, सिंध और गुलाम कश्मीर में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बारे में पूछने पर उन्होंने कश्मीर और बुरहान वानी का जिक्र कर मुद्दे को भटकाने की कोशिश की।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें